गंगा के बढ़ते जलस्तर ने छीना लोगों का चैन

के गांवों में रहने वाले लोगों की गंगा के बढ़ते जलस्तर से नींद खराब होने लगी है। जिस प्रकार से गंगा का जलस्तर बढ़ रहा है, उस हिसाब से बाढ़ की घटना से भी मुंह नहीं मोड़ा जा सकता है। बढ़ते

JagranPublish:Tue, 07 Aug 2018 07:32 PM (IST) Updated:Tue, 07 Aug 2018 07:32 PM (IST)
गंगा के बढ़ते जलस्तर
ने छीना लोगों का चैन
गंगा के बढ़ते जलस्तर ने छीना लोगों का चैन

संवाद सहयोगी, गढ़मुक्तेश्वर

खादर क्षेत्र के गांवों में रहने वाले लोगों की गंगा के बढ़ते जलस्तर से नींद खराब होने लगी है। जिस प्रकार से गंगा का जलस्तर बढ़ रहा है, उस हिसाब से बाढ़ की घटना से भी मुंह नहीं मोड़ा जा सकता है। बढ़ते जल स्तर ने ग्रामीणों की रातों की नींद गायब कर दी है। अब लोग रतजगा करने लगे हैं। तटवर्ती ग्रामीणों को मलाल है कि जिम्मेदार देखने आते हैं और दिलासा देकर चले जाते हैं।

गढ़ खादर क्षेत्र के गांवों के लोगों को आज कल गंगा के बढ़ते जलस्तर ने नींद उड़ाई हुई है। पिछले दिनों से गंगा का जलस्तर निरंतर बढ़ रहा है। हालांकि अभी बाढ़ जैसी संभावना भले ही न हो, लेकिन जिस प्रकार से गंगा का जलस्तर बढ़ रहा है, उस हिसाब से बाढ़ जेसी स्थिति से इंकार नहीं किया जा सकता । खादर क्षेत्र के गांव कुदैनी की मडैया, बख्तावरपुर, नयाबांस, नयागांव

सहित एक दर्जन से अधिक गांवों के लोग अब गंगा के जलस्तर को लेकर रात को जागने लगे हैं। वहीं प्रशासन के अधिकारियों द्वारा भी गांवों का दौरा कर लोगों को जलस्तर पर निगाह रखने के लिए कहा जा रहा है। गंगा के जलस्तर बढ़ने के बाद से पानी किसानों के गांवों के पहुंचने के फसलों जलमग्न हो गई हैं। जिसके बाद से पशुओं को चारे के लिए भी संकट पैदा हो गया है। किसान चारे के संकट से जूझने के लिए मजबूर हो रहा है। एसडीएम ज्योति राय ने बताया कि गंगा के जलस्तर को लेकर लगातार गांवो का दौरा किया जा रहा है।