Yogi Adityanath Rally: कुछ लोगों को नहीं पसंद आ रहा देश का विकास, कर रहे तालिबान का समर्थन: सीएम योगी आदित्यनाथ

Yogi Adityanath Rally Today मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का दोपहर 1230 बजे पिलखुवा पहुंचने का कार्यक्रम निर्धारित हुआ है। हालांकि जनसभा स्थल पर कार्यक्रम सुबह से ही शुरू है। दस बजे से लोगों के पहुंचने का सिलसिला शुरू हो गया है।

Jp YadavWed, 22 Sep 2021 08:00 AM (IST)
Yogi Adityanath Rally Today: मुख्यमंत्री के आगमन को लेकर तैयारी पूरी, 10 बजे से शुरू होगा कार्यक्रम

पिलखुवा/हापुड़ [संजीव वर्मा]। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बुधवार दोपहर हैंडलूम नगरी के रूप में विख्यात पिलखुवा पहुंचे। यहां पर जनसभा को संबोधित करने के दौरान सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने किसी के साथ भेदभाव नहीं किया। सीएम ने कहा कि कोरोना महामारी में जनता ने सरकार का साथ दिया। प्रधानमंत्री की अपील को देशवासियों ने स्वीकार किया। यह नए भारत का नया उत्तर प्रदेश है। लोगों की सुरक्षा हमारी प्राथमिकता है। इस दौरान सीएम योगी ने कहा कि मुजफ्फरनगर दंगों को कौन भूल सकता है। दंगा करने वालों की सात पीढ़ियां भी नुकसान की भरपाई नहीं कर पाएंगी।

अगले कुछ महीनों के दौरान दशहरा, दीवाली, छठ, भैया दूज और गोबरधन पूजा जैसे बड़े त्योहार है। ऐसे में लोगों से उन्होंने अपील की है कि कोरोना वायरस संक्रमण के मद्देनजर कानून के दायरे में ही रहकर त्योहार मनाएं।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हमारी पहचान देश की पहचान होनी चाहिए। जातीय पहचान राष्ट्र की सुरक्षा में बाधक नहीं बननी चाहिए। महापुरुष किसी एक वर्ग के नहीं, बल्कि सभी के होते हैं।

उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि कुछ तत्वों को देश में विकास पसंद नहीं आ रहा है। ये लोग तालिबान का समर्थन कर रहे हैं। इससे होशियार रहने की जरूरत है। ये लोग महिलाओं, बच्चों, शिक्षा और विकास के दुश्मन हैं। हमने सुरक्षा का माहौल दिया, जिससे प्रदेश में निवेश हुआ। इस निवेश से रोजगार भी मिला है।

सीएम योगी आदित्यनाथ हेलीकाप्टर से पिलखुवा सभास्थल पहुंचे। इससे पहले उन्होंने गौतमबुद्धनगर के दादरी में सम्राज मिहिर भोज की प्रतिमा का अनावरण किया।

मुख्यमंत्री की सुरक्षा को लेकर तैयार किए गए घेरे में परिंदा भी पर नहीं मार सकेगा। कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री करोड़ों की विकास योजनाओं का शिलान्यास एवं लोकार्पण करेंगे। विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों को प्रमाण पत्र वितरण किए जाएंगे। लगभग एक घंटा जनमानस मुख्यमंत्री के विचारों से रूबरू होंगे।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का दोपहर पिलखुवा पहुंचने का कार्यक्रम निर्धारित हुआ है। हालांकि जनसभा स्थल पर कार्यक्रम सुबह 11 बजे से शुरू हो गया। वाटर प्रूफ पंडाल में आम लोगों के 15 हजार कुर्सियों की व्यवस्था की गई है। वीवीआईपी और वीआईपी अलग है। तीन पीएसी की कंपनी सहित लगभग तीन हजार पुलिस कर्मियों की तैनाती की गई है।

मेरठ मंडल के मंडलायुक्त सुरेंद्र सिंह, आईजी प्रवीन कुमार सहित जनपद के जिलाधिकारी अनुज सिंह, पुलिस अधीक्षक दीपक भूकर बुधवार सुबह से की व्यवस्थाओं में जुट गए है। जनसभा में 20 हजार से अधिक लोगों के पहुंचने का अनुमान है। मुख्यमंत्री के आवागमन को लेकर शहर से लेकर गांव तक लोग उत्साहित हैं।

ग्रामीणों को जनसभा स्थल तक लाने के लिए पार्टी के नेताओं द्वारा बस की सुविधा की गई है। लगभग पांच सौ बसों के आने की संभावना है। तीन हजार से अधिक कार और पांच हजार दोपहिया वाहन पहुंचेंगे।हाईवे- 9 पर यातायात व्यवस्था को सुचारू रखने के लिए प्रशासन की तरफ से पांच वाहन पार्किंग बनाई गई है। दिल्ली- गाजियाबाद की तरफ से आने वाले वाहनों को छिजारसी टोल प्लाजा के निकट राणा डिग्री कालेज के सामने खाली मैदान में खड़ा किया जाएगा। हापुड़, ब्रजघाट की तरफ से आने वाले वाहनों के लिए श्रीराम हास्पिटल के सामने और धौलाना की तरफ से आने वाले वाहन धौलाना रोड स्थित दोनों सब्जी मंडियों में खड़े गए जाएंगे। जनसभा समाप्त होने के बाद भीड़ पर काबू पाने के लिए बड़ी संख्या में पुलिस की तैनाती की गई है।

मौसम ने ली करवट, अधिकारियों की फूली सांस

सुबह से ही मौसम बिगड़ता नजर आ रहा है। बादलों की गडगडाहट के चलते मूसलाधार बारिश होने की संभावना बनी हुई है। इसके चलते तैयारियों में जुटे अधिकारियों की सांस फूलने लगी है। हालांकि जनसभा वाटर प्रूफ पंडाल में हो रही है, लेकिन बारिश होने पर अव्यवस्था फैलने की संभावना से इन्कार नहीं किया जा सकता है।

जनसभा एक मैदान में है। मैदान में 200 फीट चौड़ा और 450 फीट लंबा पंडाल लगाया गया है। मैदान का एक हिस्सा खाली छोड़ा गया है। बारिश होने पर इस खाली हिस्से में जलभराव और कीचड़ होने की संभावना है। इसके अतिरिक्त जनसभा में प्रवेश करने के लिए बनाए गए आम लोगों के तीनों गेटों पर मिट्टी का भराव किया गया है। जो बारिश होने पर कीचड़ में तब्दील हो जाएंगे। इसके अतिरिक्त बारिश के कारण दूर-दराज से आने वाले लोगों को कठिनाइओं को सामना करना पड़ सकता है।

पिलखुवा शहर से बड़ी संख्या में लोगों के पहुंचने की संभावना जताई जा रही है। लेकिन, यदि बारिश हुई तो लोगों को घरों से निकलना मुश्किल हो जाएगा। दरअसल, शहर में हल्की बारिश होने पर ही जलभराव की समस्या उत्पन हो जाती है। शहर का मुख्य मार्ग गांधी रोड मुख्यमंत्री के आगमन की सूचना के बाद ही जर्जर है। गहरे गड्ढे बारिश होने पर परेशानी का सबब बन सकते हैं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.