Top Gorakhpur News, 5 August 2020: अटली जी के हाथों अयोध्या नगरी से जुड़ी थी गोरक्षनगरी, पढ़ें- गोरखपुर की महत्‍वपूर्ण खबरें

Top Gorakhpur News, 5 August 2020: अटली जी के हाथों अयोध्या नगरी से जुड़ी थी गोरक्षनगरी, पढ़ें- गोरखपुर की महत्‍वपूर्ण खबरें
Publish Date:Wed, 05 Aug 2020 02:46 PM (IST) Author: Pradeep Srivastava

गोरखपुर, जेएनएन। पढ़ेंं, गोरखपुर और आसपास के जिलों की 5 August 2020, बुधवार की प्रमुख खबरें- 

Ayodhya Ram Mandir: अटली जी के हाथों अयोध्या नगरी से जुड़ी थी गोरक्षनगरी

गोरखपुर। अयोध्या में श्रीराम मंदिर के शिलान्यास कार्यक्रम को लेकर पूर्वोत्तर रेलवे भी आह्लादित है। 16 वर्ष पूर्व जिस भाजपा की सरकार में तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल जी के हाथों पूर्वोत्तर रेलवे पतित पावन अयोध्या नगरी से जुड़ा था। आज उसी भाजपा सरकार में अयोध्या में श्रीराम के भव्य मंदिर की नींव पड़ने जा रही है। इसके साथ ही पूर्वोत्तर रेलवे का भी मान, सम्मान और महत्ता बढ़ जाएगा। लाखों श्रद्धालु कटरा के रास्ते सीधे अयोध्या पहुंचेंगे और अपने अराध्य का दर्शन कर कृतार्थ होंगे।

Ram Mandir Bhumi Pujan: सीएम योगी के शहर में हाई अलर्ट; 12 सेक्टर में बंटा शहर, ड्रोन से हो रही निगरानी

गोरखपुर। अयोध्या में पूजन को लेकर जिले में हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है। शहर को तीन जोन और बारह सेक्टर में बांधकर सुरक्षा का प्लान तैयार किया गया है। जिले में हाई अलर्ट है। सुरक्षा के लिहाज से संवेदनशील माने जा रहे 200 प्वाइंट पर फोर्स तैनात कर दी गई है। थानेदार व चौकी प्रभारी अपने इलाके में गश्त कर रहे हैं।संवेदनशील इलाकों में ड्रोन व सीसी कैमरे से निगरानी की जाएगी। सुरक्षा प्लान इस तरह का तैयार किया गया है ताकि चप्पे चप्पे पर पुलिस की मौजूदगी रहे। एसपी सिटी और सीओ अपने जोन सर्किल में भ्रमणशील रहेंगे। पुलिसकर्मी मंगलवार की शाम को ही अपने ड्यूटी प्‍वाइंटर पर मुस्‍तैद हो गए। देर रात तक एसएसपी डॉ. सुनील गुप्ता, एसपी सिटी डॉ. कौस्तुभ शहर में भ्रमणशील रहे।

पति-पत्नी की तरह रह रहे युगल की फावड़े से काटकर हत्या

गोरखपुर। गोरखपुर के गुलरिहा इलाके ठाकुरपुर नंबर एक, गड़हिया टोले में आबादी से थोड़ी दूरी पर टिनशेड में रह रहे अनरजीत गुप्त (40) और रीमा गौड़ (35) की मंगलवार की रात फावड़े से काटकर  मौत के घाट उतार दिया गया। रीमा के परिवार और गांव के लोगों बुधवार को नौ बजे के बाद   घटना के बारे में पता चला। फिलहाल हत्या की वजह नहीं पता चल पाई है। अनजीत और रीमा की शादी नहीं हुई थी, लेकिन करीब एक साल से गांव के बाहर टिनशेड कर घर बनाकर वे पति-पत्नी की तरह रह रहे थे।

एम्‍स गोरखपुर: भाजपा सांसदों ने कोविड 19 के इलाज पर जोर दिया

गोरखपुर। एम्स में प्रथम संस्थान निकाय की बैठक में अस्‍पताल जल्‍द शुरू करनेे और ओपीडी का संचालन व कोविड 19 वार्ड के निर्माण पर चर्चा हुई। एम्स के अध्यक्ष अंबरीश मित्तल की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में सदर सांसद रवि किशन व बांसगांव सांसद कमलेश पासवान सहित अन्य सदस्य उपस्थित थे। सभी ने एम्स में अस्पताल जल्द शुरू करने पर जोर दिया। साथ ही ओपीडी संचालन व कोविड वार्ड के निर्माण पर विस्तार से चर्चा हुई। कुछ सदस्य बैठक में नहीं आ पाए थे, उनसे वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से चर्चा की गई। सांसद रवि किशन ने एम्स का निरीक्षण कर जल्द से जल्द भवन निर्माण पूरा करने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि अगर एम्स के निर्माण में दिक्कतें आ रही हैं, तो इसकी जानकारी दें। मामले को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के समक्ष रखा जाएगा। 

जायडस कैडिला की वैक्सीन का भी होगा गोरखपुर में होगा ट्रायल, वालंटियरों से मांगें गए आवेदन

गोरखपुर। भारत बायोटेक के वैक्सीन पर ट्रायल शुरू कर चुके गोरखपुर के राणा हाॅस्पिटल को अब फार्मा कंपनी जायडस कैडिला की वैक्सीन (जेडवाईसीओ- डी) के ट्रायल की भी जिम्मेदारी मिल गई है। वैक्सीन एक सप्ताह के अंदर आने वाली है। ट्रायल में सहभागी होने वाले वालंटियरों के लिए ऑनलाइन आवेदन मांगे गए हैं। जायडस कोविड-19 वैक्सीन के इंसानी ट्रायल के लिए मंजूरी पाने वाली दूसरी भारतीय फार्मा कंपनी है। पहली कंपनी भारत बायोटेक है, जिसकी वैक्सीन (सीओ वैक्सीन) के ट्रायल की जिम्मेदारी भी राणा हास्पिटल को मिली है। इस वैक्सीन का ट्रायल 31 जुलाई को शुरू भी हो चुका है। 08 वालंटियरों को पहली डोज लगाई गई है। दूसरी डोज 15 दिन बाद लगाई जाएगी। जिन्हें पहली डोज लगी है, वे पूरी तरह स्वस्थ हैं और दूसरी डाेज का इंतजार कर रहे हैं। 

गोरखपुर जिला जेल में ड्रोन व मेटल डिक्‍टेटर से जांच, बैरक में मिले यह सामान

गोरखपुर। डीएम व एसएसपी की उपस्थिति में गोरखपुर जिला जेल की दो घंटे तक ड्रोन, मे‍टल डिक्‍टेटर व इलेक्ट्रानिक इक्रूटमेंट प्रेशर मशीन से पूरे परिसर की तलाशी ली गई। बंदियों के बिस्‍तर व बैरक से गुटखा, सुर्ती, और सिगरेट मिला। इसके अलावा कोई प्रतिबंधित सामान नहीं मिलने की सूचना नहीं है। जेल में अचानक भारी फोर्स पहुंचने से बंदियों में हड़कंप मच गया।

कोरोना वायरस से संक्रमित 25 सिपाहियों को बैरक में किया आइसोलेट, अब डाक्‍टर देखने तक नहीं जा रहे

गोरखपुर। पुलिस ट्रेनिंग स्कूल (पीटीएस) में दीवान पद पर प्रमोशन की ट्रेनिंग चल रही है। विभिन्‍न क्षेत्रों से सिपाही आए हुए हैं। इसमें 25 कोरोना संक्रमित मिल गए। उन्हें बैरक में ही आइसोलेट कर दिया गया। आज तक डॉक्टर उनके स्वास्थ्य की जांच करने नहीं गए, जबकि अनेक उम्रदराज सिपाही शुगर, बीपी व सांस की तकलीफ से परेशान हैं। स्वजन ने बताया कि वहां चस्पा किए गए हेल्पलाइन नंबर पर फोन करने पर कोई उठा नहीं रहा है। स्वजन का कहना है कि संक्रमित होने के बाद अधिकारियों ने उन पर ध्यान देना बंद कर दिया है। न तो उनका इलाज हो रहा है और न ही हल्दी-दूध दिया जा रहा है। जबकि अनेक की तबीयत खराब है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.