बीडीसी बोलीं मायके गई थी, बेटा बोला, दबाव में है मां

ब्लॉक प्रमुखी के चुनाव से पहले राजनीति चरम पर है। ब्लॉक प्रमुख पद के दावेदारों में आरोप-प्रत्यारोप लगाए जा रहे हैं।

JagranTue, 01 Jun 2021 05:26 AM (IST)
बीडीसी बोलीं 'मायके गई थी', बेटा बोला, 'दबाव में है मां'

संसू, हाथरस : ब्लॉक प्रमुखी के चुनाव से पहले राजनीति चरम पर है। ब्लॉक प्रमुख पद के दावेदारों में आरोप-प्रत्यारोप लगाए जा रहे हैं। इसी को लेकर देवेंद्र यादव उर्फ बंटी और उसके साथियों के खिलाफ अनुसूचित जाति की महिला बीडीसी के अपहरण समेत अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है। वहीं बीडीसी ने मीडिया के सामने आकर अपहरण की बात से इंकार किया है। अब उसके बेटे ने अपहरण कर्ताओं के दबाव में होने की बात ही है।

गांव टीकरी कलां निवासी विनोद कुमार ने देवेंद्र यादव उर्फ बंटी निवासी लालगढ़ी और उसके साथियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। इसमें आरोप था कि 21 मई को बंटी यादव उसकी मां नवनिर्वाचित बीडीसी भगवान देवी को को यह कहकर साथ ले गए कि उनके भाई की तबीयत खराब है। आरोप है कि बंटी और उसके साथ भगवान देवी को बलपूर्वक कार में बैठाकर ले गए और उन्हें बंधक बनाकर रखा है। इधर रविवार को बीडीसी भगवान देवी अपने छोटे बेटे धनीराम के साथ सिकंदराराऊ स्थित सपा कार्यालय पहुंची और मीडिया के सामने अपहरण की बात का खंडन किया। यहां सपा की पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष ओमवती यादव एवं देवेंद्र सिंह उर्फ बंटी यादव भी मौजूद रहे। भगवान देवी ने कहा कि वह अपने भाई के यहां पटियाली गई थी। वहीं से यहां लौटकर आई है। उन्होंने आरोप लगाया कि दूसरे पक्ष के कुछ लोग उनके दिव्यांग बेटे को कई दिन पहले घर से अपहरण कर ले गए हैं। जिसका अभी तक कोई पता नहीं है। देवेन्द्र यादव उर्फ बंटी यादव ने कहा कि उनके खिलाफ झूठी रिपोर्ट दर्ज कराई गई है। उन्होंने किसी का कोई अपहरण नहीं किया है। बता दें कि देवेंद्र यादव की मां सुदामा देवी निर्विरोध बीडीसी बनी हैं। ब्लॉक प्रमुख पद के लिए दावेदारी कर रही हैं। वहीं दूसरी ओर पूर्व ब्लाक प्रमुख रेशम पाल सिंह के पुत्र अजय प्रताप सिंह अपनी दावेदारी में जुटे हैं। दोनों ही पक्षों में चुनाव से जोर आजमाइश चल रही है।

इधर सोमवार को भगवान देवी का बड़ा बेटा विनोद फिर से मीडिया के सामने आया। उसने कहा है कि कहा कि मां भगवान देवी से दबाव बनाकर अपहरण न होने की बात कहलवाई गई है। वह खुद अपनी ननिहाल गया था, जहां उसकी मां भगवान देवी नहीं थी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.