top menutop menutop menu

स्वतंत्रता संग्राम के शहीदों को किया नमन

11 एचपीआर 68-

जागरण संवाददाता, हापुड़

अतरपुरा चौराहा स्थित शहीद स्तम्भ पर मंगलवार को नगर के चार अमर शहीदों को श्रद्धांजलि दी गई। 11 अगस्त 1942 को स्वतंत्रता संग्राम के दौरान इन शहीदों ने बलिदान दिया था। 1942 शहीद स्मारक समिति ने इन शहीदों को नमन करने के लिए श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया, जिसमें नगरवासियों ने बढ़-चढ़ कर भाग लिया। वहीं कांग्रेस के पदाधिकारी और कार्यकर्ताओं ने भी श्रद्धांजलि दी।

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के आह्वान पर अंग्रेजों भारत छोड़ो आंदोलन में नगरवासियों का भी महत्वपूर्ण योगदान रहा। 11 अगस्त 1942 को यहां भी देश प्रेमी जनता ने विशाल जुलूस निकाला तथा टाउनहॉल पर तिरंगा फहराने को अतुर रहे। जैसे ही जुलूस अतरपुरा चौपला पर पहुंचा तो पुलिस ने आंदोलनकारियों को रोकने की कोशिशि की, लेकिन वह कोशिश असफल हुई। अपने प्रयासों को असफल होते देख अंग्रेजी पुलिस अधिकारियों ने आंदोलनकारियों पर गोली चलाने के आदेश दिए।

पुलिस ने बर्बता पूर्वक गोली चलाई जिससे चार आंदोलनकारी मांगेराम, अंगन लाल, गिरधारी लाल और रामरूप शहीद हो गए। आजादी के मतवाले सेवाराम के तीन गोली लगी लेकिन उन्होंने तिरंगा नहीं गिरने दिया और टाउनहॉल पर तिरंगा फहरा दिया था।

इस अवसर पर सुरेश सम्पादक, नरेंद्र कुमार मित्तल, धीरेंद्र कुमार त्यागी, आशुतोष आजाद, डा.आर.डी.शर्मा आदि मौजूद थे।

उधर कांग्रेसियों ने भी अतरपुरा चौराहा स्थित शहीद समाधि स्थल पर मोमबत्ती जलाई और अमर शहीदों को श्रद्धांजलि दी। इस मौके पर पूर्व विधायक गजराज सिंह ने अंग्रेजों की गोली से शहीद हुए स्वर्गीय रामस्वरूप के भतीजे देवीदास को सम्मानित किया। इस मौके पर विजय गोयल, दिनेश चंद शर्मा, आरडी शर्मा, शहर अध्यक्ष अभिषेक गोयल, दिनेश शर्मा, विक्की शर्मा, सेंसर पाल सिंह, जितेंद्र सिंह, सभासद नरेश भाटी, महिला जिलाध्यक्ष शगुफ्ता राणा, आदि मौजूद थे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.