गांव में लगेगी महिलाओं की चौपाल, एसएसपी ने महिला सिपाहियों को दी जिम्मेदारी

महिलाओं की समस्‍याएं सुनने और उनके लिए चलाई जा रही सरकार की योजनाओं की जानकारी देने के लिए एसएसपी ने महिला सिपाहियों को गांव में चौपाल लगाने का निर्देश दिया है। महिलाओं की शिकायत पर थानेदारों को कार्रवाई करने का निर्देश दिया है।

Navneet Prakash TripathiMon, 20 Sep 2021 09:05 AM (IST)
गांव में महिला सिपाही लगाएंगी महिलाओं की चौपाल। प्रतीकात्‍मक फोटो

गोरखपुर, जागरण संवाददाता। देहात के थानों पर तैनात महिला सिपाही क्षेत्र के गांवों में चौपाल लगाकर महिलाओं को जागरुक करेंगी।महिला सुरक्षा के साथ ही वेलफेयर के लिए चल रही सरकारी योजना की जानकारी देंगी। महिलाओं को अपना मोबाइल नंबर देकर कोई परेशानी होने पर सूचना देने के लिए कहेंगी। एसएसपी ने इसकी कार्ययोजना तैयार कर थानेदारों को योजना अमल में लाने की जिम्मेदारी दी है।

पंचायत भवन, स्‍कूल या प्रधान के घर लगेगी चौपाल

गांव के पंचायत भवन, प्रधान के घर या स्कूल में चौपाल लगेगी। इसमें गांव की महिलाओं के अलावा एएनएम, आशा भी मौजूद रहेंगी।चौपाल में मौजूद महिलाओं को हेल्प लाइन नंबर और सरकार की तरफ से महिलाओं के लिए चलाई जा रही योजना की जानकारी दी जाएगी।इसके लिए पंफलेट छपवाया जा रहा है। जिसे पुलिस कार्यालय से सभी थानों पर भेजा जाएगा। जहां से महिला सिपाहियों को दिया जाएगा।

चौपाल में मौजूद हर महिला से बात करेंगी सिपाही

महिला सिपाही चौपाल में मौजूद सभी महिलाओं से बारी-बारी से बात करेंगी। उनकी शिकायत व सुझाव को रजिस्टर में दर्ज भी करेंगी। कोई मनबढ़ या शोहदा अगर उन्हें परेशान करता है तो उसकी पूरी जानकारी एकत्र कर थानेदार को बताएंगी।थानेदार अपने स्तर से शिकायत की जांच कराएंगे। सही मिलने पर आरोपित के खिलाफ निरोधात्मक कार्रवाई करेंगे।

पीडि़त महिलाओं से करेंगी मुलाकात

चौपाल लगाने के अलावा महिला सिपाही छेडख़ानी, दुष्कर्म, पाक्सो एक्ट की पीडि़त महिला, युवती और किशोरी के घर जाएंगी। पीडि़त से बातचीत कर यह जानेंगी कि आरोपित या उसके समर्थक धमकी या परेशान तो नहीं कर रहें।अगर कोई परेशान कर रहा है तो पीडि़त से प्रार्थना पत्र लेकर आरोपित के खिलाफ कार्रवाई कराएंगी।

रोटेशन के हिसाब से गांव में भेजी जाएंगी महिला सिपाही

एसएसपी डा. विपिन ताडा ने बताया कि ग्रामीण क्षेत्र के थानों पर तैनात महिला सिपाहियों को रोटेशन के हिसाब से गांव में भेजा जाएगा।वह गांव में चौपाल लगाकर महिलाओं की बात सुनेंगी। जो भी समस्या सामने आएगी उसका त्वरित समाधान कराया जाएगा। महिलाओं को एक पम्फलेट भी दिया जाएगा। जिसमें महिला हेल्प लाइन नंबर और महिला वेलफेयर के लिए चलाई जा रही योजना की जानकारी होगी।

चौपाल में आए 186 मामले, 104 निस्तारित

जिले में हर बुधवार को थानों पर लगने वाली चौपाल का नतीजा नजर आने लगा है।18 अगस्त को शुरू हुए चौपाल में आए 186 मामलों में पुलिस 104 का निस्तारण कर चुकी है। शेष की जांच चल रही है।शिकायत के आधार पर हुई त्वरित कार्रवाई को देखते हुए एसएसपी ने थानों पर बुधवार की शाम लगने वाली पुलिस चौपाल का प्रचार-प्रसार कराने का निर्देश दिए हैं।

हर बुधवार को थानों मे लगती है चौपाल

एसएसपी डा. विपिन ताडा ने हर बुधवार की शाम को थानों पर पुलिस चौपाल का आयोजन शुरू किया है।शेड्यूल के हिसाब से एसएसपी, एसपी सिटी, एसपी नार्थ,एसपी साउथ और सभी सीओ की थानों पर ड्यूटी लगती है।शाम पांच बजे से शुरू होने वाली चौपाल देर रात तक चलती है।नामित अधिकारी थानों पर रात विश्राम करके पुलिसकर्मियों के साथ ही आम जन की बात सुनकर समस्या का समाधान कराते हैं।पिछले चार बुधवार को लगे चौपाल का अ'छा नतीजा सामने आया। जिसमें कुल 186 मामलों में मौके पर ही 104 का निस्तारण हुआ।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.