हाथरस प्रकरण : सड़क पर उतरा जनसैलाब, दोषियों को फांसी की मांग

हाथरस प्रकरण : सड़क पर उतरा जनसैलाब, दोषियों को फांसी की मांग
Publish Date:Thu, 01 Oct 2020 06:45 PM (IST) Author: Jagran

01एचपीआर-15,16,17

जागरण संवाददाता, हापुड़

हाथरस कांड को लेकर लोगों में गुस्सा लगातार पनप रहा है। बृहस्पतिवार को महर्षि वाल्मीकि सेना समेत अन्य वाल्मीकि संगठनों के आह्वान पर हाथों में तख्ती-बैनर लेकर लोगों ने सड़कों पर उतरकर जुलूस निकाल कर नारेबाजी कर तहसील चौपला जाम लगा दिया। इससे पुलिस, प्रशासन में हड़कंप मच गया। जुलूस में शामिल हुए लोगों ने दोषियों को फांसी की सजा व पीड़ित परिवार को एक करोड़ का मुआवजा दिलाने की मांग उठाई। इस संबंध में एसडीएम को ज्ञापन सौंपा। बृहस्पतिवार को गोल मार्केट स्थित वाल्मीकि मंदिर पर वाल्मीकि समाज के लोगों की पंचायत हुई। इसमें हाथरस में युवती के साथ दुष्कर्म और उसे प्रताड़ित किए जाने से हुई मौत पर कानून व्यवस्था पर सवाल खड़े किए। पंचायत की अगुवाई महर्षि वाल्मीकि सेना के जिलाध्यक्ष पियूष मंडोठिया वाल्मीकि ने की। इसमें विभिन्न सफाई कर्मचारी संगठन भी शामिल हुए। पियूष ने कहा प्रदेश में जब से भाजपा की सरकार बनी है, तब से दलित समाज पर खुला अत्याचार व जुल्म हो रहे हैं। हाथरस के एक गांव में दबंग लोगों ने समाज की एक बेटी को हवस का शिकार बनाया। राज्य सफाई कर्मचारी संघ के अध्यक्ष जितेंद्र वाल्मीकि व स्वायत्त शासन कर्मचारी संघ के अध्यक्ष अनिल पंवार ने कहा कि पुलिस-प्रशासन की लापरवाही के चलते बिटिया को समय से उपचार नहीं मिल सका। जिसके चलते उसकी मौत हो गई। रात में गुपचुप तरीके से अंतिम संस्कार कर दिया। सपा के पूर्व जिलाध्यक्ष सुबोध नागर ने कहा कि दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए।

वारदात के विरोध में जुलूस अतरपुरा चौपला होते हुए तहसील चौपला पर पहुंचा। जहां गुस्साए लोगों ने जाम लगा दिया। पीड़ित परिवार को एक करोड़ रुपये मुआवजा और दोषियों को फांसी दिलाने की मांग करते हुए एसडीएम को ज्ञापन सौंपा गया। ज्ञापन देने वालों में ललित बाबा, जयप्रकाश, महेश लोहट, शुद्धप्रकाश लोहट, कांति प्रसाद, ब्रह्मप्रकाश मंडोठिया, ललित खलीफा, ब्रह्मदत्त मंडोठिया, संजय सहारनपुरिया, सुभाष, राघवेंद्र, रोहित पार्चा, विक्की डिलोर, विशाल ऊंटवाल, मोहित मंडोठिया, ललित बैनीवाल, कुणाल मंडोठिया, सुनील कीर, सतेंद्र चड्ढा आदि मौजूद रहे। आधे घंटे तक जाम से जूझे शहर

गोल मार्केट से शुरू हुआ जुलूस तहसील चौपला पर पहुंचा। जुलूस में भारी संख्या में युवा और महिलाएं शामिल थीं। उनके हाथों में तख्ती और बैनर लगे हुए थे, जिनके द्वारा हाथरस कांड के दोषियों को फांसी की सजा दिलाने की मांग की गई, जिसके चलते तहसील चौपला, मेरठ तिराहा, अतरपुरा चौपला पर जाम लग गया। इस दौरान ट्रैफिक पुलिस और वहां से गुजरने वालों को बड़ी परेशानी हुई। पुलिस ने वाहनों को अतरपुरा चौपला से एकल मार्ग से होकर निकाला गया। जुलूस समाप्त होने के बाद ट्रैफिक सुचारू हो पाया।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.