top menutop menutop menu

करोड़ों रुपये लेकर कंपनी फरार, सीएमडी समेत सात पर मुकदमा Gorakhpur News

गोरखपुर, जेएनएन। देवरिया व सलेमपुर में अलकेमिस्ट कंपनी की शाखा खोलकर जनपद के लोगों से करोड़ों रुपये जमा कराने के बाद कंपनी के कर्मचारी कार्यालय में ताला बंद कर फरार हो गए। इस मामले में एजेंट ने एएसपी से शिकायत की। एएसपी के निर्देश पर कोतवाली पुलिस ने कंपनी के सीएमडी समेत सात के खिलाफ अमानत में ख्यानत, धोखाधड़ी समेत विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है। मुकदमा दर्ज करने के बाद पुलिस छानबीन में जुट गई है। 

2007 में खुली थी अलकेमिस्ट कंपनी

कोतवाली के देवरिया खास निवासी अवधेश कुमार चौरसिया ने पुलिस को दिए गए तहरीर में कहा है कि 2007 में देवरिया व सलेमपुर में इस कंपनी की शाखा खोली गई। मैं भी इस कंपनी का एजेंट बना। 2017 तक इस कंपनी में मैंने सैकड़ों लोगों का करोड़ों रुपये जमा कराया। जब हम लोग रुपये के भुगतान की बात कंपनी के कर्मचारियों से कहने लगे तो वह आजकल में दे देने की बात कहते रहे। इसके बाद हम लोगों ने सीएमडी से भी मुलाकात की। वह भी आश्वासन देते रहे। लेकिन  भुगतान नहीं किया गया। इस बीच देवरिया व सलेमपुर कार्यालय की दोनों शाखाओं में ताला बंद कर कंपनी के कर्मचारी फरार हो गए हैं।

इनके खिलाफ दर्ज हुआ मुकदमा

कोतवाली पुलिस ने कंपनी के सीएमडी पूर्व राज्य सभा सदस्य केडी सिंह, बीएम महाजन, सीएस जौली, कृष्ण कबीर, सूचेता खेमका, चंद्रशेखर चौहान, सुशील कुमार राय के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया। इस कंपनी का हेड आफिस चंडीगढ़ में है। कोतवाल टीजे ङ्क्षसह ने कहा कि मुकदमा दर्ज कर छानबीन की जा रही है।

तीन अज्ञात बदमाशों पर लूट का मुकदमा

देवरिया जिले के रामपुर कारखाना थाना क्षेत्र के ग्राम परुषोत्तमपुर के समीप देवरिया-कसया मार्ग पर पिकअप चालक से हुई 86 हजार रुपये की लूट के मामले में पुलिस ने तीन बदमाशों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। सिरसिया महदेवा निवासी अनिल मद्धेशिया गल्ला व्यवसायी हैं। देर शाम पिकअप पर गेहूं लादकर देवरिया स्थित एक फ्लोर मिल पर भेजे। चालक बाबूलाल व मुनीम रामाधार निवासी सिरसिया महदेवा फ्लोर मिल से 86 हजार रुपये लेकर गांव जा रहे थे। बाइक सवार बदमाशों ने पुरुषोत्तमपुर के समीप पिकअप रोक कर रुपये लूट लिए। इस मामले में पुलिस ने रामाधार की तहरीर पर तीन अज्ञात बदमाशों के खिलाफ लूट का मुकदमा दर्ज किया है। एसपी के निर्देश पर घटना के पर्दाफाश के लिए स्वाट टीम व सर्विलांस टीम को लगाया गया है। पुलिस क्षेत्रीय बदमाशों के शामिल होने की बात कह रही है। हालांकि अभी तक कोई सफलता हाथ नहीं लग सकी है। कुछ क्षेत्रीय बदमाशों के मोबाइल नंबर भी सर्विलांस पर लगाए गए हैं। प्रभारी निरीक्षक जयंत ङ्क्षसह ने कहा कि मामले की जांच की जा रही है। 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.