248 कनेक्शन काटे, आठ के खिलाफ रिपोर्ट

248 कनेक्शन काटे, आठ के खिलाफ रिपोर्ट

शहर और देहात क्षेत्र में चल रहा है अभियान 8.12 लाख वसूले 32.47 लाख बकाया।

Publish Date:Sat, 23 Jan 2021 03:55 AM (IST) Author: Jagran

जासं, हाथरस : बिजली विभाग की विजिलेंस टीम की ओर से शहर और देहात क्षेत्र में बकायेदारों और बिजली चोरों के खिलाफ अभियान में शुक्रवार को 248 लोगों के कनेक्शन काटे गए। इनसे 8.12 लाख रुपये की वसूली की गई। 32.47 लाख रुपये बकाया है।

शुक्रवार को शहर में तड़के विजिलेंस टीम ने सीयल खेड़ा, मोरा साइकिल वाली गली, विक्रांत नगर और जलेसर रोड में छापेमारी की। एसडीओ पवन वर्मा के नेतृत्व में कार्रवाई में आठ लोगों के यहां बिजली चोरी पकड़ी। ये लोग मीटर बाइपास और सीधे तार डालकर चोरी कर रहे थे। बकाया न दिया तो स्थायी

रूप से होगी बिजली गुल

जासं, हाथरस : ओटीएस में पंजीकरण न कराने और बकाया जमा न करने वाले कमर्शियल उपभोक्ताओं को 31 जनवरी के बाद कोई मौका नहीं दिया जाएगा। एसई पवन अग्रवाल ने बताया कि छह महीने के बकायेदारों के कनेक्शन स्थायी रूप से काट दिए जाएंगे।

शहर में कई स्थानों पर गुल रही बिजली

जासं, हाथरस : शहर में वाटरव‌र्क्स और नवीपुर सब स्टेशन पर लोकल फॉल्ट से बिजली संकट रहा। गुरुवार की रात से लेकर सुबह तक कई बार लाइन ट्रिपिग रही। इसके कारण लोगों को पानी की समस्या भी झेलनी पड़ी। नवीपुर, नगला अलगर्जी, महादेव नगर, रानी का नगला, मंडी समिति रोड व अन्य स्थानों पर बिजली बाधित रही। कर्मचारियों ने फॉल्ट सही किया तब जाकर लाइन चालू हुई। एसडीओ पवन वर्मा ने बताया कि नवीपुर फीडर पर मशीन में खराबी आने से आधा घंटा आपूर्ति प्रभावित रही। आज भी शहर और देहात में संकट

जासं, हाथरस : 132 केवी विद्युत उपकेंद्र ओढ़पुरा पर 33 केवी बसबार की मरम्मत का कार्य किया जाएगा। इस वजह से शनिवार को सुबह 8.30 बजे से 10 बजे तक 33 केवी मैन बस का शटडाउन रहेगा। इस अवधि में सुबह 8.30 बजे से 10.00 बजे तक 33 केवी पोषक लहरा व 10 एमवीए की विद्युत आपूर्ति 132 केवी विद्युत उपकेंद्र ओढ़पुरा से पूरी तरह बाधित रहेगी। वहीं 132 केवी उपकेंद्र सादाबाद पर 33 केवी बस बार की मरम्मत का काम किया जाएगा। इस वजह से सुबह 8.30 बजे से 10 बजे तक 33 केवी मैन बस का शटडाउन रहेगा। इस वजह से 33 केवी फीडर मई, गीगला, बिसावर व आंवलखेड़ा की विद्युत आपूर्ति बाधित रहेगी। अधिशासी अभियंता राजकुमार ने बताया कि इसके कारण आपूर्ति बाधित होने से बिजली संकट को देखते हुए पेयजल व्यवस्था बनाए रखें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.