वायरल आडियो प्रकरण जांच के लिए पहुंची टीम, भग्गोभार, असाधरपुर, जमुनी के कार्यकर्ता के बयान दर्ज Gorakhpur News

डुमरियागंज ब्लाक के पास डीसीएम पर लदी घी को लेकर जाता चालक।

सिद्धार्थनगर में आंगनबाड़ी मुख्य सेविका ने फोन पर असाधरपुर कार्यकर्ता से इक्का-दुक्का पात्रों को राशन बांटकर बाकी का बेचकर पैसा देने का दबाव बनाया। आडियो वायरल होने की खबर प्रकाशित की गई तो मामले की जांच शुरू हो गई।

Publish Date:Sun, 24 Jan 2021 11:10 AM (IST) Author: Rahul Srivastava

गोरखपुर, जेएनएन : सिद्धार्थनगर जिले में आंगनबाड़ी मुख्य सेविका ने फोन पर असाधरपुर कार्यकर्ता से इक्का-दुक्का पात्रों को राशन बांटकर बाकी का बेचकर पैसा देने का दबाव बनाया। आडियो वायरल होने के बाद खबर प्रकाशित की गई तो अब मामले की जांच शुरू हो गई। मामले में जांच के लिए सीडीपीओ उसका, जोगिया और बर्डपुर जांच करने पहुंचे। उन्होंने भग्गोभार, जमुनी और असाधरपुर कार्यकर्ताओं के बयान दर्ज किए।

मुख्‍य सेविका पर कसता जा रहा शिकंजा

डुमरियागंज ब्लाक क्षेत्र की मुख्य सेविका ज्योति सिंह पर धनउगाही के मामले में शिकंजा कसता जा रहा है। जागरण ने वायरल वीडियो की खबर प्रकाशित की थी। मामले को संज्ञान में लेते हुए जिला कार्यक्रम अधिकारी ने तीन सदस्यीय जांच टीम बनाई। सीडीपीओ आरके त्रिपाठी, संजय सिंह, निर्भय सिंह सीडीपीओ कार्यालय डुमरियागंज पहुंचे और कार्यकर्ताओं से अलग-अलग बयान लिया। सीडीपीओ उसका बाजार आरके त्रिपाठी ने कहा कि गंभीर प्रकरण है। जांच के बाद रिपोर्ट जिला कार्यक्रम अधिकारी को सौंपी जाएगी। कार्रवाई उन्ही के स्तर से की जाएगी। आंगनबाड़ी एवं सहायिका एसोसिएशन की प्रदेश महामंत्री प्रभावती देवी ने बताया कि जांच के नाम पर खानापूर्ति हुई है। हमारी बात जांच टीम ने नहीं सुनी।

दो दिन से खड़ी है घी लदी डीसीएम

आंगनबाड़ी केंद्रों के मार्फत किशोरियों में घी का वितरण होना है। गोरखपुर से पराग घी की 770 पेटी घी लेकर पहुंचे डीसीएम ड्राइवर राजेश दो दिन से बेवां व भड़रिया का चक्कर लगा रहे हैं। उनके पास मुख्य सेविका का फोन नंबर है, जिनसे बात करने पर ड्राइवर को कभी बेवां तो कभी डुमरियागंज- बैदौलागढ़ बुलाया गया, लेकिन गाड़ी अबतक अनलोड नहीं हो सकी। ड्राइवर ने जांच टीम के समक्ष अपनी पीड़ा बयां की। सीडीपीओ रोमा सिंह ने बताया कि डीसीएम खाली कराने के निर्देश दिए गए है।

शत्रु संपत्ति घोषित करने के लिए नोटिस

रामवापुर उर्फ नेबुआ नौरंगिया राजस्व ग्राम में लगभग एक बीघा भूमि रियाज, फैयाज पुत्रगण नियाज जो देश विभाजन के उपरांत पाकिस्तान चले गए। उक्त संपत्ति को शत्रु संपत्ति घोषित करने के लिए नोटिस भेजा गया है। साथ ही जानकारी मिली है कि नियाज इस क्षेत्र के जमीदार थे। इनकी जमीन वेतनार मुस्तकहम पेडारी, गागापुर आदि जगह भी है। तहसीलदार को उक्त भूमि में झंडी लगाने तथा नोटिस सार्वजनिक स्थान पर चस्पा करने और खंड विकास अधिकारी भनवापुर को डुग्गी मुनादी करने के लिए निर्देशित किया गया है । एक सप्‍ताह का समय दिया गया है, तत्‍पश्‍चात शत्रु संपत्ति घोषित करने के लिए रिपोर्ट डीएम को प्रेषित की जाएगी। यह जानकारी एसडीएम त्रिभुवन ने दी।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.