हापुड़ में नाराज पब्लिक ने विधायक को सीवर के पानी में चलवाया, तस्वीरें हुईं वायरल

Hapur News भारतीय जनता पार्टी के विधायक कमल मलिक को सड़क पर जमा सीवर के पानी में चलवाया गया ताकि उन्हें लोगों के दर्द का एहसास हो सके। इसकी तस्वीरें और वीडियो इंटरनेट मीडिया पर वायरल है।

Jp YadavFri, 30 Jul 2021 12:45 PM (IST)
हापुड़ में नाराज पब्लिक ने विधायक को सीवर के पानी में चलवाया, तस्वीरें हुईं वायरल

नई दिल्ली/हापुड़, जागरण संवाददाता। तेज बारिश ने जहां लोगों को उमस और भीषण गर्मी से राहत दी है, जलभराव ने मुसीबत बढ़ा दी है। दिल्ली-एनसीआर में कई जगहों पर सड़कें तालाब में तब्दील हो गई हैं। यहां तक कि सीवर भी उफान पर हैं। इस बीच दिल्ली से सटे हापुड़ में अजब नजारा देखने में आया है। यहां पर भारतीय जनता पार्टी के विधायक कमल मलिक को सड़क पर जमा सीवर के पानी में चलवाया गया, ताकि उन्हें लोगों के दर्द का एहसास हो सके। इसकी तस्वीरें और वीडियो इंटरनेट मीडिया पर वायरल है। बताया जा रहा है कि माननीय विधायक 2017 में चुनाव जीतने के बाद 4 साल तक गांव नानई में आए ही नहीं।

बताया जा रहा है कि वह जब गांव में विधायक सभा को संबोधित करने पहुंचे तो जनता ने जमकर खरी-खोटी सुनाई। इसके बाद जलभराव में लोगों ने विधायक महोदय को घुमाया। अब यूपी के हापुड़ के गांव नानई का यह वीडियो इंटरनेट मीडिया पर वायरल हो रहा है। इन विधायक का नाम है कमल मलिक।

क्षेत्रीय विधायक का दूसरे दिन भी हुआ विरोध

नानई के बाद अगले ही दिन गांव ढोलपुर में क्षेत्रीय भाजपा विधायक से ग्रामीणों ने नाराजगी जताते हुए आबादी में हो रहे जलभराव में ले जाकर स्थिति दिखाई। क्षेत्रीय भाजपा विधायक कमल मलिक ब्रजघाट गंगा से जल ले जाकर कई दिनों से समर्थकों के साथ बहादुरगढ़ क्षेत्र के गांवों में पदयात्र कर रहे हैं, जो बृहस्पतिवार को गांव ढोलपुर में पहुंचे तो ग्रामीणों ने आपा खो दिया। जिन्होंने आबादी में हो रहे जलभराव के बीच ले जाकर विधायक को अपना दुखड़ा सुनाया।

जिसका वीडियो इंटरनेट मीडिया पर दिनभर वायरल होता रहा। इससे पहले भी बुधवार को क्षेत्र के गांव नानई में जनसभा के दौरान ग्रामीणों ने हंगामा करते हुए विधायक पर बुजुर्गों से अभद्रता करने और तीन कृषि कानूनों के विरोध में धरना प्रदर्शन कर रहे किसानों की अनदेखी करने का आरोप लगाया था।

नानई और ढोलपुर से जुड़े जीते सिंह एवं पूर्व प्रधान रणधीर सिंह का आरोप है कि चार साल से भी अधिक के कार्यकाल के दौरान विधायक द्वारा बहादुरगढ़ क्षेत्र के गांवों की खुली अनदेखी की गई है। हालांकि विधायक कमल मलिक नानई की घटना को विपक्षी पार्टियों से जुड़े चंद शरारती तत्वों की हरकत से जुड़ा होना बता रहे हैं, जिनका कहना है कि गांव ढोलपुर में ग्रामीणों द्वारा कोई विरोध करने की बजाए महज आबादी के बीच हो रही जलभराव की समस्या को दिखाया गया था। जिसके लिए जनप्रतिनिधि जिम्मेदार हैं।

वहीं, विधायक कमल मलिक का कहना है कि इस संबंध में समस्या का समाधान करने के निर्देश दिए गए हैं। अब लोगों को किसी भी प्रकार की परेशानी नहीं होने देंगे। 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.