शादी के लिए प्रेमी के घर अनशन पर बैठी थी युवती, प्रेमिका को साथ लेकर हुआ फरार

गोला थाना क्षेत्र के घरावल गांव में एक युवती शादी करने के लिए प्रेमी के घर अनशन पर बैठी थी। प्रेमी भी उसके साथी शादी करना चाह रहा था लेकिन उसके घर वाले इसके लिए राजी नहीं थे। लिहाजा प्रेमिका के साथ वह फरार हो गया।

Navneet Prakash TripathiPublish:Sun, 28 Nov 2021 02:23 PM (IST) Updated:Mon, 29 Nov 2021 09:11 AM (IST)
शादी के लिए प्रेमी के घर अनशन पर बैठी थी युवती, प्रेमिका को साथ लेकर हुआ फरार
शादी के लिए प्रेमी के घर अनशन पर बैठी थी युवती, प्रेमिका को साथ लेकर हुआ फरार

गोरखपुर, जागरण संवाददाता। गोला थाना क्षेत्र के घरावल गांव में एक युवती, शादी करने के लिए प्रेमी के घर अनशन पर बैठी थी। प्रेमी भी उसके साथी शादी करना चाह रहा था लेकिन उसके घर वाले इसके लिए राजी नहीं थे। प्रेमी ने घर वालों को मनाने का प्रयास किया लेकिन सफल नहीं हुआ। आखरिकार 27 नवंबर की रात वह प्रेमिका के साथ घर से फरार हो गया। मामले की किसी भी पक्ष ने फिलहाल पुलिस को सूचना नहीं दी है।

25 नवंबर को अनशन पर बैठी थी युवती

घरावल गांव के 25 वर्षीय गोलू शर्मा का पिछले चार साल से बगल के गांव में रहने वाली युवती से प्रेम संबंध था। एक सप्ताह पहले युवती के साथ गोलू घूमने गया था, लौटने के बाद उसने प्रेमिका को अपने परिचित व्यक्ति के घर रख दिया। अगले दिन गोलू उससे अपने घर जाने के लिए कहने लगा। जिसके बाद शादी की जिद करते हुए युवती शादी के लिए 25 नवंबर से प्रेमी के घर अनशन पर बैठी थी।

युवती की मां ने उसे घर ले जाने का किया था प्रयास

युवती की मां ने उसे साथ ले घर ले जाने का जाने के लिए आई तो मना कर दिा था। इस मामले को लेकर पंचायत भी हुई थी। लेकिन रात में ही अनशन पर बैठी प्रेमिका को साथ लेकर गोलू घर छोडकर फरार हो गया।

मातहत से रिश्वत मांगने वाला वरिष्ठ लिपिक जेल गया

मेडिकल क्लेम पास कराने के लिए मातहत से 4700 रुपये रिश्वत मांगने वाले सिंचाई विभाग के वरिष्ठ लिपिक विनोद कुमार को शाहपुर पुलिस ने जेल भेज दिया गया है। बांसगांव निवासी अखिलेश कुमार गोरखनाथ में स्थित सिंचाई विभाग में कनिष्ठ सहायक पद पर कार्यरत हैं।सितंबर माह में उनकी पत्नी को आपरेशन से बच्चा पैदा हुआ था।इलाज में खर्च हुए 47600 रुपये मेडिकल क्लेम लेने के लिए उन्होंने आवेदन किया था।वरिष्ठ लिपिक विनोद कुमार मेडिकल क्लेम पास करने के लिए 4700 रुपये रिश्वत मांग रहे थे।जिसकी शिकायत अखिलेश ने एंटी करप्शन में की थी।शुक्रवार को एंटी करप्शन की टीम ने वरिष्ठ लिपिक को घूस लेते रंगेहाथ गिरफ्तार कर लिया था।