हमीरपुर में लिंक मार्गों के जुड़ाव वाले स्थानों पर ओवरटेकिग बनी खतरा

हमीरपुर में लिंक मार्गों के जुड़ाव वाले स्थानों पर ओवरटेकिग बनी खतरा

मार्गों के जुड़ाव वाले स्थानों पर ओवर टेकिग बनी खतरामार्गों के जुड़ाव वाले स्थानों पर ओवर टेकिग बनी खतरामार्गों

Publish Date:Thu, 26 Nov 2020 08:08 PM (IST) Author: Jagran

जागरण संवाददाता, हमीरपुर : जिले में होने वाली दुर्घटनाओं का कारण मुख्य सड़कों पर लिक मार्गों के जुड़ाव वाले स्थानों पर वाहनों की ओवरटेकिग व ओवर स्पीड है। इसे देखते हुए यातायात विभाग द्वारा हाईवे स्टेट हाइवे समेत अन्य मार्गों पर 24 ब्लैक स्पॉट चिन्हित कर आवश्यक कार्रवाई की गई है। यहां हुई 201 दुर्घटनाओं के बाद स्पीड ब्रेकर निर्माण, रिफलेक्टर व जरुरी निर्देशों की सूचना पट्टिकाएं (संकेतक) लगवाई गई है। इसके बाद से दुर्घटनाओं में अंकुश लगा है।

यातायात पुलिस द्वारा वर्ष 2018 में आए दिन होने वाली दुर्घटनाओं को देखते हुए जिले में 24 ब्लैक स्पॉट चिह्नित किए थे। इन स्थानों पर ज्यादातर घटनाएं होने से लोग मौत के मुंह में समा रहे थे। राष्ट्रीय राजमार्ग में 14 व स्टेट हाईवे में नो व अन्य सड़कों में एक ब्लैक स्पॉट शामिल हैं। इन स्थानों पर होने वाली दुर्घटनाओं का कारण लिक मार्गों के जुड़ाव वाले या सघन आबादी वाले स्थानों पर वाहनों की ओवर टेकिग व ओवर स्पीड बताया गया। इन स्थानों पर घटनाओं में अंकुश लगाने के लिए प्रशासन के निर्देश पर यातायात पुलिस द्वारा स्पीड ब्रेकरों का निर्माण कराया गया। साथ ही रिफलेक्टर व अन्य दिशा निर्देशों की सूचनाओं वाली पट्टिकाएं लगवाई गईं। ब्लैक स्पॉट में शामिल स्थान

यातायात पुलिस द्वारा चिन्हित ब्लैक स्पॉट में हाईवे पर मुख्यालय स्थित बेतवा पुल, राठ तिराहा, कुछेछा, कुंडौरा, नरायनपुर, कस्बा सुमेरपुर, फैक्ट्री एरिया, चंदपुरवा गेट, इंगोहटा, मकराव, बड़ा चौराहा, छिरका मोड़ व गहबरा चौकी शामिल है। वहीं स्टेट हाईवे में मुख्यालय स्थित रोहाइन नाला, छानी, बसवारी, मुस्करा, अकौना मोड़, आंबेडकर चौराहा, बसेला तिराहा, गोहांड पेट्रोलपंप के पास, मगरौठ मोड़ के अलावा अन्य मार्ग में राजामऊ भी शामिल है। वर्ष 2018 में चिह्नित ब्लैक स्पॉट की गई कार्रवाई के बाद खत्म हो गए है। इन स्थानों पर स्पीड ब्रेकर निर्माण कराने के साथ अन्य कार्रवाई की गई। इससे यहां दुर्घटनाएं न के बराबर हो गई है। यातायात अभियान के बाद अब नए ब्लैक स्पॉट का चिन्हांकन किया जाएगा।

- गिरेंद्रपाल सिंह, यातायात प्रभारी

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.