गोरखपुर में धारदार हथियार से युवक की हत्‍या Gorakhpur News

गोरखपुर में धारदार हथियार से युवक की हत्‍या कर दी गई। - प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर
Publish Date:Tue, 29 Sep 2020 08:55 AM (IST) Author: Pradeep Srivastava

गोरखपुर, जेएनएन। घघसरा चौकी क्षेत्र के कनकपुरवा गांव की सड़क पर मंगलवार की एक युवक की खून से लथपथ शव गांव के लोगों ने देखा। मृतक की पहचान संतकबीर नगर जनपद के खलीलाबाद थाना क्षेत्र के कटबंध निवासी वीरेंद्र सिंह के 28 वर्षीय पुत्र बालेंद्र सिंह के रूप में की गई। युवक के सिर के पीछे धारदार हथियार से कई बार वार किया गया, जिससे दाहिने हाथ का पंजा भी कटा है। पुलिस शव को कब्जे में लेकर जांच कर रही है। 

सहजनवां थाना क्षेत्र के पाली ब्लाक के कनकपुरवा गांव से भट्ठे की तरफ जाने वाली सड़क पर मंगलवार की सुबह गांव के लोगों ने एक युवक का शव देखा। युवक के सिर पर धारीदार हथियार से वार करके हत्या की गई है। सोशल मीडिया के जरिए मृतक की पहचान बालेंद्र सिंह पुत्र वीरेद्र सिंह निवासी कटबंध थाना खलीलाबाद जनपद संतकबीर नगर के रूप में उसके भाई के मित्र हरिकृष्ण मौर्या ने किया। पुलिस व फोरेसिंक टीम ने जांच के बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा दिया। मृतक चार भाइयों में सबसे छोटा तथा बीकाम के बाद दो वर्ष पहले गोरखपुर से पालिटेक्निक किया था। पिता सेना से रिटायर्ड तथा वर्तमान में बीमार है। बालेंद्र की अभी शादी नहीं हुई थी। स्वजन अभी थाने पर तहरीर नहीं दिए है। प्रभारी थानाध्यक्ष देवेंद्र लाल ने कहा कि स्वजनों के तहरीर मिलने पर मुकदमा दर्ज होगा। 

नहीं मिला बालेंद्र का मोबाइल व बाइक

बालेंद्र अपने घर से बाइक पर सवार होकर करीब आठ सौ मीटर की दूरी पर स्थित बरदहिया चौराहा पर जाने के लिए अकेले ही निकला था। मंगलवार की सुबह सहजनवां थाना क्षेत्र के कनकपुरवा गांव के पास बालेंद्र का शव मिला लेकिन मृतक का मोबाइल व बाइक नहीं मिला है। पुलिस मोबाइल नंबर के सर्विलांस पर लगाकर घटना का खुलासा करने का प्रयास कर रही है। 

शाम को माडल शाप पर दिखा था बालेंद्र

बालेंद्र अपने घर से निकलने के बाद खलीलाबाद स्थित एक होटल के पास माडल शाप पर पहुंचा। माडल शाप पर बालेंद्र के साथ दो युवक और थे, जिसमें बखिरा थाना क्षेत्र के सीहटीकर निवासी उसके बुआ था लड़का भी था। बालेंद्र शव मिल गया लेकिन साथ दिखे दोनों युवकों में किसी अभी पता नहीं है। 

रात को बड़े भाई से हुई थी बात

बालेंद्र के सोमवार की रात नौ बजे तक घर नहीं पहुंचने पर अधिवक्ता भाई संदेश प्रताप सिंह ने बालेंद्र के नंबर पर फोन किया। बालेंद्र ने फोन रिसीव करने के बाद कुछ ही देर में घर आने का दावा किया लेकिन 12 बजते-बजते मोबाइल स्वीच आफ हो गया। 

प्रापर्टी डीलिंग का भी कार्य करता था बालेंद्र

बालेंद्र के गांव के लोगों की दावा है कि वह प्रापर्टी डीलिंग का भी काम करता था और कई जगहों पर जमीन के खरीद-फरोख्त को लेकर बातचीत भी किया था। हालांकि परिजन बालेंद्र के प्रापर्टी का कारोबार करने से इंकार कर रहे है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.