योगी ने विपक्ष पर साधा निशाना, कहा-किसान बिल की आड़ में माहौल दूषित करने की साजिश Gorakhpur News

देवरिया में कार्यक्रम को संबोधित करते मुख्‍यमंंत्री योगी आदित्‍यनाथ।
Publish Date:Sat, 26 Sep 2020 06:23 PM (IST) Author: Satish Shukla

गोरखपुर, जेएनएन। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने केंद्र व प्रदेश सरकार की विकास योजनाओं से लोगों को न केवल रूबरू कराया, बल्कि संसद में पारित किसान बिल का विरोध करने वाले विपक्षी दलों को आड़े हाथों भी लिया। उन्‍होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भाजपा सरकार किसानों के हित में कार्य कर रही है, वहीं विपक्ष बिल को लेकर जनता को बरगला रहा है। माहौल दूषित करने का काम कर रहा है। उनकी मंशा सफल नहीं होने दी जाएगी। किसानों के साथ छल करने की छूट नहीं दी जा सकती।

मुख्यमंत्री शनिवार को देवरिया चीनी मिल ग्राउंड पर आयोजित जनसभा को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान मुख्यमत्री ने देवरिया विधानसभा सीट पर होने वाले उपचुनाव को देखते हुए पार्टी कार्यकर्ताओं को न केवल सहेजा बल्कि जीत का मंत्र भी दिया। उन्होंने करीब 29 मिनट के भाषण में बगैर किसी का नाम लिए कहा कि एक नेता संसद में बैठते हैं, उन्हें पता नहीं कि गन्ना कहां पैदा होता है। उन्हें लगता है कि गन्ना आम की तरफ पेड़ पर लटकता है। ऐसे लोग किसानों की बात क्या करेंगे। प्रधानमंत्री ने किसानों के हित में बिल को पारित कराया है। इससे किसानों की आय दोगुना होगा। बिचौलियों से मुक्त करने की दिशा में यह कदम बढ़ाया गया है। किसान अपनी उपज कहीं भी बेच सकता है।

उन्होंने 2014 व 2016 में तत्कालीन सपा सरकार का जिक्र करते हुए कहा कि उस समय इंसेफ्लाइटिस से मौतों का आंकड़ा सैकड़ा में था, लेकिन इस समय महज सात मौतें हुई हैं। हमने शुद्ध् पेयजल का इंतजाम किया। जल निकासी की व्यवस्था का इंतजाम किया जा रहा है। पर्वों व त्योहारों के पूर्व सभी सड़कों को गड्ढामुक्त करने करने का निर्देश दिया गया है।

उन्होंने देवरिया विधानसभा सीट पर होने वाले उपचुनाव को देखते हुए कार्यकर्ताओं को न केवल नसीहत दी, बल्कि जोश भी भरा। उन्होंने कहा कि उपचुनाव के लिए कार्यकर्ता कमर कस लें। घर-घर जाकर सरकार की योजनाएं बताएं। प्रधानमंत्री कहते हैं कि बूथ जीता तो चुनाव जीता। मंडल के सभी पदाधिकारी बूथों को मजबूत करें। जनसंपर्क बढ़ाएं। लोगों को समझाएं कि भाजपा सरकार ने आवास, विद्युत कनेक्शन, रसोई गैस कनेक्शन, आयुष्मान भारत योजना व अन्य योजनाओं का लाभ दिया है। विकास की बात करें। 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.