top menutop menutop menu

दाखिल खारिज और विरासत दर्ज न होने पर जताई नाराजगी

16एचपीआर9

संवाद सहयोगी, गढ़मुक्तेश्वर

भारतीय किसान संघ के पदाधिकारी और कार्यकर्ताओं ने खादर क्षेत्र के गांवों में दाखिल खारिज और विरासत दर्ज न होने पर नाराजगी जताई। जनपद में दस हजार पौधे लगाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।

नक्का कुआं मंदिर के पास स्थित कार्यालय में बृहस्पतिवार को भारतीय किसान संघ की बैठक हुई, जिसमें प्रदेश महामंत्री राजसिंह चौहान और प्रांत प्रमुख संगीता ठाकुर ने बताया कि बरसात के दौरान गढ़ समेत जनपद हापुड़ में संघ द्वारा दस हजार पौधे लगाने के साथ ही सभी वर्गों को अधिक से अधिक संख्या में पौधे लगाने के प्रति जागरूक भी किया जाएगा।

जिलाध्यक्ष इंद्रजीत सिंह सोलंकी ने कहा कि गंगा खादर क्षेत्र से जुड़े इनायतपुर, रामपुर न्यामतपुर, अब्दुल्लापुर, शाकरपुर समेत कई गांवों में दिवंगत किसानों के स्थान पर भू अभिलेखों में उनके आश्रितों के नाम दर्ज नहीं हो पा रहे हैं और न ही भूमि की खरीद फरोख्त होने पर दाखिल खारिज की प्रक्रिया हो पा रही है, जिससे किसानों को अनावश्यक परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

जिला महामंत्री अमित तोमर ने कहा कि विरासत और दाखिल खारिज की प्रक्रिया को सुचारू कराने के लिए तहसील समेत जिला प्रशासन के अधिकारियों से वार्ता की जाएगी। बैठक के उपरांत भारतीय किसान संघ के पदाधिकारियों ने अपने हाथों से पौधे लगाकर हरे भरे पेड़ों के संरक्षण को लेकर चल रही मुहिम में बढ़-चढ़कर भागीदार बनने का संकल्प भी लिया। जिला कोषाध्यक्ष यशवीर राघव, बबलू प्रधान, पतराम सिंह, गजेंद्र सोलंकी, विजयपाल, अनिल, सुमित, वेदपाल समेत दर्जनों का कार्यकर्ता मौजूद रहे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.