गोरखपुर में फर्जी अंकपत्र पर नौकरी कर रहे प्राइमरी के तीन शिक्षक बर्खास्त

Big Action on Fake Teachers फर्जी प्रमाण पत्रों पर जिले के परिषदीय विद्यालयों में नौकरी करने वाले तीन और फर्जी शिक्षकों को शनिवार को बीएसए ने बर्खास्त कर दिया गया है। इन शिक्षकों पर कार्रवाई के साथ ही इनसे वेतन की रिकवरी भी की जाएगी।

Pradeep SrivastavaSun, 05 Dec 2021 03:08 PM (IST)
गोरखपुर में फर्जी अंकपत्र पर नौकरी कर रहे तीन श‍िक्षकों को बर्खास्‍त कर द‍िया गया है। - प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर

गोरखपुर, जागरण संवाददाता। फर्जी प्रमाण पत्रों पर जिले के परिषदीय विद्यालयों में नौकरी करने वाले तीन और फर्जी शिक्षकों को शनिवार को बीएसए ने बर्खास्त कर दिया गया है। इन शिक्षकों पर कार्रवाई के साथ ही इनसे वेतन की रिकवरी भी की जाएगी। बर्खास्त शिक्षक पिपराइच, कैंपियरगंज व कौड़ीराम ब्लाकों के विद्यालयों में तैनात थे।

प्रमाण पत्रों की जांच में सामने आया मामला

कैंपियरगंज ब्लाक के प्राथमिक विद्यालय परसा में तैनात सहायक अध्यापक दिनेश चंद्र, पिपराइच ब्लाक के प्राथमिक विद्यालय बेला के प्रधानाध्यापक रामआसरे चौधरी के खिलाफ शिकायत मिली थी दोनों ही शिक्षक फर्जी प्रमाणपत्रों के सहारे हाइस्कूल, इंटर, बीएड के अंक पत्र, आधार और पैन कार्ड को तैयार कर नौकरी कर रहे हैं। शिकायत मिलने के बाद से बेसिक शिक्षा विभाग ने संबंधित शिक्षकों के प्रमाण पत्रों का सत्यापन कराया गया। संदिग्ध प्रमाणपत्र मिलने पर इन्हें निलंबित करने का साथ संबंधित बीईओ को जांच सौंप दी। बाद में उनकी रिपोर्ट के आधार पर शिक्षकों को बर्खास्त कर दिया गया।

दूसरे नाम से कर रहा था नौकरी

इसी तरह कौड़ीराम ब्लाक के प्राथमिक विद्यालय भरवलिया में तैनात सहायक अध्यापक अरव‍िंद मिश्र को एसटीएफ ने फर्जीवाड़े को लेकर चिह्नित किया था। इसके बाद महानिदेशक स्कूल शिक्षा की तरफ से जांच शुरू हुई जांच में पाया गया कि अरङ्क्षवद मिश्र ने दूसरे व्यक्ति के शैक्षिक अभिलेखों को फर्जी ढंग से तैयार कर वास्तविक नाम आदि परिवर्तित कर नियुक्ति प्राप्त की। जिसके बाद बीएसए ने इन्हें भी बर्खास्त कर दिया।

अब बर्खास्‍त क‍िए जा चुके हैं 88 शिक्षक

बीएसए रमेंद्र कुमार स‍िंह ने बताया कि अब तक जिले 88 शिक्षकों को बर्खास्त किया जा चुका है। जबकि 83 पर मुकदमा पंजीकृत है। कुछ और के खिलाफ जांच अंतिम चरण में है।

10 तक करा लें रजिस्ट्रेशन वरना परीक्षा से हो जाएंगे वंचित

दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय एवं संबद्ध महाविद्यालयों में स्नातक और स्नातकोत्तर स्तर पर विविध पाठ्यक्रमों में नव प्रवेशित छात्रों का विवरण अपलोड करने तथा पंजीकरण शुल्क विश्वविद्यालय में जमा करने की आखिरी तारीख बढ़ा दी गई है। अब ब्योरा 10 दिसंबर तक अपलोड किया जा सकेगा। विश्वविद्यालय और संबद्ध महाविद्यालयों की एंडटर्म और फाइनल परीक्षा 20 दिसंबर से पांच जनवरी के बीच आयोजित की जाएगी। परीक्षा में केवल वही विद्यार्थी शामिल होंगे, जिन्होंने अपना रजिस्ट्रेशन आनलाइन या आफलाइन मोड में कराया है। जिन्होंने फीस जमा नहीं की है, उसका आनलाइन पंजीकरण फार्म नहीं खुलेगा और वो फार्म भरने और परीक्षा देने से वंचित रह जाएंगे।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.