गोरखपुर विश्‍वविद्यालय के क्रीडांगन में 40 मिनट बेहोश रही छात्रा, बेपरवाह रहे जिम्मेदार

दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय प्रशासन की 26 नवंबर को एक बड़ी लापरवाही सामने आई। विवि में स्नातक तृतीय वर्ष की एक छात्रा अचानक बेहोश हो गई। मौके पर मौजूद उसकी दो सहेलियों ने जब शोर मचाया तो आसपास मौजूद छात्र-छात्राओं में हड़कंप मच गया।

Navneet Prakash TripathiSat, 27 Nov 2021 04:16 PM (IST)
विवि के क्रीडांगन में 40 मिनट बेहोश रही छात्रा, बेपरवाह रहे जिम्मेदार। प्रतीकात्‍मक फोटो

गोरखपुर, जागरण संवाददाता। दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय प्रशासन की 26 नवंबर को एक बड़ी लापरवाही सामने आई। विवि में स्नातक तृतीय वर्ष की एक छात्रा अचानक बेहोश हो गई। मौके पर मौजूद उसकी दो सहेलियों ने जब शोर मचाया तो आसपास मौजूद छात्र-छात्राओं में हड़कंप मच गया। छात्रों ने मुख्य नियंता से लेकर अन्य कई जिम्मेदारों को जानकारी देने के लिए फोन मिलाया, लेकिन किसी ने सुधि नहीं ली। लगभग 40 मिनट तक बेहोश रहने के बाद अंतत: नगर विधायक की कार से छात्रा को जिला अस्पताल पहुंचाया गया।

अचानक बिगडी छात्रा की तबीयत

छात्रा नम्रता मिश्रा क्लास करने आई थी। दोपहर ढ़ाई बजे कला संकाय के सामने क्रीड़ांगन से सभी छात्राएं अपनी-अपनी कक्षाओं में जाने लगी। उसी दौरान अचानक नम्रता की तबीयत बिगड़ने लगी। तबीयत ठीक महसूस नहीं होने पर वह क्रीड़ांगन में जाकर बैठ गई। इसी दौरान उसे माइग्रेन का अटैक आ गया और वह वहीं बेहोश हो गई। कक्षा शुरू होने के बाद उसकी सहपाठी मुस्कान व उत्कंठा ने कुछ देर बाद पूर्व उसका नंबर लगाया, लेकिन नंबर नहीं उठा। किसी तरह उसने एक बार फाेन उठाया, लेकिन वह कुछ बोल सकी।

सांस लेने में हो रही थी परेशानी

स्थिति की गंभीरता भांप दोनों सहेलियां कक्षाएं छोड़कर सीधे क्रीडांगन में पहुंचीं। इस दौरान वहां कई और छात्र-छात्राएं जुट चुके थे। वह बेहोशी की हालत में थी। सांस लेने में भी उसे परेशानी हो रही थी। छात्राओं के शोर मचाने पर अन्य छात्र भी वहां जुट गए। छात्रों ने विश्वविद्यालय के मुख्य नियंता समेत कई जिम्मेदारों को फोन किया, लेकिन किसी का फोन नहीं उठा। इसके बाद छात्र कला संकाय भवन के पास स्थित गेट पर नम्रता को ले आए। वहां कुछ शिक्षक व कर्मचारी भी पहुंच गए। छात्र उनसे मदद की गुहार लगाते रहे, लेकिन किसी ने मदद नहीं की।

नगर विधायक के कार से अस्‍पताल पहुंचाई गई छात्रा

इस दौरान परिसर में नगर विधायक डा.राधा मोहन दास अग्रवाल अपने यहां होने वाले मांगलिक कार्यक्रम के सिलसिले में परिसर में पहुंचे थे। छात्रों ने लगभग साढ़े तीन बजे उनकी कार रोकी और उन्हें सारी बातें बताई। जिसके बाद नगर विधायक ने तत्परता दिखाते हुए अपनी कार छात्रा को अस्पताल ले जाने के लिए दे दी और स्वयं वहां से चालक को निर्देश देकर मोटरसाइकिल से निकल गए।

छात्रों ने की मदद

परिसर में छात्र नेता अनुराग मिश्र, प्रभात राय, नारायण दत्त पाठक, शिवम मिश्र तथा जिला अस्पताल में प्रिंस गुप्ता, अनूप यादव, प्रभात रंजन, आकाश पासवान, विनय यादव, उज्जवल पटेल, आकाश पासवान, हर्षित शाही व सतीश चंद्र ने छात्रा की मदद की। शाम साढ़े चार बजे परिजनों के पहुंचने के अस्पताल से छात्रों को छुट्टी मिली।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.