दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

अजित सिंह का हाथरस से रहा गहरा नाता

अजित सिंह का हाथरस से रहा गहरा नाता

अक्सर सादाबाद क्षेत्र में आते थे रालोद के राष्ट्रीय अध्यक्ष मौत से हर कोई दुखी दी श्रद्धांजलि।

JagranFri, 07 May 2021 04:20 AM (IST)

संवाद सूत्र, हाथरस : रालोद के राष्ट्रीय अध्यक्ष चौ. अजित सिंह का हाथरस से गहरा नाता रहा है। वह अक्सर हाथरस आते थे। जाट लैंड कहे जाने वाले सादाबाद क्षेत्र में वह दर्जनों बार जनसभाएं करने आए थे। 2001 के उपचुनाव में वह पूरे एक महीने यहां रुके थे।

रालोद से जुड़े पुराने लोग बताते हैं कि 1996 में पूर्व विधायक प्रताप चौधरी की अगुवाई में महाराजा सूरजमल की जयंती पर शोभायात्रा निकाली गई थी। तब चौ. अजीत सिंह, दिल्ली के पूर्व मुख्यमंत्री साहब सिंह वर्मा, अभिनेता दारा सिंह पहलवान, भरतपुर नरेश महाराजा विश्वेंद्र सिंह सहित तमाम नामचीन हस्तियां सादाबाद आई थीं। इसके बाद वर्ष 2002 में प्रताप चौधरी, वर्ष 2007 में डॉ. अनिल चौधरी यहां राष्ट्रीय लोक दल से विधायक बने। इनके चुनाव के दौरान भी चौ. अजित सिंह ने कई सभाएं की थीं। सात वर्ष पहले दिल्ली में चौधरी चरण सिंह का आवास खाली कराने को लेकर समर्थकों ने आंदोलन किया था। तब लाठीचार्ज में कई समर्थक घायल हुए थे। इसमें हाथरस के वरिष्ठ चिकित्सक एसके राजू, उनके भाई और अन्य लोग भी शामिल थे। आंदोलन के बाद घायलों से मिलने के लिए चौ. अजित सिंह हाथरस डॉ. एसके राजू के आवास पर आए थे। बोले समर्थक-

चौ. अजित सिंह की एक आवाज पर हजारों लोग एक साथ खडे़ हो जाते थे। उनके निधन से स्तब्ध हूं।

-प्रताप चौधरी, पूर्व विधायक सादाबाद। मैं किसानों के मसीहा पूर्व प्रधानमंत्री चौ. चरण सिंह का अनुयायी हूं। उनके निधन के बाद चौ. अजित सिंह से जुड़ा। 2001 के उपचुनाव में चौ. साहब की मेहनत से विधायक बन सका। उनके निधन से दुखी हूं।

-रामशरण आर्य उर्फ लहटू ताऊ, पूर्व विधायक

चौ. अजित सिंह ने कुशल राजनीतिज्ञ की तरह पार्टी को चलाया। केंद्र में कई बार मंत्री बनने के बाद प्रदेश सरकार में भी अपनी सहभागिता की। वह हमेशा सादाबाद के लिए खड़े रहते थे। सादाबाद क्षेत्र में घर-घर लोग उनको मानते हैं।

-चौ.उम्मेद सिंह, जिला पंचायत सदस्य

जाट समाज ने खो दिया

अपना प्रमुख संरक्षक

फोटो- 33

संसू, सादाबाद : चौ. अजित सिंह के निधन के बाद गुरुवार को श्रद्धांजलि सभा आयोजित की गई। इसमें पूर्व विधायक प्रताप चौधरी, पूर्व विधायक रामशरण आर्य, जिलाध्यक्ष केशवदेव चौधरी ने नम आंखों से चौधरी अजित सिंह को श्रद्धांजलि अर्पित की। कहा कि चौ. अजित सिंह को सादाबाद के लोग अपना संरक्षक मानते रहे हैं। उनके निधन से सभी लोग टूट चुके हैं।

श्रद्धांजलि सभा में रालोद के युवा नेता प्रवीण पौनिया, महिपाल सिंह, चंद्रकांत बधोतिया एडवोकेट ने बताया कि सादाबाद क्षेत्र मिनी छपरौली कहा जाता है। ऐसे नेता का निधन होना अपूरणीय क्षति है। चौधरी चरण सिंह की प्रतिमा के समक्ष चौधरी अजित सिंह के छवि चित्र पर सभी लोगों ने पुष्पांजलि अर्पित की। श्रद्धांजलि सभा में धर्मवीर चौहान, प्रमेंद्र गावर, थान सिंह, महिपाल सिंह, सरनाम सिंह, धर्मवीर चारग, उम्मेद सिंह, बच्चू सिंह, अनिल कुमार, धर्मवीर सिंह, रामसहाय चौधरी, सचिन पचहरा, नितिन चौधरी आदि थे। गांव कुरसंडा में आयोजित श्रद्धांजलि सभा की अध्यक्षता मास्टर प्रेम सिंह ने की। प्रधान चौधरी रूपेंद्र सिंह नंबरदार, शिवकुमार मास्टर, सतेंदर फौजदार, दलबीर सिंह सुखबीर सिंह, विजय सिंह, कुलदीप चौधरी, लालकृष्ण चौधरी, गोपाल सिंह, श्यामवीर सिंह आदि ने मौजूद थे।

उधर, किसान कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष व पूर्व विधायक डॉ. अनिल चौधरी ने चौ. अजित सिंह को श्रद्धांजलि दी और कहा कि किसानों की बुलंद आवाज चौधरी साहब का हम सब को छोड़कर जाना हृदयविदारक है। सपा के पूर्व •िालाध्यक्ष चौधरी भा•ाुद्दीन एवं •िाला महासचिव जैनुद्दीन चौधरी ने कैंप कार्यालय पर शोक सभा की। हाफि़•ा शफ़ीक़, मंसूर अहमद, श्याम सुंदर गिरी, बाबा लेखराज सिंह, मनोज यादव, कैलाश ठेनुआ, श्याम सिंह प्रधान, ओमवीर चौधरी आदि मौजूद रहे। सहृदय व्यक्ति थे चौ. अजीत सिंह

संसू, सिकंदराराऊ : पूर्व विधायक सुरेश प्रताप गांधी ने चौ. अजित सिंह के निधन पर शोक जताते हुए कहा है कि वह सीधे, सच्चे व सहृदय व्यक्ति थे। उन्होंने कभी अपनी राजनीति में कूटनीतिज्ञ का व्यवहार नहीं किया। वह सभी लोगों के साथ समान व्यवहार करते थे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.