किलिमंजारो चोटी पर तिरंगा फहराएगी जिले की बेटी

अफ्रीका महाद्वीप के तंजानिया में स्थित किलिमंजारो दुनिया की सात सबसे ऊंची चोटियों में शामिल

JagranWed, 01 Dec 2021 07:12 PM (IST)
किलिमंजारो चोटी पर तिरंगा फहराएगी जिले की बेटी

संतकबीरनगर: भारत वंशी कल्पना चावला ने अंतरिक्ष की उड़ान भरकर देश का मान बढ़ाया। इसी कड़ी में कबीर की धरती की बेटी भी अफ्रीका महाद्वीप स्थित तंजानिया के किलिमंजारो चोटी पर तिरंगा लहराने की तैयारी में लगी है। यह दुनिया की सात सबसे ऊंची चोटियों में शामिल है। इसके लिए देशभर से चयनित 21 प्रतिभागियों में उनका नाम भी शामिल है। प्रतियोगिता 15 दिसंबर से प्रस्तावित है जो मौसम को लेकर एक दो दिन आगे भी बढ़ सकती है। इसमें शामिल होने के लिए रजनी 12 दिसंबर को मुंबई से रवाना होंगी।

हैंसर बाजार ब्लाक के ग्राम करमा निवासी रामअद्या साव की पुत्री रजनी की बचपन से ही पर्वतारोहण में रुचि थी। उन्होंने स्नातक की पढ़ाई पूरी करने के बाद वर्ष 2016 में अटल बिहारी इंस्टीट्यूट मनाली और जवाहर लाल इंस्टीट्यूट श्रीनगर से बीएमसी (आरंभिक पर्वतारोहण प्रशिक्षण) का कोर्स पूरा किया। प्रशिक्षण के दौरान ही हिमांचल प्रदेश के हनुमान टिब्बा और श्रीनगर के सीटी धार चोटी को फतेह करके प्रशस्ति पत्र प्राप्त किया। अंतरराष्ट्रीय स्तर की पर्वतारोहण प्रतियोगिता में अफ्रीका महाद्वीप की सबसे ऊंची चोटी किलिमंजारो पर चढ़ने के लिए उन्हें चयनित किया गया है। फहराऊंगी तिरंगा, करूंगी राष्ट्रगान : रजनी

रजनी साव वैसे तो प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बेलहर कला पर संविदा एएनएम के पद पर कार्यरत हैं, परंतु उनके हौसले बुलंद हैं। वह अपनी सफलता के प्रति आश्वस्त हैं। पूरे आत्मविश्वास के साथ बुधवार को उन्होंने जागरण के साथ वार्ता में कहा कि किलिमंजारो चोटी पर पहुंचने के बाद पहले तिरंगा फहराकर राष्ट्रगान के बाद ही इसका संदेश आयोजकों को दूंगी। डीएम और एसपी ने सौंपा तिरंगा

चयनित होने के बाद रजनी को डीएम दिव्या मित्तल और एसपी डा. कौस्तुभ ने कलेक्ट्रेट सभागार में तिरंगा झंडा सौंपा था। रजनी का कहना है कि हाथों में तिरंगा मिलने के बाद वह भावुक हो गईं। उनका कहना है कि देश का प्रतिनिधित्व करने का मौका मिलना उनके जीवन की बड़ी उपलब्धि है। इसके लिए वह नियमित अभ्यास कर रही हैं। सुबह दौड़, शाम को जिम

पर्वतारोहण संस्थान के निर्देश के क्रम में रजनी हर दिन सुबह चार किमी दौड़ लगाने के बाद ड्यूटी के लिए निकल जाती हैं। भोजन में चावल नहीं लेने के साथ चाय से भी पूरा परहेज कर रही हैं। उनका कहना है कि शरीर में कैफीन की मात्रा बढ़ने से सांस फूलने की समस्या पैदा होने का डर रहता है। शाम को वह जिम करके खुद को फिट रखने में जुटी हैं।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.