बिजली न आने पर महिलाओं के साथ प्रदर्शन

सासनी में हाईवे पर पेड़ टूट कर गिरा कई स्थानों पर तार टूटे दिन भर विद्युत कर्मचारी लाइनों को सही करने में लगे रहे।

JagranThu, 17 Jun 2021 05:38 AM (IST)
बिजली न आने पर महिलाओं के साथ प्रदर्शन

जासं, हाथरस : मंगलवार की शाम आई आंधी और बारिश से बिजली व्यवस्था अभी पटरी पर नहीं लौटी है। लोग प्रदर्शन करने पर मजबूर हो रहे है। शहर में बिजली न आने पर लोगों ने प्रगतिपुरम सब स्टेशन पर प्रदर्शन किया। वहीं देहात क्षेत्र में पेड़ टूट कर गिरने और तार व पोल टूटने से कई गांवों की बिजली आपूर्ति बाधित रही। लोगों को रात भर अंधेरे में रहना पड़ा। दिन भर कर्मचारी लाइनों को सही करने में लगे रहे। सासनी में हाईवे पर पेड़ टूटने से राहगीर बच गए। इसके अलावा कई स्थानों पर आवागमन भी बाधित हुआ है।

आंधी और बारिश के कारण प्रगतिपुरम सब स्टेशन से जु़ड़े इलाकों में बिजली के तीन खंभे टूट गए हैं। इसके कारण वहां मंगलवार की रात से बिजली नहीं आ रही है। बुधवार को दिन में बिजली नहीं आई तो महिला और पुरुष प्रगतिपुरम सब स्टेशन पर पहुंच गए। उन्होंने बिजली आपूर्ति बहाल करने की मांग की। स्थानीय अधिकारियों के समझाने पर लोग शांत हुए। देर शाम तक लाइनों को सही करने का काम चलता रहा। इसी से औद्योगिक आस्थान को बिजली दी जाती है। वहां भी आपूर्ति बाधित रही। देहात क्षेत्र में सिकंदराराऊ, हसायन, मुरसान, चंदपा व अन्य स्थानों पर भी लाइनों पर असर पड़ा है। एसई पवन अग्रवाल ने बताया कि आंधी और बारिश में पोल व तार टूटने से बिजली विभाग का लाखों रुपये का नुकसान हुआ है। बिजली आपूर्ति सुचारु करने का काम लगातार चल रहा है। सासनी में हाईवे पर पेड़ गिरने से राहगीर बचे, यातायात बाधित

सासनी : मंगलवार की शाम आंधी और बरसात के कारण कई जगह पेड़ उखड़ गए। कोतवाली के निकट पेड़ गिरने से कई राहगीर बाल-बाल बचे। दूसरा पेड़ टूटकर कस्बा के मोहल्ला अजीतनगर में विद्युत लाइन पर गिर पड़ा, जिससे विद्युत लाइन क्षतिग्रस्त हो गई और मोहल्ले का आवागमन बाधित हो गया। हालाकि देर रात विद्युत सप्लाई सुचारु कर दी गई थी, बुधवार की सुबह पेड़ काट कर रास्ता साफ किया गया।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.