International Yoga Day: जागरण ने हजारों लोगों को कराया आनलाइन योग, दिया आरोग्य का मंत्र

Yoga Day2021 कोरोना संक्रमण को देखते हुए आनलाइन योगाभ्यास का आयोजन किया गया। आयोजन में आयुष के सेंट्रल काउंसिल आफ योगा एंड रिसर्च इंस्टीट्यूट नई दिल्ली का सहयोग रहा। योगाचार्य डा. पीयूष पाणि पांडेय ने योगाभ्यास कराने के साथ ही योग के महत्व पर प्रकाश डाला।

Satish Chand ShuklaMon, 21 Jun 2021 12:32 PM (IST)
योग करने के बाद योग के महत्‍व को सुनते लोग, जागरण।

गोरखपुर, जेएनएन। दैनिक जागरण व प्राकृतिक चिकित्सा प्रेमी संस्थान के तत्वावधान में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर सोमवार को आनलाइन योगाभ्यास कार्यक्रम आयोजित किया गया। फेसबुक लाइव के जरिये हजारों लोग कार्यक्रम से जुड़े और आरोग्य का मंत्र सीखा। आम बाग स्थित आरोग्य मंदिर को लाइव प्रसारण का केंद्र बनाया गया था। वहां भी पहुंचे 20 लोगों ने शारीरिक दूरी के साथ योग व प्राणायाम कर स्वस्थ जीवन की ओर कदम बढ़ाया।

कोरोना संक्रमण को देखते हुए आनलाइन योगाभ्यास का आयोजन किया गया। आयोजन में आयुष के सेंट्रल काउंसिल आफ योगा एंड रिसर्च इंस्टीट्यूट, नई दिल्ली का सहयोग रहा। योगाचार्य डा. पीयूष पाणि पांडेय ने योगाभ्यास कराने के साथ ही योग के महत्व पर प्रकाश डाला और उससे होने वाले लाभों के बारे में बताया। योगासनों की शुरुआत कलाई संचालन से हुई। इसके बाद कुहनी संचालन, ग्रीवा संचालन, स्कंध संचालन आदि व्यायाम कराए गए। तत्पश्चात लोगों ने खड़े होकर ताड़ासन, वृक्षासन, पादहस्तासन, त्रिकोणासन आदि तथा बैठकर मंडूकासन, शशांकासन व लेटकर उत्तानपादासन, अर्धपादासन, पवन मुक्तासन व शवासन आदि किया। योगासनों के बाद अनुलोम-विलोम, कपालभांति व भस्त्रिका प्राणायाम का अभ्यास कराया गया। अंत में ओंकार के उच्चार व शांति पाठ से कार्यक्रम को विराम दिया गया। निमिषा आनंद का प्रदर्शन देखकर लोगों ने अभ्यास किया। संचालन अजय तिवारी व धन्यवाद ज्ञापन आरोग्य मंदिर के निदेशक डा. विमल मोदी ने किया।

आकर्षण का केंद्र रहा बच्चों का योग प्रदर्शन

दो छोटे बच्चों- वृषांक व सौरेश ने पद्मासन, कुर्सी आसन, उत्तानपादासन व पूर्ण भुजंगासन का प्रदर्शन कर लोगों का दिल जीत लिया। उनकी मां डा. ऋचा मोदी ने उत्तानपादासन में उनका सहयोग किया। उनका योग प्रदर्शन आकर्षण का केंद्र रहा। भाजपा सांसद कमलेश पासवान का कहना है कि योग मानव जीवन के लिए बहुत जरूरी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रयासों से 21 जून को विश्व योग दिवस घोषित किया गया। यह लोगों को स्वस्थ जीवन की ओर ले जाएगा। पूर्व महापौर डा. सत्या पांडेय का कहना है कि योग के जरिये जागरण व आरोग्य मंदिर ने आरोग्य का मंत्र दिया है। यह हमें अपने जीवन में उतारना चाहिए। इससे हम बहुत सी बीमारियों से बच सकते हैं। आरोग्य मंदिर के निदेशक डा. विमल मोदी का कहना है कि योग से लोग स्वस्थ होते हैं और पहले भी होते रहे हैं। इसके महत्व को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रतिष्ठा दी और विश्व योग दिवस की शुरुआत हुई। स्त्री एवं प्रसूति रोग विशेषज्ञ डा. स्मिता मोदी का कहना है कि योग का अभ्यास प्रतिदिन हो तो ही हम इसके प्रभाव को समझ पाएंगे। यह मनुष्य को पूरी तरह स्वस्थ रखने की क्षमता रखता है। यह हमारे जीवन का अंग होना चाहिए।

योगाचार्य डा. पीयूष पाणि पांडेय का कहना है कि योग व प्राणायाम के प्रयोग से हमें पर्याप्त मात्रा में आक्सीजन मिलता है और शरीर के भीतर का कार्बनडाइआक्साइड बाहर हो जाता है। इससे हम स्वस्थ होते हैं। प्राकृतिक चिकित्सक डा. राहुल का कहना है कि योग प्राकृतिक चिकित्सा का महत्वपूर्ण अंग है। यह केवल शरीर ही नहीं, मन व आत्मा पर भी कार्य करता है। इसके नियमित अभ्यास से हम ईश्वर को भी प्राप्त कर सकते हैं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.