गंगा एक्सप्रेस-वे में जुड़ेंगे आठ और गांव, दो बनेंगे जंक्शन

गंगा एक्सप्रेस-वे में जुड़ेंगे आठ और गांव, दो बनेंगे जंक्शन

गंगा एक्सप्रेस-वे में और गांवों को जोड़ा जाएगा। एक्सप्रेस-

Publish Date:Sun, 24 Jan 2021 10:21 PM (IST) Author: Jagran

हरदोई : गंगा एक्सप्रेस-वे में और गांवों को जोड़ा जाएगा। एक्सप्रेस-वे से जिले में आने और जिले से एक्सप्रेस-वे पर जाने के लिए दो स्थानों पर जंक्शन प्रस्तावित किए गए हैं। यूपीडा (उप्र राज्य औद्योगिक विकास प्राधिकरण) ने जिले की सीमा से गुजरने वाले गंगा एक्सप्रेस-वे के लिए वैसे तो 86 गांवों में भूमि का चिह्नांकन किया है। अब सवायजपुर के सैदापुर और बिलग्राम के पसनेर में जंक्शन प्रस्तावित किए जाने से और गांवों से भूमि ली जाएगी।

मुख्यमंत्री की शीर्ष प्राथमिकताओं में से एक गंगा एक्सप्रेस-वे के निर्माण की प्रारंभिक तैयारियों, व्यवस्था जुटाने के कार्य ने गति पकड़ी है। शाहाबाद, सवायजपुर और बिलग्राम तहसील के 86 गांवों से 1201 हेक्टेयर क्षेत्रफल में 120 मीटर चौड़ाई में भूमि लिए जाने का प्रस्ताव शामिल है। गांवों से भूमि लिए जाने के लिए राजस्व विभाग और यूपीडा की टीम ने सर्वे पूरा कर लिया गया है। राजस्व विभाग द्वारा सर्वे में मिलीं त्रुटियों को दुरुस्त कराए जाने के लिए यूपीडा को पत्र भेजे गए हैं। जिले की सीमा में गंगा एक्सप्रेस-वे के लिए प्रदेश में सर्वाधिक गांवों से भूमि ली जाएगी और एक्सप्रेस-वे की लंबाई जिले में अन्य जनपदों की अपेक्षा अधिक है।

जिलाधिकारी अविनाश कुमार का कहना है कि मुख्यमंत्री की शीर्ष प्राथमिकता में शामिल होने से प्रारंभिक कार्यो के साथ भूमि अधिग्रहण की प्रक्रिया में तेजी लाई गई है। जल्द ही भूमि अधिग्रहण की प्रक्रिया के लिए प्रस्ताव तैयार कराते हुए किसानों से समन्वय बनाते हुए खरीदारी शुरू कराई जाएगी। इन गांवों से जंक्शन के लिए ली जाएगी भूमि : गंगा एक्सप्रेस-वे तहसील बिलग्राम के पसनेर में जंक्शन बनाए जाने के लिए पसनेर, बसहर, जरौली शेरपुर एवं गुरौली और तहसील सवायपुर के सैदापुर में जंक्शन निर्माण के लिए सैदापुर, मुंडेर, कौसिया एवं सेमरझाला से भूमि का अधिग्रहण किया जाएगा।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.