सपने स्मार्ट शहर के, गलियों में कूड़े के ढेर

कूड़ा संग्रह केंद्रों पर भी ढंग से नहीं होती सफाई जलभराव के चलते कूड़े से चोक हो रहीं नालियां।

JagranFri, 17 Sep 2021 03:16 AM (IST)
सपने स्मार्ट शहर के, गलियों में कूड़े के ढेर

संवाद सहयोगी, हाथरस : स्मार्ट बनने के सपने देख रहे शहर के बीचोंबीच सरक्यूलर रोड से जुड़ी गलियों में गंदगी के ढेर हैं। यह कूड़ा नालियों में जाकर उन्हें चोक कर देता है। सरक्यूलर रोड स्थित गली तबेला में कई जगह लगे कूड़े के ढेर सफाई व्यवस्था के हालात बयां कर रहे हैं। डेंगू और बुखार के प्रकोप के कारण लोगों को गंदगी से बीमारी का डर बना हुआ है।

दैनिक जागरण की टीम ने गुरुवार को शहर में सफाई व्यवस्था की पड़ताल की। दोपहर करीब 12 बजे सरक्यूलर रोड स्थित गली तबेला में प्रवेश करते ही कुछ पालतू पशु सड़क किनारे बंधे हुए दिखे। उनका गोबर सड़क पर दूर तक बिखरा गंदगी फैला रहा था। वहीं थोड़ा आगे चलने पर इसी गली में मालिन गली के पास कई जगह गंदगी थी। वहीं कूड़ा संग्रह स्थल पर कूड़े के ढेर जमा हो रहे थे। इससे यहां रास्ता निकलना भी मुश्किल हो जाता है। बंद रहते हैं घर के दरवाजे

इन गलियों में गंदगी के ढेर लगे रहते हैं। कूड़े को बेसहारा व पालतू जानवर इधर-उधर बिखेर देते हैं। यही कूड़ा नालियों को चोक कर जलभराव का कारण बनता है। इससे बचने के लिए स्थानीय लोग अपने घरों के दरवाजे बंद करके रखते हैं। ताकि बदबू से बचे रहें। खराब पड़े हैं हैंडपंप

बाजार से सटे इन इलाकों में पेयजल की व्यवस्था भी खराब है। यहां लगे हैंडपंप खराब पड़े हुए हैं। सुविधा के लिए लगी टंकियों से टोंटियां गायब हैं। पानी कभी भी यहां समय पर नहीं मिलता। लोगों को पानी के लिए स्वयं के साधनों पर निर्भर रहना पड़ता है। कोई सुविधा नहीं होने से लोग परेशान हैं। इनका कहना है

गली में गंदगी की समस्या विकराल है। नियमित सफाई नहीं होने से कूड़े के ढेर लगे रहते हैं। सफाई कर्मी भी चलताऊ सफाई कर चले जाते हैं।

- पूजा, स्थानीय निवासी कूड़ा पड़े रहने से यहां चारों ओर गंदगी का साम्राज्य रहता है। बेसहारा पशु कूड़े को चारों ओर बिखेर देते हैं। इससे रास्ता निकलना भी मुश्किल हो जाता है।

- तुलसी, छात्रा शहर में सफाई व्यवस्था कहीं भी ठीक नहीं है। बारिश के दिनों में यहां जलभराव के चलते काफी दिक्कतें होती हैं। विभाग अनदेखी कर रहा है।

- संदीप, स्थानीय निवासी क्षेत्र में पेयजल की कोई व्यवस्था नहीं है। हैंडपंप खराब पड़े हुए हैं। अधिकारी तो आदेश देते हैं पर कर्मचारियों की अनदेखी लोगों पर भारी पड़ रही है।

देवेंद्र कुमार, दुकानदार

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.