देवरिया में दोहरे हत्याकांड के दो आरोपितों ने कोर्ट में किया आत्मसमर्पण

मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट के न्यायालय में आरोपित हंसनाथ यादव पुत्र रामकिशोर यादव व अजय यादव पुत्र पारसनाथ यादव ने आत्मसमर्पण के लिए आवेदन पत्र दिया। अभियोजन अधिकारी अनन्त त्रिपाठी की आख्या पर अदालत ने दोनों आरोपितों को घटना में नामजद व वांछित होने पर न्यायिक अभिरक्षा में लेने का आदेश दिया।

JagranPublish:Tue, 30 Nov 2021 11:02 PM (IST) Updated:Tue, 30 Nov 2021 11:02 PM (IST)
देवरिया में दोहरे हत्याकांड के दो आरोपितों ने कोर्ट में किया आत्मसमर्पण
देवरिया में दोहरे हत्याकांड के दो आरोपितों ने कोर्ट में किया आत्मसमर्पण

देवरिया: बरहज के चकरा नोनार गांव में दोहरे हत्याकांड के दो आरोपितों ने मंगलवार को मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट के न्यायालय में आत्मसमर्पण किया। न्यायालय ने अभिरक्षा लेकर दोनों को जेल भेज दिया। अबतक छह आरोपित जेल जा चुके हैं, जबकि आठ आरोपितों की तलाश में पुलिस व एसओजी जुटी है। स्वजन ने आरोपितों की जल्द गिरफ्तारी की मांग की है।

मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट के न्यायालय में आरोपित हंसनाथ यादव पुत्र रामकिशोर यादव व अजय यादव पुत्र पारसनाथ यादव ने आत्मसमर्पण के लिए आवेदन पत्र दिया। अभियोजन अधिकारी अनन्त त्रिपाठी की आख्या पर अदालत ने दोनों आरोपितों को घटना में नामजद व वांछित होने पर न्यायिक अभिरक्षा में लेने का आदेश दिया।

चकरा नोनार गांव में भूमि विवाद में सगे भाइयों रमेश यादव व कोकिलानंद यादव की 23 नवंबर की सुबह गोली मारकर हत्या कर दी गई। पथराव व गोली से हमला में बेचू यादव, अंकित यादव, देवानंद यादव, राजाराम यादव, लालधारी यादव, विनोद यादव व शिवानंद यादव घायल हो गए थे। पुलिस ने मृतकों के भाई भीम यादव पुत्र लालधारी की तहरीर पर बैजनाथ पुत्र हंसनाथ यादव, लालजी यादव, रणजीत व पवन पुत्रगण बैजनाथ, रोहित पुत्र अमरनाथ, दिग्विजय पुत्र पारस, राकेश पुत्र धनेश्वर, देवेंद्र पुत्र स्वामीनाथ, पंकज पुत्र पारस, अजय पुत्र पारस, अमरेश पुत्र सुबाष, पारस, हंसनाथ, रागनी पुत्री बैजनाथ के खिलाफ हत्या व हत्या के प्रयास का मुकदमा दर्ज किया। घटना के दिन ही पुलिस ने हत्या में प्रयुक्त दो एकनाली लाइसेंसी बंदूक, बांस के डंडे, चार जिदा कारतूस व चार खोखा बरामद किया। साथ ही आरोपित बैजनाथ पुत्र हंसनाथ, लालजी पुत्र सुभाष यादव, रणजीत पुत्र बैजनाथ, रागिनी पुत्री बैजनाथ को गिरफ्तार कर लिया। चारों आरोपितों को अगले दिन 24 नवंबर को न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेज दिया गया। बरहज के प्रभारी निरीक्षक टीजे सिंह ने बताया कि दो आरोपितों के आत्मसमर्पण की जानकारी मिली है।