दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

टीकाकरण पर जोर,व्यवस्था कमजोर

टीकाकरण पर जोर,व्यवस्था कमजोर

सोमवार को जिले में 896 लोगों को लगाए गया कोरोना का टीका खुद को सुरक्षित रखने के लिए जरूर लगवाएं टीका कोई खतरा नहीं

JagranTue, 11 May 2021 05:46 AM (IST)

जागरण संवाददाता, बस्ती : कोरोना संक्रमण के फैलाव को कम करने के लिए बचाव और कोविड टीकाकरण पर सरकार जोर दे रही है जबकि व्यवस्था कमजोर है। कोविन पोर्टल पर बस्ती जिले में 95 जगहों पर टीकाकरण केंद्र दिखाया जा रहा है जबकि हकीकत कुछ और ही है। कैली, जिला अस्पताल, महिला अस्पताल के अलावा 32 सामुदायिक और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर टीकाकरण चल रहा है। सामुदायिक और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में अधिकांश पर टीके नहीं लगाए जा रहे हैं। इसके पीछे स्वास्थ्य विभाग के अफसरों का तर्क है कि एक वायल में दस लोगों को टीका लगाया जाना है। जहां इससे कम लोग पहुंचते हैं टीकाकरण रोक दिया जाता है।

टीकाकरण के प्रभारी अधिकारी एसीएमओ डा.फखरेयार हुसेन ने सफाई दी कि टीके की एक-एक बूंद का हिसाब देना पड़ रहा है। इसलिए केवल बड़े केंद्रों पर ही टीकाकरण का कार्य चल रहा है। कोरोना क‌र्फ्यू के चलते कम लोग घर से बाहर निकल रहे हैं। जबकि टीकाकरण केंद्रों पर काफी लोग लौटा दिए जा रहे हैं। महिला अस्पताल में रमेश निवासी मड़वानगर, गोपाल निवासी महरीखांवा हो इसलिए लौटा दिया गया क्योंकि यह बिना पंजीकरण कराए केंद्र पर टीका लगवाने पहुंच गए थे। पहले केंद्र पर टीके लिए पंजीकरण कर लिया जाता था अब पहले से ही पंजीकरण कराना अनिवार्य कर दिया गया है। इस तरह टीकाकरण को लेकर जागरूकता बढ़ी है।

टीकाकरण प्रभारी डा.एके कुशवाहा के अनुसार टीका लगने के बाद कोविड-19 संक्रमण का खतरा कम हो जाता है। खुद को सुरक्षित करने के लिए टीका अवश्य लगवाएं। कहा बस्ती जिले में 18 साल के ऊपर के उम्र वालों को टीका लगवाने के लिए अभी पंजीकरण कराया जा रहा है। 45 साल से ऊपर के लोगों को प्रथम और द्वितीय डोज के टीके लगाए जा रहे हैं। जिले में टीके की कोई कमी नहीं है। महिला अस्पताल में सोमवार को 110 लोगों को टीके लगाए गए जबकि पूरे जिले में 896 लोगों को टीके लगाए गए।

--

फोटो- 10 सिविल लाइंस की रहने वाली मीना श्रीवास्तव ने बताया कि वह कोविड-19 का पहला डोज ले चुकी है। दूसरी डोज 19 मई को लगेगी। कहा कि टीका लगवाने से कोई समस्या नहीं हुई है। टीका लगवाने के बाद किसी तरीके की कोई थकान नहीं महसूस हो रही है। कहा की खुद को सुरक्षित रखने के लिए टीका लगवाना जरूरी है।

--

फोटो- 11

गांधी नगर की रहने वाली पूजा ने बताया कि सोमवार को उन्होंने पहला टीका लगवाकर खुद को सुरक्षित किया है। कहा कि टीका लगवाने के बाद थोड़ी परेशानी हुई। कोरोना से जंग जीतने के लिए टीका अवश्य लगवाएं। अफवाहों से दूर रहें। टीका लगवाने में कोई खतरा नहीं है बल्कि यह सुरक्षा कवच है।

---

फोटो- 12

डा. अवधेश उपाध्याय ने कहा कि टीका पूरी तरह से सुरक्षित है। इसमें कोई खतरा नहीं है। कोरोना से जंग जीतने के लिए यह जरूरी है। इसलिए लोगों को टीका जरूर लगवाना चाहिए। अफवाहों को दरकिनार करके टीका लगवाएं और खुद को सुरक्षित रखें।

---

फोटो- 13

अधीशासी अधिकारी अखिलेश त्रिपाठी ने कहा कि लोग घबराएं नहीं टीका जरूर लगवाएं। टीके से ही कोरोना से बचा जा सकता है। टीका लगवाने में उनको कोई परेशानी नहीं हुई। विश्वास है कि यह टीका हमें कोरोना से बचाएगा। इसलिए आप भी जरूर टीका लगवाएं। सरकारी अस्पतालों में यह निश्शुल्क लगवाया जा रहा है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.