दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

ईयरफोन ने छीन ली जिंदगी, नहीं सुन सका ट्रेन का होर्न

ईयरफोन ने छीन ली जिंदगी, नहीं सुन सका ट्रेन का होर्न

तालाब रेलवे क्रासिग के निकट मंगलवार दोपहर को एक्सप्रेस ट्रेन की चपेट में आ गया।

JagranTue, 23 Mar 2021 11:52 PM (IST)

संवाद सहयोगी,हाथरस: तालाब रेलवे क्रासिग के निकट मंगलवार दोपहर को एक्सप्रेस ट्रेन की चपेट में आकर एक छात्र की मौत हो गई। छात्र कोतवाली हाथरस गेट क्षेत्र के सियाराम कालोनी का रहने वाला था। छात्र रेलवे ट्रैक के सहारे होकर घर लौट रहा था। ईयर फोन लगा होने के कारण वह ट्रेन की आवाज नहीं सुन सका। इकलौते पुत्र की हादसे में मौत हो जाने से परिवार में कोहराम मच गया।

रमनपुर स्थित सियाराम कालोनी निवासी 19 वर्षीय रोहित पुत्र वीरपाल बागला डिग्री कालेज में बीकाम द्वितीय वर्ष का छात्र था। मंगलवार सुबह करीब दस बजे वो अपने साथी के साथ कोचिग पढ़ने के लिए बागला मार्ग स्थित सेंटर पर गया। बताते हैं कि कोचिग पढ़ने के बाद वो घर लौट आया, लेकिन नाश्ता करने के लिए वो घर से बाजार की तरफ आ गया। दोपहर के वक्त वह रेलवे ट्रैक के सहारे होकर गुजर रहा था। तभी कासगंज की ओर से आती भागलपुर-गांधीधाम एक्सप्रेस ट्रेन की चपेट में आ गया। मौके पर ही उसकी मौत हो गई। सूचना पर स्वजन के अलावा हाथरस सिटी स्टेशन से जीआरपी थाने का पुलिस बल मौके पर पहुंच गया।

13 मार्च को मनाया था जन्मदिन

रोहित परिवार का इकलौता पुत्र था, इसलिए परिवार में सबका चहेता था। 13 मार्च को रोहित का जन्मदिन परिवार के लोगों ने मनाकर खुशी जाहिर की थी। पोस्टमार्टम हाउस पर जन्मदिन के फोटो को मोबाइल पर देखकर रोहित के साथियों के आंसू निकल आए।

ईयर फोन न होता तो बच जाती जान

मृतक के कान में ईयर फोन लगा हुआ था। प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि जिस वजह से छात्र को ट्रेन का हार्न सुनाई नहीं दिया। ट्रैक के निकट चलते समय कासगंज की ओर से आती ट्रेन ने हार्न दिया था। काश, छात्र के कानों में ईयर फोन न लगा होता उसकी जान बच सकती थी।

मां और बहन गई थीं वृंदावन

मृतक के पिता वीरपाल सुबह किसी काम से निकल गए। तो वहीं मां सुमन और बहन रूचि कुछ रिश्तेदारों के साथ वृंदावन के लिए सुबह ही निकल गए थे। हादसे में बेटे की मौत हो जाने की जानकारी लगते ही मां अपनी बेटी को लेकर पोस्टमार्टम हाउस पर पहुंची। बेटे की एक झलक देखने के लिए मां और बहन रोती बिलखती रहीं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.