छोटे भाइयों ने ही अपशब्द बोलने पर मार डाला था एसएसओ को

कुशीनगर में तैनात एसएसओ की हत्या का पर्दाफाश देवरिया पुलिस ने कर दिया। उनकी हत्‍या उनके ही भाइयों ने अपशब्‍द बोलने पर कर दी थी। पुलिस ने बाल अपचारी समेत दोनों भाइयों को पकड़ लिया। घटना में प्रयुक्त राड भी बरामद कर लिया।

Rahul SrivastavaTue, 03 Aug 2021 10:30 AM (IST)
अपशब्‍द बोलने पर एसएसओ को छोटे भाइयों ने मार डाला। प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर

गोरखपुर, जागरण संवाददाता : कुशीनगर जनपद के हाटा के विद्युत उपकेंद्र पर तैनात एसएसओ की हत्या का पर्दाफाश काफी चौकाने वाला रहा। एसएसओ की हत्या कोई और नही, बल्कि नाबालिग समेत दो सगे भाइयों ने अपशब्द बोलने पर पीटकर की थी। पुलिस ने बाल अपचारी समेत दोनों भाइयों को पकड़ लिया। साथ ही घटना में प्रयुक्त राड भी बरामद कर लिया है। घटना का पर्दाफाश करने वाली टीम को एसपी ने दस हजार रुपये का इनाम दिया है।

28 जुलाई को मिला था शव

देवरिया के पुलिस लाइन सभागार में घटना का पर्दाफाश करते हुए पुलिस अधीक्षक डा.श्रीपति मिश्र ने बताया कि 28 जुलाई की सुबह बरियारपुर थाना क्षेत्र के मुंडेरा चौराहे के समीप से शव बरामद किया गया। शव की शिनाख्त सरैया के रहने वाले अरविंद कुमार यादव के रूप में हुई। पर्दाफाश में जुटी पुलिस को सीसीटीवी फुटेज से अहम सुराग हाथ लग गए। पुलिस ने अरविंद के छोटे भाई शुभम यादव व उससे छोटे नाबालिग भाई को भी हिरासत में लिया और पूछताछ की।

सोने पर शुभम को अरविंद ने बोला था अपशब्‍द

शुभम ने बताया कि जब अरविंद गांव से ड्यूटी पर जाने के लिए साकेत नगर स्थित मकान पर पहुंचे तो उस समय शुभम सो रहा था। अरविंद ने यह देख शुभम को अपशब्द बोला, इससे नाराज होकर शुभम ने गाड़ी से निकले पाइप उठाकर अरविंद की पिटाई कर दी, जिससे उनकी मौके पर ही मौत हो गई। इसके बाद शुभम अपने 13 वर्षीय छोटे भाई के सहयोग से बोरे में शव रख कर फेंक आया। जबकि गाड़ी को तिलई बेलवा के समीप छोड़ कर चले आए, ताकि कोई यह न जान पाए कि हत्या कहां हुई है?

ऐसे पुलिस को मिली सफलता

जांच में जुटी पुलिस ने बाइक मिलने के बाद खरजरवा जाने वाली सड़क की पटरी पर लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज को खंगालना शुरू किया तो देखा कि बाइक से बोरा लेकर जाते हुए शुभम नजर आ रहा है। छोटा भाई एसएसओ की बाइक पैदल लेकर जाते व छोड़कर पैदल ही आते नजर आया है। इसके बाद पुलिस ने दोनों से सख्ती से पूछताछ की।

छोटी बहन गई थी बाजार

साकेत नगर मकान पर शुभम, अपने छोटे भाई व बहन रंजना यादव के साथ रहता था। घटना के दिन रंजना बाजार गई थी। वह पांच बजे घर लौटी तो अपने भाई के बारे में जानकारी शुभम से पूछी। दोनों भाइयों ने अरविंद के ड्यूटी पर चले जाने की बात बताई। इसकी भनक तक उसे नहीं लगी।

अब हो रहा अफसोस

शुभम ने कहा कि अरविंद दोनों भाइयों को बहुत प्यार करते थे। जब भी ड्यूटी से आते तो रुपये के अलावा सामान भी देते। पढ़ाई पर उनका जोर था। शुभम इंटर तो छोटा भाई कक्षा सात का छात्र है। शुभम ने कहा कि उसका मारने का इरादा नहीं था। उससे गलती से राड चल गया और अरविंद की मौत हो गई। बचने के लिए दोनों भाइयों ने उसे बोरे में बांधकर फेंक दिया था।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.