Gorakhpur Weather News: झूमकर बरसे बादल, दो घंटे में 48 मिलीमीटर हुई वर्षा

Gorakhpur Weather News गोरखपुर में शुक्रवार सुबह पौने चार बजे से बरसना शुरू कर दिया। करीब दो घंटे के दौरान जिले में 48 मिलीमीटर बारिश हुई। इस दौरान गरज चमक के साथ कई स्थानों पर बिजली भी गिरी।

Pradeep SrivastavaFri, 03 Sep 2021 08:50 AM (IST)
गोरखपुर में इस वर्ष अगस्‍त माह में बार‍िश का ग्‍यारह वर्ष का र‍िकार्ड टूट गया है। - फाइल फोटो

गोरखपुर, जागरण संवाददाता। गुरुवार शाम से आसमान में जमे बादल शुक्रवार सुबह पौने चार बजे से बरसना शुरू कर दिया। करीब दो घंटे के दौरान जिले में 48 मिलीमीटर बारिश हुई। इस दौरान गरज चमक के साथ कई स्थानों पर बिजली भी गिरी। झमाझम बारिश होने से न्यूनतम तापमान में भी करीब तीन डिग्री सेल्सियस की गिरावट आई है। शुक्रवार सुबह न्यूनतम तापमान 23.2 डिग्री सेल्सियस के करीब रहा।

सुबह से ही बदला बदला रहा मौसम

बता दें पिछले दो दिनों से उमस से चलते लोग परेशान देखे जा रहे थे। शुक्रवार भाेर साढ़े तीन बजे से अचानक ठंडी हवाएं चलनी शुरू हो गईं। पौने चार बजे से बारिश होना शुरू हो गई। करीब दो घंटे तक गरज-चमक के साथ लगातार बारिश होती रही। दो घंटे के भीतर जिले में करीब 48 मिलीमीटर बारिश हो गई। इसके चलते लोगों को उमस से थोड़ी सी राहत मिली। न्यूनतम तापमान में भी तीन डिग्री सेल्सियस की गिरावट देखी गई है। यह अपने औसत तापमान से भी तीन डिग्री सेल्सियस कम है। आर्द्रता अधिकतम 88 व न्यूनतम 77 फीसद रही।

कल भी होगीा बार‍िश

मौसम विभाग ने पूर्वानुमान जताया है कि शनिवार को भी जिले में गरज चमक के साथ हल्की बारिश हो सकती है। शनिवार को दिन का अधिकतम तापमान 34 डिग्री सेल्सियस व न्यूनतम तापमान 27 डिग्री सेल्सियस के करीब रह सकता है। बता दें सितंबर माह की औसत वर्षा 228.8 मिलीमीटर है। दिन का औसत अधिकतम तापमान 32.7 डिग्री सेल्सियसस है, जबकि न्यूनतम तापमान 24.9 डिग्री सेल्सियस है। मौसम विभाग के मुताबिक आने वाले दिनों में न्यूनतम तापमान में 31 से 33 डिग्री सेल्सियस के करीब व न्यूनतम तापमान 24 से 26 डिग्री सेल्सियस के करीब रह सकता है। सितंबर में औसत वर्षा के कुल नौ दिन है। हालांकि इससे अधिक बारिश की संभावना है।

ग्यारह वर्षों में इस बार अगस्त में हुई सर्वाधिक बारिश

बीते 11 वर्षों में अगस्त में इस बार सर्वाधिक 465 मिलीमीटर से अधिक बारिश हुई है। पिछले 11 वर्षों में अगस्त माह में इतनी बारिश कभी नहीं हुई है। 2021 के आंकड़े को छोड़ दिया जाए तो अगस्त 2018 में सर्वाधिक 374 मिलीमीटर बारिश हुई है।

बीते अगस्त माह में 465 मिलीमीटर से अधिक हुई है बारिश

अगस्त माह की औसत वर्षा 339.5 मिलीमीटर है। इस बार औसत के सापेक्ष करीब 40 फीसद अधिक वर्षा हुई है। इसकी अगस्त 2020 से तुलना करें तो यह करीब तीन गुना अधिक है। बीते वर्ष अगस्त माह में 133.8 मिलीमीटर बारिश हुई थी। अगस्त माह में सबसे कम बारिश 2019 में हुई थी। 2019 में कुल 76.1 मिलीमीटर बारिश हुई थी।

बीते 10 वर्षों में अगस्त माह में कितनी हुई वर्षा (मिलीमीटर में)

वर्ष वर्षा

2011 371.3

2012 221.1

2013 268.8

2014 265.4

2015 362.2

2016 144.2

2017 364.0

2018 374.0

2019 76.1

2020 133.8

मानसून सीजन से सात फीसद अधिक हो चुकी है बारिश

मानसून सीजन (1 जून से 30 सितंबर तक) के सापेक्ष अब तक 1 जून से 31 अगस्त तक सात फीसद अधिक बारिश हो चुकी है। मानसून सीजन में औसत वर्षा 1137.5 मिलीमीटर है, जबकि अब 1218 मिलीमीटर बारिश हो चुकी है। एक जून से 31 अगस्त की औसत वर्षा 853.65 मिलीमीटर है। उसके सापेक्ष अब तक 42 फीसद अधिक वर्षा हो चुकी है। अगस्त में भारी वर्षा के चलते पीपीगंज, कैंपियरगंज, बड़हलगंज, गोला, पिपरौली क्षेत्र के हजारों हेक्टेयर खेत में पानी लगा हुआ है। इससे बड़े पैमाने पर धान की फसल बर्बाद हो चुकी है। मौसम विभाग ने पूर्वानुमान जताया है कि शनिवार से आंशिक रूप से बादल छाए रहेंगे।

आगामी चार सितंबर से हल्की बारिश के भी आसार जताए जा रहे हैं। इस दौरान अधिकतम तापमान 31 से 33 डिग्री सेल्सियस व न्यूनतम तापमान 26 से 27 डिग्री सेल्सियस के करीब रह सकता है। हवाएं अधिकतम 5 से 15 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चल सकती है। पुरुआ हवा चलने के कारण लोगों को उमस से राहत नहीं मिलेगी। मौसम विभाग के मुताबिक शुक्रवार को बादल छाए रहेंगे, लेकिन बारिश के आसार नहीं है। दिन का अधिकतम तापमान 33 डिग्री सेल्सियस व न्यूनतम तापमान 26 डिग्री सेल्सियस के करीब रह सकता है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.