संतकबीरनगर के सपा जिलाध्यक्ष व उनके भाई पर धोखाधड़ी व जालसाजी का मुकदमा

संतकबीर नगर जिले में खाद्यान्न बरामदगी मामले में सपा जिलाध्यक्ष गौहर अली खान एवं उनके भाई नबी सरवर के खिलाफ क्षेत्रीय विपणन अधिकारी अखिलेश कुमार की तहरीर पर दुधारा पुलिस ने जालसाजी व धोखाधड़ी का मुकदमा पंजीकृत किया है।

Rahul SrivastavaSun, 20 Jun 2021 06:21 PM (IST)
छापेमारी के दौरान बरामद हुई बोरियां। फाइल फोटो

गोरखपुर, जेएनएन : संतकबीर नगर जिले में खाद्यान्न बरामदगी मामले में सपा जिलाध्यक्ष गौहर अली खान एवं उनके भाई नबी सरवर के खिलाफ क्षेत्रीय विपणन अधिकारी अखिलेश कुमार की तहरीर पर दुधारा पुलिस ने जालसाजी व धोखाधड़ी का मुकदमा पंजीकृत किया है। यह कार्रवाई बीते शुक्रवार को सपा जिलाध्यक्ष के भाई नबी सरवर के गोदाम पर हुई छापेमारी में बरामद खाद्यान्न एवं उसकी जांच के बाद सामने आए तथ्य के आधार पर की गई है।

अनुचित लाभ लेने की हुई पुष्टि

जांच में इस बात की पुष्टि हुई है कि गोदाम मालिक नबी सरवर व ट्रक मालिक गौहर अली खान द्वारा बाजार से कम मूल्य पर क्रय किए गए गेहूं को सरकारी बोरे में भरवाकर सरकारी खरीद केंद्र पर बेचे जाने संप्रदान कर सरकारी योजनाओं का अनुचित लाभ लिए जाने का प्रयास किया जा रहा था। उल्लेखनीय है कि बीते शुक्रवार की देर रात 11 बजे दुधारा थाना क्षेत्र के इस्लामाबाद मोहल्ले में खलीलाबाद के नायब तहसीलदार विजय कुमार गुप्ता प्रभारी निरीक्षक दुधारा विनय कुमार पाठक ने नवी सरवर के गोदाम में छापेमारी की। पास में खड़े एक ट्रक में 245 बोरी गेहूं पाया गया था। गोदाम में जांच के दौरान 180 बोरी चावल व दूसरे कमरे से 150 बोरी गेहूं प्रत्येक का वजन 50 किलोग्राम सरकारी बोरियों में भरा हुआ बरामद हुआ था।

मामला संदिग्‍ध होने पर गोदाम कर दिया सील

मामला संदिग्ध प्रतीत होने पर नायब तहसीलदार ने गोदाम को सील करते हुए ट्रक को कब्जे में लिया था। उक्त मामले की जांच जिला विपणन अधिकारी रूपेश सिंह, मंडी सचिव अमित गुप्ता, नायब तहसीलदार विजय गुप्ता द्वारा की गई। जांच में सरकारी योजनाओं का अनुचित लाभ दिए जाने के प्रयास की पुष्टि होने पर पूरी रिपोर्ट डीएम को सौंपी गई। जिलाधिकारी दिव्या मित्तल की अनुमति मिलने के बाद देर रात क्षेत्रीय विपणन अधिकारी अखिलेश कुमार ने दुधारा थाने पर सपा जिलाध्यक्ष व उनके भाई पर मुकदमा पंजीकृत कराया है।

चावल बरामदगी को नहीं बनाया कार्रवाई का आधार

पुलिस- प्रशासन की छापेमारी में बरामद 180 बोरी चावल जोकि सरकार द्वारा अनुमन्य बोरियों में रखा गया था। इसको क्षेत्रीय विपणन अधिकारी ने अपने दिए गए तहरीर में कार्रवाई का आधार नहीं बनाया है। सवाल खड़ा होता है कि क्या चावल बरामदगी की जांच पूरी नहीं हुई या आरोपित के पास चावल बरामदगी से जुड़े अभिलेख मौजूद थे। चर्चा है कि आपूर्ति विभाग इस संदर्भ में जांच शुरू करेगा। जिसके बाद मामला स्पष्ट होने पर अग्रिम कार्रवाई होगी।

दो लोगों के खिलाफ दर्ज किया गया है मुकदमा

प्रभारी निरीक्षक दुधारा विनय कुमार पाठक ने कहा कि क्षेत्रीय विपणन अधिकारी की तहरीर पर दो लोगों के खिलाफ सुसंगत धाराओं में मुकदमा पंजीकृत किया गया है। साक्ष्य संकलन के आधार पर अग्रिम कार्रवाई की जाएगी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.