दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

39 केंद्रों पर 2180 लोगों को लगे कोविड टीके

39 केंद्रों पर 2180 लोगों को लगे कोविड टीके

कोरोना संक्रमण को देखते हुए अधिक से अधिक लोगों का टीकाकरण कराया जा रहा है। मंगलवार को जिले के 39 कोविड सेंटरों पर टीकाकरण कराया गया।

JagranWed, 21 Apr 2021 05:40 AM (IST)

संस, हाथरस : कोरोना संक्रमण को देखते हुए अधिक से अधिक लोगों का टीकाकरण कराया जा रहा है। मंगलवार को जिले के 39 कोविड सेंटरों पर टीकाकरण कराया गया। इस दौरान आधा घंटा तक लोगों को निगरानी कक्ष में रखा गया।

कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते 45 साल से अधिक उम्र के लोगों का टीकाकरण कराया जा रहा है। जिले में मंगलवार को 1124 लोगों को प्रथम डोज लगाई गई। वहीं 1056 लोगों के टीके की दूसरी डोज लगाई गई। जिले के कुल 39 स्थानों पर टीकाकरण कराया गया। वैक्सीन है सुरक्षित

फोटो-26

कोरोना संक्रमण से जंग लड़ने के लिए वैक्सीन का टीकाकरण बहुत आवश्यक है। मैने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर टीका लगवाया। टीका लगवाने के बाद किसी भी प्रकार की दिक्कतें नहीं हुई।

गिरीश मोहन गुप्ता,पूर्व चेयरमैन, सादाबाद। फोटो-27

कोरोना ने पूरे देश के जनजीवन को अस्त-व्यस्त कर दिया है। संक्रमण से बचने के लिए टीके की दोनों डोज लगवाना जरूरी है। मैने पिछले दिनों टीका लगवाया, कोई परेशानी नहीं हुई।

चंद्रकांत पाठक। बोले विशेषज्ञ

फोटो-30

कोरोना वायरस का प्रकोप एक बार फिर बढ़ गया है। जिन लोगों को कोविड वैक्सीन लगवाने का मौका मिल रहा है, वे अनिवार्य रूप से दोनों डोज लगवाएं। इससे कोई दिक्कत नहीं होती। संकट की घड़ी में वैक्सीन की डोज ही संक्रमण से लड़ने में कारगर है।

डा. दानवीर सिंह, सीएचसी प्रभारी, सादाबाद। पौष्टिक आहार व कोविड नियमों का पालन महत्वपूर्ण

संस, हाथरस : तेजी से बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के कारण कोविड गाइडलाइन का पालन व सुरक्षा ही सबसे बड़ा उपचार है। चिकित्सकों की सलाह है कि पौष्टिक भोजन लें। मास्क लगाने के साथ शारीरिक दूरी का पालन ही हमें संक्रमण से बचा सकता है।

शहर के वरिष्ठ चिकित्सक डा. मुरारी लाल बताते हैं लापरवाही खतरनाक साबित हो सकती है। मास्क लगाने से अंदर का वायरस बाहर और बाहर का अंदर नहीं आता। इसके साथ फेस शील्ड लगाने से आप 100 फीसद सुरक्षित हो जाते हैं। हमें पैरों में भी लॉकडाउन लगाना होगा। बिलावजह घर से निकलने से बचें। यह वायरस दो मीटर दूर तक चपेट में ले सकता है। इसलिए शारीरिक दूरी का पालन जरूरी है। एसी का प्रयोग सिगल यूज के लिए कर सकते हैं। दो चार लोगों की उपस्थिति में एसी का प्रयोग संक्रमण को बढ़ा सकता है। बंद कमरे में रहने या सोने की अपेक्षा बरामदा या खुले में रहने से यह वायरस कम फैलता है। कोविड वैक्सीन अवश्य लगवाएं। इसके लगने से संक्रमण का खतरा कम हो जाता है। हाथों को साबुन से बार-बार धोना भी संक्रमण से बचाता है। तनाव लेने और बहकावे में आने की जरूरत नहीं है। भोजन में दाल, हरी सब्जी, दही के साथ संतुलित आहार लें। साफ-सफाई का भी ध्यान रखें। शरीर में कोई दिक्कत महसूस होने पर विशेषज्ञ चिकित्सक से परामर्श लेकर ही दवाओं का सेवन करें।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.