इस जिले में पंचायत भवन के लिए नहीं मिल रही जमीन, 14 जगहों पर प्रधानों ने कराई जमीन की व्‍यवस्‍था

ग्राम सचिवालयों को क्रियाशील करने की कवायद चल रही है। पंचायत भवनों में इन्‍हें शिफ्ट किया जाएगा। इसको लेकर पंचायत भवनों के निर्माण विस्‍तार आदि की प्रक्रिया तेज की गई है। कई ऐसी ग्राम पंचायतें हैं जहां भवन बनाने के लिए जमीन ही नहीं मिल पा रही है।

Rahul SrivastavaSun, 01 Aug 2021 06:12 PM (IST)
ग्राम पंचायत भवनों के लिए नहीं मिल रही जमीन। प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर

जागरण संवाददाता, गोरखपुर : जिले में ग्राम सचिवालयों को क्रियाशील करने की कवायद तेजी से चल रही है। ग्राम सचिवालय पंचायत भवनों में शिफ्ट किए जाएंगे, इसलिए नए पंचायत भवनों के निर्माण, एकल कक्ष वाले भवनों के विस्तार एवं पुराने भवनों के जीर्णोद्धार की प्रक्रिया भी तेज कर दी गई है। जिले में 24 ऐसी ग्राम पंचायतें हैं, जहां भवन बनाने के लिए जगह नहीं मिल पा रही। नए प्रधान जमीन ढूंढने में लगे हैं। संबंधित तहसीलों के एसडीएम से भी बात करने की तैयारी चल रही है।

1294 ग्राम पंचायतें हैं जिले में

जिले में 1294 ग्राम पंचायतें हैं। इनमें 400 ग्राम पंचायतों में नए भवन बनाए जाने हैं। 226 में पंचायत भवन बनाने का काम पूरा हो चुका है। 136 में निर्माण चल रहा है। जिन पंचायत भवनों में एक कक्ष है, वहां अतिरिक्त कक्ष भी बनाया जा रहा है। 38 ग्राम पंचायतों में भवन बनाने के लिए जमीन उपलब्ध नहीं थी। पुराने प्रधानों ने हाथ खड़े कर दिए थे, लेकिन 14 पंचायतों में नए प्रधानों ने जमीन की व्यवस्था कर ली है। यहां जल्द ही निर्माण शुरू हो जाएगा पर, कौड़ीराम, बांसगांव, बेलघाट व गगहा ब्लाकों में 24 पंचायतों में अभी भी जमीन की व्यवस्था नहीं हो पाई है।

सभी ग्राम पंचायतों में कराया जाना है पंचायत भवन का निर्माण

जिला पंचायत राज अधिकारी हिमांशु शेखर ठाकुर ने कहा कि सभी ग्राम पंचायतों में पंचायत भवन का निर्माण किया जाना है। अभी भी 24 गांवों में जगह उपलब्ध नहीं हो पाई है। प्रधान व सचिव जमीन उपलब्ध कराने के लिए लगे हैं। इस संबंध में एसडीएम से भी बात की जाएगी। जल्द ही जमीन मिल जाने की उम्मीद है।

डीपीआरओ ने किया भरपही एवं चांदबारी में निरीक्षण

जिला पंचायत राज अधिकारी ने इसी ब्लाक के ग्राम पंचायत भरपही एवं चांदबारी में निर्माणाधीन पंचायत भवन का निरीक्षण किया। वहां प्रयोग की जा रही निर्माण सामग्री की गुणवत्ता ठीक मिली। पंचायत भवन में चार कमरे, दो शौचालय व एक हाल बनाया जा रहा है। इस दौरान अपर जिला पंचायत राज अधिकारी राजेश कुमार ङ्क्षसह, सहायक विकास अधिकारी पंचायत जगदीश जायसवाल, स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण के समन्वयक बच्चा ङ्क्षसह आदि मौजूद रहे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.