top menutop menutop menu

कोरोना पैकेज- 501 टीम घर-घर जाकर पूछेंगी सेहत का हाल

संवाद सहयोगी, हाथरस : जनपद से कोरोना के खात्मे के लिए रविवार से घर-घर कोविड सर्विलांस प्रोग्राम की शुरुआत हो रही है। इसमें हेल्थ डिपार्टमेंट की टीम घर-घर जाकर आपसे आपकी सेहत का हाल पूछेगी। आपका हेल्थ स्टेटस जुटाकर डिपार्टमेंट को देगी ताकि कोविड-19 के मरीजों को स्क्रीन किया जा सके। अभियान 15 जुलाई तक चलाया जायेगा।

एसीएमओ डॉ. विजेंद्र सिंह ने बताया कि पांच से 15 जुलाई तक पूरे जिले के शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में घर-घर जाकर 501 टीमें सर्वे करेंगी। इसमें 440 टीमें ग्रामीण क्षेत्रों तथा 61 टीम शहरी क्षेत्रों में सर्वे करेंगी। खांसी-बुखार के रोगियों को चिह्नित किया जाएगा। यदि कोई गंभीर रोगी मिलता है तो उसकी कोरोना जांच कराई जाएगी। कोरोना के लक्षणों के साथ-साथ गंभीर व लंबी बीमारियों से ग्रसित लोगों की भी सूचना हासिल की जाएगी। जिसमें हृदय रोग, हाइपरटेंशन, डायबिटीज जैसी बीमारी शामिल है।

दस दिन में होगा सर्वे : कोविड सर्विलांस प्रोग्राम को काफी तेजी से चलाया जाएगा। यह रैपिड सर्वे होगा, जिसमें दस दिन में पूरे जिले के घरों को कवर कर लिया जाएगा। सर्वे करने वाली आशा सीवियर एक्यूट रैस्पिरेटरी इंफेक्शन से ग्रस्त पेशेंट्स की तुरंत अपने प्रभारी को सूचना देंगी। प्रभारी हेल्थ डिपार्टमेंट को सूचना देंगे और उस व्यक्ति का कोरोना सैंपल कराया जाएगा। कोरोना के पेशेंट्स को पहचानकर उनका इलाज कराया जा सकेगा, ताकि कोरोनावायरस के संक्रमण को फैलने से रोका जा सके। पोलियो अभियान की तर्ज पर

इस अभियान को पोलियो अभियान की तर्ज पर चलाया जाएगा। अभियान के लिए माइक्रो प्लान के अनुसार जनपद में टीमों का गठन किया गया है। प्रत्येक सर्वेक्षण टीम में 2 सदस्य नियुक्त किए गए हैं। टीम द्वारा सुबह आठ बजे से दोपहर दो बजे तक सर्वे करेगी। ग्रामीण क्षेत्रों में टीम में आशा एवं आंगनबाड़ी कार्यकत्रियां सर्वे में अनिवार्य रूप से भाग लेंगी। शहरी क्षेत्रों में आशा-आंगनबाड़ी के साथ पोलियो अभियान, सिविल डिफेंस, एनएसएस के वालंटियर भी पार्टिसिपेट करेंगे। हेल्थ डिपार्टमेंट की टीम इनका पर्यवेक्षण करेंगी। टीमें रखेंगी सुरक्षा का ध्यान

सर्वे के दौरान टीम अपनी सुरक्षा का भी ध्यान रखेंगी। सर्वे करने वाली प्रत्येक टीम को दो रियूजेबल मास्क दिये जाएंगे। उन्हें इसे पहनकर ही सर्वे करना होगा। इसके साथ ही उन्हें सैनिटाइजर भी उपलब्ध कराया जाएगा, ताकि वे समय-समय पर अपने हाथों को सैनिटाइज कर सकें। प्रत्येक सर्वेक्षण टीम को स्टीकर, चाक एवं रिपोर्टिंग प्रारूप भी उपलब्ध कराया जाएगा।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.