चेहरे और सरकारें बदलीं, गांवों की सूरत नहीं

राष्ट्रीय पंचायत राज संगठन के सम्मेलन में लोकदल के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुनील सिंह बोले।

JagranThu, 25 Nov 2021 12:59 AM (IST)
चेहरे और सरकारें बदलीं, गांवों की सूरत नहीं

जासं, हाथरस : राष्ट्रीय पंचायती राज संगठन की ओर से आयोजित पंचायत प्रतिनिधियों के सम्मेलन में पंचायतों के अधिकार की आवाज दमदारी से दोहराई गई। पूर्व की बसपा व सपा के अलावा मौजूदा केंद्र व प्रदेश की भाजपा सरकारों पर जमकर निशाना साधा गया। कहा गया कि भाजपा व सपा एक ही सिक्के के दो पहलू हैं। सम्मेलन में 2022 के विधानपरिषद के चुनाव पर चर्चा के साथ विधानसभा चुनाव पर भी मंथन किया गया। सम्मेलन में आए राष्ट्रीय पंचायत राज संगठन व लोकदल के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुनील सिंह ने आजादी के अमृत महोत्सव का जिक्र करते हुए कहा कि आजादी के 75 साल में चेहरे बदले, सरकारें बदलीं, मगर गावों की सूरत नहीं बदली, क्योंकि कोई भी सरकार पंचायतों को उनके पूर्ण अधिकार सौपना नहीं चाहती। लोकदल किसानों को चुनाव लड़ाएगी।

बुधवार को अलीगढ़ रोड स्थित नवग्रह मंदिर में आयोजित सम्मेलन में चौधरी सुनील सिंह ने कहा कि पंचायत राज व्यवस्था पर आज लालफीताशाही सवार है। नौकरशाह पंचायतों के अधिकारों का अतिक्रमण करते हुये 29 विभागों के अधिकार पंचायतों को नहीं सौप पाए। गांव व अन्नदाता किसान का विकास होता और आय बढ़ती तो उन्हें सिघु बार्डर पर धरना नहीं देना पड़ता। केंद्र सरकार की ओर से किसानों के लिए सम्मान निधि को अपमान निधि बताते हुए कहा कि किसान को अधिकार चाहिए, खैरात नहीं। विधान परिषद में पंचायत प्रतिनिधियों द्वारा चुने जाने वाले 36 सदस्य भाजपा, बसपा, सपा व कांग्रेस व अन्य पार्टी में बंधकर रह जाते हैं। आप नव निर्वाचित पंचायत प्रतिनिधि किसी पार्टी के एहसान से नहीं, बल्कि अपनी काबिलियत पर चुने जाते हैं। समय आने पर सही व्यक्ति को चुनकर अपना प्रतिनिधित्व बनाएं ताकि वह आपके हितों की लडाई लड़ सके।

सरकार से मांग की कि सभी प्रधान, बीडीसी सदस्य व जिला पंचायत सदस्यों को भी प्रति माह मानदेय व भत्ते विधायक व सांसदों की तर्ज पर दिए जाएं, नहीं तो सभी के भत्ते बंद कर दिए जाएं। अगर विधायक व सांसद के मानदेय व भत्ते सरकार बंद कर दे तो प्रधान व बीडीसी को भी कोई भत्ता नहीं चाहिए, परंतु अगर देश व प्रदेश की सरकार विधायक व सांसद को भत्तों के नाम पर जनता का पैसा बांट रही है तो उसी अनुपात में सभी पंचायत प्रतिनिधियों को भी भत्ता मिलना चाहिए।

हरियाणा पंचायत राज संगठन के अध्यक्ष प्रदीप हुड्डा ने कहा कि आजादी के 75 साल बाद गांवों के विकास, रोजगार, स्वास्थ्य सेवाओं और बेहतर शिक्षा की मांग पूरी नहीं हो पा रही है। सम्मेलन की अध्यक्षता चौधरी सत्यवीर सिंह ने व संचालन धर्मवीर सिंह ने किया। इस मौके पर सादाबाद ब्लाक प्रमुख प्रतिनिधि यथार्थ चौधरी, पूर्व प्रधान धर्मवीर सिंह, देवानंद, मोहम्मद नावेद जिला अध्यक्ष लोकदल, भागीरथ युवा जिला अध्यक्ष लोकदल, लोकदल के पश्चिमी उत्तर प्रदेश प्रभारी संदीप तोमर मौजूद रहे। समान विचारधारा वाले दलों से गठबंधन करेंगे : सुनील सिंह

जासं, हाथरस : लोकदल के राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी सुनील सिंह ने कहा कि विधानसभा चुनाव में समान विचारधारा वाले दलों से गठबंधन करेंगे। विधानसभा चुनाव में 403 सीटों पर चुनाव लड़ेंगे। लोकदल के अस्तित्व के सवाल पर कहा कि सपा, जेडीयू, राजद व इनेलो सहित अन्य पार्टियां इसी से निकले हैं जो कि कबीलाई पार्टी बनकर रह गए हैं। लोकदल रोजगार के लिए गांव से हो रहे पलायन को रोकने के लिए कुटीर उद्योग स्थापित करेगी। 24 घंटे के अंदर पंचायतों को उनके अधिकार दिलाए जाएंगे।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.