top menutop menutop menu

पूर्वांचल के गेहूं की रोटी खाएंगे बांग्लादेशी, चौरीचौरा रेलवे स्टेशन से जाएगी तीन रेक Gorakhpur News

पूर्वांचल के गेहूं की रोटी खाएंगे बांग्लादेशी, चौरीचौरा रेलवे स्टेशन से जाएगी तीन रेक Gorakhpur News
Publish Date:Sat, 15 Aug 2020 07:30 AM (IST) Author: Satish Shukla

गोरखपुर, जेएनएन। पड़ोसी मुल्क बांग्लादेश के लोग पूर्वांचल के गेहूं की रोटी खाएंगे। बांग्लादेश सरकार की मांग पर पूर्वोत्तर रेलवे प्रशासन ने चौरीचौरा रेलवे स्टेशन से गेहूं की तीन रेक (तीन मालगाड़ी) भेजेगा। यह रेक बांग्लादेश के रोहनपुर स्टेशन में खाली होगी। रेलवे प्रशासन ने गेहूं भेजने की तैयारी जोरशोर से शुरू कर दी है। इसी से अंदाजा लगाया जा सकता है कि पूर्वां में कितना गेहूं पैदा हो रहा है।

यहां से पहली बार भेजा जा रहा दूसरे देश के लिए खाद्यान्न

गोरखपुर से सटे वाराणसी मंडल के चौरीचौरा स्टेशन से पहली बार दूसरे देश के लिए खाद्यान्न भेजा जा रहा है। लखनऊ मंडल के गोंडा से सटे सुभागपुर स्टेशन से खाद्यान्न की लदान की जाती है। सुभागपुर से 14 अगस्त को बांग्लादेश के दर्सना स्टेशन के लिए गेहूं लदी 42 वैगन की रेक भेजी गई। सात अगस्त को भी गेहूं की एक रेक भेजी गई थी।

पूर्वोत्‍तर रेलवे से हो रहा निर्यात

पिछले माह  इज्जतनगर मंडल के हल्दी रोड स्टेशन से बांग्लादेश के बेनापोल के लिए टाटा की एस मिनी ट्रक की एक रेक भेजी गई थी। पूर्वोत्तर रेलवे से बांग्लादेश के लिए लगातार सामानों का निर्यात किया जा रहा है।  दरअसल, नियमित ट्रेनों का संचालन निरस्त होने के बाद रेलवे बोर्ड माल लदान को बढ़ावा दे रहा है। मालभाड़ा में रियायत के साथ व्यापारियों को अतिरिक्त सुविधाएं भी मुहैया कराई जा रही हैं। अब तो रेलवे बाजार में टीटीई और वाणिज्य निरीक्षकों को भेजकर नए ग्राहक भी बनाए जा रहे हैं।  साथ ही लोगों को रेलवे की तरफ से उपलब्ध सुविधाओं की भी जानकारी दी जा रही है। ताकि, माल लदान के प्रति व्यापारियों का रुझान बढ़ सके।

संबंध होंगे और प्रगाढ़

इस संबंध में पूर्वोत्‍तर रेलवे के सीपीआरओ पंकज कुमार सिंह का कहना है कि बांग्लादेश को निर्यात से उसके साथ अंतरराष्ट्रीय संबंध और प्रगाढ़ हो रहे हैं। रेलवे ही नहीं देश की भी अर्थव्यवस्था सुदृढ़ हो रही है। 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.