समस्याओं के निराकरण की मांग को लेकर 25 सितंबर को मशाल जुलूस निकालेंगे शिक्षक

विभिन्‍न मांगो को लेकर शिक्षकों ने 25 सितंबर को मसाल जुलूस निकाने का फैसला लिया है। जुलूस निकालने के बाद वे जिलाधिकारी को अपनी मांगों से संबंधित मुख्‍यमंत्री को संबोधित ज्ञापन भी सौंपेंगे। उधर बिजली विभाग के अभियंताओं का प्रदर्शन भी जारी है।

Navneet Prakash TripathiThu, 23 Sep 2021 02:05 PM (IST)
समस्याओं के निराकरण की मांग मसाल जुलूस निकालेंगे शिक्षक। प्रतीकात्‍मक फोटो

गोरखपुर, जागरण संवाददाता। प्रदेशीय नेतृत्व के आह्वान पर समस्याओं के निराकरण में सरकार के शिथिलता बरते जाने को लेकर शिक्षक 25 सितंबर को सायंकाल मशाल जुलूस निकालेंगे। इस दौरान उन्नीस सूत्रीय मांगों से संबंधित मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन जिलाधिकारी को सौपेंगे।

इंदिरा तिराहे से शास्‍त्री चौराहे तक जुलूस निकालकर करेंगे प्रदर्शन

यह निर्णय उप्र माध्यमिक शिक्षक संघ की 22 सितंबर को बेतियाहाता स्थित कैंप कार्यालय पर आयोजित बैठक में लिया गया। बैठक में जिलाध्यक्ष डा.दिग्विजय नाथ पांडेय ने बताया कि मशाल जुलूस सायं 5.30 बजे इंदिरा तिराहे से निकलेगा और शास्त्री चौक पहुंचकर जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपने के साथ समाप्त होगा। उन्होंने शिक्षकों व संगठन पदाधिकारियों से आंदोलन को सफल बनाने की अपील की। संचालन करते हुए जिला मंत्री श्यामनारायण ङ्क्षसह ने कहा कि शिक्षक संघ सरकार की शिक्षक, कर्मचारी विरोधी नीतियों के विरोध में लोकतांत्रिक तरीके से हर संघर्ष के लिए तैयार है। बैठक में मंडलीय मंत्री ज्ञानेश राय, वरिष्ठ उपाध्यक्ष डा.अरङ्क्षवद चौरसिया, दुर्गेश मिश्रा, सुनील कुमार तिवारी, शैलेंद्र सिंह, जितेंद्र सिंह, मुरलीधर त्रिपाठी, शैलेंद्र पाठक, डा.आनंद कुमार सिंह, अविनाश मिश्र, वेद प्रकाश सिंह, सर्वेश कुमार, कौशलेश सिंह, अरविंद सिंह, सतीश शुक्ला, कमलेश पाण्डेय, सिद्धार्थ शंकर मिश्र तथा डा.अरुनेश सिंह आदि मौजूद रहे।

उपवास रख अभियंताओं ने दूसरे दिन भी किया प्रदर्शन

शीर्ष ऊर्जा प्रबंधन द्वारा अवर अभियंता संवर्ग की अनदेखी किए जाने से नाराज अवर अभियंताओं ने लगातर दूसरे दिन उपवास रखा। साथ ही मुख्य अभियंता कार्यालय के सामने प्रबंधन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। वहीं नाराज अभियंताओं ने सीयूजी नंबर मंगलवार की सुबह से ही बंद है।

वायदा करने के बाद भी मांगों को पूरा नहीं कर रहा निगम

राज्य विद्युत परिषद जूनियर इंजीनियर्स संगठन के क्षेत्रीय अध्यक्ष इं पुनीत कुमार निगम ने कहा कि प्रबंधन द्वारा संवर्ग की ज्वलंत मांगों को पूरा करने के वायदे के बावजूद मांगों की अनदेखी करना निदनीय है। संगठन के सदस्य पूरे मन से निगम और जनता की सेवा में लगे हुए हैं। इसके बाद भी समस्याओं का निराकरण न होने से सदस्यों में रोष बढ़ रहा है। मांगें पूरी न होने पर प्रबंधन एवं सरकार को इसका परिणाम भुगतना पड़ सकता है। वरिष्ठ उपाध्यक्ष ई. महेंद्र नाथ भारती ने कहा कि संगठन के साथ प्रबंधन द्वारा पूर्व में बनी सहमती के अनुसार आदेश जारी नही किए जा रहे हैं। शीर्ष ऊर्जा प्रबंधन के संवेदनहीन गैर जिम्मेदाराना रवैये के कारण हमलोगों का आंदोलन चौथे चरण में आ चुका है।

अभियंताओं के आंदोलन की वज से प्रभावित हो रहा कामकाज

आंदोलन की वजह से बहुत से विभागीय कार्य भी प्रभावित हो रहे हैं। क्षेत्रीय सचिव पुष्कर उपाध्याय ने कहा कि मरम्मत के सामानों और मैन पावर की बहुत कमी है। चार वर्षों में नेटवर्क लगभग दोगुना हो गया है, लेकिन मैन पावर नियोजित नहीं किया गया जिससे इस संवर्ग को बेहतर सेवा देने में कठिनाई हो रही है। उन्होंने बताया कि राज्य विद्युत परिषद जूनियर इंजीनियर्स संगठन के आह्वान पर आंदोलन गुरुवार की सुबह 10 बजे तक चलेगा। उपवास में दीपक गुप्ता, विजय, गौतम कुमार, अमित प्रताप सिह, एनके ङ्क्षसह, आरके ङ्क्षसह, प्रमोद यादव, शिवम चौधरी, अमित यादव, दीनदयाल, अरविंद सिंह, संदीप कुमार, मनीष कुमार, शशांक, दीनानाथ शर्मा, रोशन कुमार आदि मौजूद रहे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.