प्रोफेसरों पर एससी-एसटी एक्‍ट का मुकदमा दर्ज होने पर शिक्षकों ने कुलपति को घेरा

गोरखपुर, (जेएनएन)। गोरखपुर विश्वविद्यालय के दो प्रोफेसरों के विरुद्ध एससी/एसटी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज होने से आक्रोशित दीनदयाल उपाध्याय उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय के शिक्षकों ने कुलपति का घेराव किया और जमकर नाराजगी दर्ज कराई। शिक्षकों में इस बात को लेकर खासतौर से आक्रोश था कि विश्वविद्यालय प्रशासन की त्वरित कार्यवाही और मुख्यमंत्री द्वारा इस मामले में सम्यक जांच से पूर्व पुलिस कार्यवाही रोकने की मांग के बावजूद शिक्षकों के खिलाफ दबाव में अभियोग पंजीकृत कर लिया गया है।
सुबह विश्वविद्यालय शिक्षक संघ के अध्यक्ष प्रो. विनोद कुमार सिंह के नेतृत्व में दो सौ से अधिक विश्वविद्यालय शिक्षक कुलपति कार्यालय पर इकट्ठा हो गए। सभी शिक्षक कुलपति के कार्यालय पहुंच गए और उनके सामने मुकदमे की कार्रवाई के खिलाफ अपना विरोध जताने लगे।
जांच रिपोर्ट आने तक पुलिस कार्यवाही रोकने की मांग
शिक्षकों की मांग थी कि विश्वविद्यालय प्रशासन, जिला प्रशासन से तत्काल बात करके विश्वविद्यालय की जांच रिपोर्ट आने तक पुलिस कार्यवाही स्थगित करने को कहे। शिक्षकों ने यह भी चेतावनी दी कि यदि ऐसा नहीं हुआ तो वह न केवल बेमियादी हड़ताल पर चले जाएंगे बल्कि प्रशासन के सामने सामुहिक गिरफ्तारी भी देंगे। कुलपति से मिलकर विरोध जताने के बाद आयोजित सभा को शिक्षक संघ अध्यक्ष प्रो. विनोद सिंह के अलावा के अलावा प्रो. चितरंजन मिश्र, प्रो. उमा श्रीवास्तव, प्रो. एके तिवारी, प्रो. ओपी पांडेय, डॉ. सुधाकर लाल श्रीवास्तव, प्रो. रविशंकर सिंह, प्रो. संदीप कुमार, प्रो. आलोक गोयल, प्रो. जितेंद्र मिश्र आदि संबोधित किया और सिलसिलेवार अपनी नाराजगी पर चर्चा करते हुए अग्रिम कार्यवाही की रणनीति बनाई।
काली पट्टी बांध कर अध्यापन करेंगे शिक्षक
विश्वविद्यालय परिसर के आंतरिक मामले में विश्वविद्यालय की जांच से पहले ही पुलिस कार्रवाई के विरोध में शिक्षकों ने बुधवार को काली पट्टी बांधकर अध्यापन कार्य करने का फैसला किया है। शिक्षकों ने इसे विरोध प्रदर्शन की शुरुआत बताई है और बड़े आंदोलन की चेतावनी दी है।
मुख्यमंत्री से मिलेंगे शिक्षक संघ अध्यक्ष
दो प्रोफेसरों के खिलाफ पुलिस कार्रवाई की परिस्थितियों की जानकारी की जानकारी देने के लिए शिक्षक संघ अध्यक्ष प्रो. विनोद कुमार सिंह बुधवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिलेंगे। अध्यक्ष मुख्यमंत्री से शिक्षकों के दुख और क्षोभ की वजह भी बताएंगे। प्रो. विनोद को सभी शिक्षकों ने इसके लिए सर्वसम्मति से अधिकृत किया है। मुख्यमंत्री योगी बुधवार को ब्रह्मालीन महंत दिग्विजय नाथ और महंत अवेद्यनाथ की पुण्यतिथि समारोह में हिस्सा लेने के लिए हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल देवव्रत के साथ गोरखपुर आ रहे हैं।
शिक्षकों संग आया कर्मचारी एसोसिएशन
दो प्रोफेसरों के ऊपर एससी-एसटी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज होने के मामले में विश्वविद्यालय कर्मचारी वेलफेयर एसोसिएशन ने शिक्षकों का साथ देने का एलान किया है। बैठक के बाद जारी एक विज्ञप्ति में एसोसिएशन की ओर से कहा है कि इस प्रकरण से विश्वविद्यालय की गरिमा प्रभावित हो रही है, जो दुख का विषय है। इसे लेकर जांच समिति की रिपोर्ट तत्काल प्राप्त किया जाए, जिससे किसी के खिलाफ अनावश्यक कार्रवाई न हो सके। जांच रिपोर्ट आने तक प्रो. द्वय की गिरफ्तारी न की जाए।
जांच रिपोर्ट आने के बाद जिसे दोषी पाया जाए, उसके खिलाफ कार्रवाई की जाए। विज्ञप्ति में यह भी कहा गया है कि कई संगठनों द्वारा इस मामले को अनायास ही मुद्दा बनाया जा रहा है, जो उचित नहीं है। बैठक में डॉ. बीएन सिंह, सुरेंद्र कुमार यादव, हरेंद्र सिंह, अरुण श्रीवास्तव, शोभित पांडेय, डॉ. चंद्रकांत चौबे, रवि वर्मा, निर्भय नारायण सिंह, अलख सिंह, नंदलाल चौहान, शमशेर सिंह, रामकेश सिंह आदि कर्मचारी नेता मौजूद रहे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.