top menutop menutop menu

13एचपीआर3 की संशोधित फाइल: दुकान खोलने को लेकर पुलिस और व्यापारियों में नोकझोक, हंगामा

संवाद सहयोगी, पिलखुवा:

बाजार खोलने संबंधी आदेशों की सही जानकारी न होने पर सोमवार को दुकानदारों ने दुकान खोल ली, जिसकी सूचना पर पुलिस में हड़कंप मच गया। आनन-फानन में पुलिस की मोबाइल गाड़ी प्रचार प्रसार करतीं बाजार में पहुंची और दुकान बंद करने के लिए व्यापारियों से अनुरोध किया, जिस पर व्यापारी बिफर गए और व्यापारियों ने मोबाइल गाड़ी को घेरते हुए हंगामा शुरू कर दिया। इस दौरान व्यापारियों और पुलिस के बीच भी नोंकझोक हुई। इसके बाद व्यापारी एकत्र होकर कोतवाली में पहुंचे और बाजार खोलने की अनुमति मांगी। इस पर पुलिस ने पिलखुवा कंटेनमेंट जोन में होने का हवाला देते हुए जिला प्रशासन के आदेश मिलने तक दुकान बंद रखने का आह्वान किया।

बता दें कि कोरोना संक्रमित क्षेत्र में होने के कारण पिलखुवा शहर विगत 27 अप्रैल से सील है। इससे पूर्व जनता क‌र्फ्यू और लॉकडाउन के दौरान भी शहर की दुकान बंद रही थी। लंबे समय से बंदी का दंश झेल रहे व्यापारियों में सोमवार सुबह पता चला कि प्रदेश सरकार ने सप्ताह में पांच दिन दुकान खोलने के आदेश किए हैं जबकि शनिवार और रविवार को लॉकडाउन रहेगा, जिस पर व्यापारियों ने दुकान खोल दी और बाजारों में लोगों की आवाजाही भी शुरू हो गई, लेकिन दुकानदारों को यह नहीं पता था कि कंटेनमेंट जोन में यह आदेश लागू नहीं होंगे।

सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने दुकानदारों से दुकानों को बंद करने की अपील की। व्यापारियों ने हंगामा करते हुए बंदी का प्रचार प्रसार कर रही पुलिस की मोबाइल गाड़ी को घेर लिया। मोबाइल गाड़ी पर तैनात पुलिस कर्मियों ने थाना पुलिस को सूचना दी। जिस पर आनन-फानन में बड़ी संख्या में पुलिस मौके पर पहुंची और व्यापारियों को शांत कराया। इसके बाद व्यापारियों ने कोतवाली में पहुंचकर थाना प्रभारी निरीक्षक से दुकान खोलने संबंधित अनुमति मांगी।

थाना प्रभारी निरीक्षक महावीर सिंह ने दुकानदारों को बताया कि पिलखुवा शहर कंटेनमेंट जोन में है। इसके चलते अभी दुकान नहीं खोली जा सकती है। जिला प्रशासन के आदेशानुसार ही आगे की कार्रवाई की जाएगी। बाजार खोलने की अनुमति नहीं मिलने के चलते व्यापारियों में जिला प्रशासन के खिलाफ रोष व्याप्त है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.