दुकानदार से मारपीट, रुपये लूटने का आरोप

सहपऊ क्षेत्र गांव जलेसर रोड (मानिकपुर) में कुछ युवकों ने मोबाइल लाक खोलने को लेकर एक मोबाइल सही करने वाले दुकानदार से मारपीट की।

JagranPublish:Wed, 15 Sep 2021 03:14 AM (IST) Updated:Wed, 15 Sep 2021 03:14 AM (IST)
दुकानदार से मारपीट,  रुपये लूटने का आरोप
दुकानदार से मारपीट, रुपये लूटने का आरोप

संसू, हाथरस : सहपऊ क्षेत्र गांव जलेसर रोड (मानिकपुर) में कुछ युवकों ने मोबाइल लाक खोलने को लेकर एक मोबाइल सही करने वाले दुकानदार से मारपीट की। दुकानदार ने युवकों पर मारपीट के अलावा दुकान में रखे गल्ले से नकदी एवं मोबाइल लूटकर ले जाने का आरोप लगाया है।

दिनेश कुमार की रेलवे स्टेशन रोड पर विब्बू मोबाइल रिपेयरिग नाम की दुकान है। सोमवार की दोपहर को गांव बाग बधिक का एक युवक उसकी दुकान पर मोबाइल का लाक खुलवाने के लिए आया था। दुकानदार ने उसे मंगलवार को आने के लिए कहा। जब युवक मंगलवार को अपना मोबाइल लेने पहुँचा तो दुकान पर दिनेश का भांजा नीतेश दुकान पर बैठा था। उसने युवक को बताया कि उसका मोबाइल लाक खोलने के लिए सादाबाद भेज दिया है, शाम तक आ जाएगा। युवक मोबाइल उसी समय देने की जिद करने लगा। इसपर दोनों में नोकझोंक हुई। युवक गुस्से आकर अपने गांव चला गया और गांव से कई युवकों एवं महिलाओं के साथ उसी दुकान पर आ धमका। आते ही मोबाइल मैकेनिक एवं दुकानदार के भांजे के साथ मारपीट एवं दुकान में तोड़फोड़ करना प्रारंभ कर दिया। पास के दुकानदारों ने बीच बचाव किया और पीआरवी को सूचना दी। मौके पर पीआरवी के आने के बाद वे लोग दुकानदारों को रात में देख लेने की धमकी दी और चले गए। पहला पति शराबी था, दूसरा निकला गंजेड़ी

संस, हाथरस : कोतवाली हाथरस गेट क्षेत्र के नगला अलगर्जी में एक महिला ने अपने पति को शराब का आदी होने पर दो साल पूर्व छोड़ दिया था। महिला ने एक युवक से दूसरी शादी कर ली थी। कुछ दिन बाद महिला को पता लगा कि उसका दूसरा पति गांजा व स्मैक पीने का आदी है। मंगलवार को इसी बात को लेकर दंपती में विवाद हो गया। सूचना पर पहुंची पुलिस महिला की शिकायत पर उसके पति को पकड़कर थाने ले आई। अज्ञात शव का कराया दाह संस्कार

संस, हाथरस : कोतवाली हसायन के अंतर्गत 11 सितंबर को रति के नगला के पास जंगल में पेड़ से एक युवक का शव लटका मिला था। उसके सीधे हाथ पर ओम साईं लिखा था। नीली जींस, व्हाइट ब्लू टीशर्ट पहन रखी थी। शव की शिनाख्त न होने पर हसायन पुलिस ने समाजसेवी सुनीत आर्य व प्रवीन वाष्र्णेय से शव के अंतिम संस्कार के लिए अनुरोध किया। समाजसेवियों ने पत्थर वाली श्मशान गृह पर अंतिम संस्कार किया। सुनील अग्रवाल, प्रवीन वाष्र्णेय, सुनीत आर्या, नितिन अग्रवाल, आयोग दीपक, सुरजीत कुमार काली, जितेंद्र कुमार, बंटी भाई मौजूद रहे।