250 महिला स्वयं सहायता समूहों को मिलेंगे 2.75 करोड़

250 महिला स्वयं सहायता समूहों को मिलेंगे 2.75 करोड़

जनपद के 250 महिला स्वयं सहायता समूहों को जल्द ही सामुदायिक निवेश निधि के तहत 2.75 करोड़ रुपये मिलेंगे।

Publish Date:Sat, 24 Oct 2020 06:15 AM (IST) Author: Jagran

संतकबीर नगर, जेएनएन : जनपद के 250 महिला स्वयं सहायता समूहों को जल्द ही सामुदायिक निवेश निधि के तहत 2.75 करोड़ रुपये मिलेंगे। इनकी आर्थिक स्थिति मजबूत करने को लखनऊ से बगैर ब्याज की राशि सीधे उनके बैंक खाते में पहुंचेगी। समूहों को 12 से 18 माह में आवंटित धन शासन को लौटाना होगा। माना जा रहा है कि इससे समूहों की आर्थिक गतिविधियां बढ़ेंगी। इनकी आय में इजाफा होगा।

राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन (एनआरएलएम) के तहत जिले में लगभग 1,600 महिला स्वयं सहायता समूह गठित हैं। इस समूह में से उन्हीं का चयन किया जाना था, जिन्हें रिवाल्विग फंड के रूप में 15-15 हजार रुपये मिले हों। इसके अलावा समूह के गठित हुए कम से कम छह माह का समय गुजर गया हो। इस मानक में खरा उतरने वाले 250 महिला स्वयं सहायता समूहों का चयन किया गया। इन समूहों की सूची शासन को भेज दी गई है। सामुदायिक निवेश निधि के तहत इसमें से प्रत्येक महिला स्वयं सहायता समूह के बैंक खाते में बगैर ब्याज के 1.10 लाख रुपये जल्द पहुंचेगा। एक ब्लाक में बनाए जाएंगे चार कलस्टर महिला स्वयं सहायता समूहों की गतिविधियों की मानीटरिग व समय-समय पर मार्गदर्शन करने के लिए एक ब्लाक में चार-चार कलस्टर बनाए जाएंगे। वर्तमान में खलीलाबाद, नाथनगर व हैंसर बाजार ब्लाक में यह कार्य चल रहा है। यहां पर कार्य पूर्ण हो जाने पर शेष अन्य ब्लाकों में इसकी शुरूआत होगी। इससे महिला स्वयं सहायता समूहों की आर्थिक गतिविधियां बढ़ेंगी। समूह की आय में इजाफा होगा। इसका सीधा असर प्रत्येक समूह से जुड़ी दस महिलाओं पर पड़ेगा। उनके जीवन स्तर में काफी बदलाव आ सकता है। मनोज कुमार मल्ल विसेन, जिला मिशन प्रबंधक, राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.