हत्थे चढ़ा डिक्की से रुपये उड़ाने वाला गिरोह

एसओजी एवं पुलिस की संयुक्त टीम के हाथ बड़ी सफलता लगी है। शुक्रवार को सनई-पकड़ी मार्ग पर वाहन चेकिग के दौरान बाइक की डिक्की तोड़कर रुपये चुराने वाले गैंग के तीन सदस्यों को गिरफ्तार किया है। उनके पास से एक बाइक 38500 रुपये नकद दो चाबी का गुछा और तीन मोबाइल बरामद किया है।

JagranFri, 03 Dec 2021 06:25 PM (IST)
हत्थे चढ़ा डिक्की से रुपये उड़ाने वाला गिरोह

सिद्धार्थनगर: एसओजी एवं पुलिस की संयुक्त टीम के हाथ बड़ी सफलता लगी है। शुक्रवार को सनई-पकड़ी मार्ग पर वाहन चेकिग के दौरान बाइक की डिक्की तोड़कर रुपये चुराने वाले गैंग के तीन सदस्यों को गिरफ्तार किया है। उनके पास से एक बाइक, 38500 रुपये नकद, दो चाबी का गुच्छा और तीन मोबाइल बरामद किया है। पकड़े गए आरोपितों ने जिला अस्पताल में 28अक्टूबर को इलाज कराने आए सदर थाना क्षेत्र के रोंवापार गांव निवासी गल्ला कारोबारी जयप्रकाश जायसवाल के बाइक की डिग्गी तोड़कर पांच लाख रुपये और शोरहतगढ़ में दो बार में 40-40 हजार रुपये चुराने की बात स्वीकार्य की है। पकड़े गए आरोपित गोंडा जनपद के निवासी हैं। यह जानकारी पुलिस लाइन सभागार में आयोजित पत्रकार वार्ता में एसपी डा. यशवीर सिंह ने दी। उन्होंने सफलता पर एसओजी एवं पुलिस टीम को 20 हजार रुपये का पुरस्कार देने के साथ पकड़े गए आरोपितों पर गैंगेस्टर लगाने की घोषणा की। सभी के खिलाफ विभिन्न थाना क्षेत्रों में 20 मुकदमें पंजीकृत हैं।

एसपी डा. सिंह ने बताया कि रामस्वरूप पुत्र श्यामलाल बरुआर निवासी डुमरियाडीह थाना वजीरगंज जनपद गोंडा गैंग का सरगना है। यह गैंग बनाकर कस्बे एवं बैंकों के आसपास घूमते रहते हैं, जब कोई व्यक्ति बैंक से अधिक धन लेकर बाहर आता है, उसकी रेकी करते रहते हैं। ज्यों ही उस व्यक्ति द्वारा जरा सी लापरवाही बरती जाती है, अथवा वह गाड़ी छोड़कर कहीं दूर हटता है, त्यों ही उस गाड़ी की डिक्की तोड़कर रखा हुआ धन निकल लेते हैं साथी उसे लेकर फरार हो जाते हैं। कभी- कभार राह चलते हुए वाहन सवारों को गिरे हुए रुपये आदि का लालच देकर भी उनके साथ घटना को अंजाम देते हैं। एसपी डा. यशवीर सिंह ने बताया कि गोंडा, बस्ती, संतकबीरनगर, बहराइच, महराजगंज, बाराबंकी, लखनऊ, वाराणसी, गाजीपुर, प्रयागराज, श्रावस्ती, अमेठी, सुल्तानपुर के अतिरिक्त हरिद्वार एवं जम्मू और कश्मीर में भी घटनाओं को अंजाम देने की बात स्वीकार्य की है।

इस मौके पर एसओ सदर तहसीलदार सिंह, एसओजी प्रभारी जीवन त्रिपाठी, उपनिरीक्षक चंदन कुमार, उपनिरीक्षक अमित कुमार, सुरेंद्र कुमार सिंह,रमेश कुमार, राजीव शुक्ला, पवन तिवारी, अवनीश सिंह,विवेक कुमार मिश्रा ने अहम भूमिका निभाई।

30 नवंबर को गोंडा में दिया था घटना को अंजाम

एसपी ने बताया कि पकड़े गए आरोपितों ने गोंडा कोतवाली क्षेत्र में एक कार से नौ लाख 40 हजार रुपये चुराया था। इसके अलावा गोरखपुर के कैंट थाना क्षेत्र में तीन घटनाओं को अंजाम देना स्वीकार्य किया है।

इन थानों में दर्ज हैं मुकदमें

पकड़े गए आरोपितों पर बहराइच जनपद के हरदी, कोतवाली, बस्ती के कोतवाली, परशुरामपुर, गोंडा के इटियाथोक, वजीरगंज, धानेपुर, तरबगंज, बाराबंकी के रामनगर,श्रावस्ती के इकौना, अमेठी कोतवाली, और गोरखपुर कैंट में तीन सहित कुल 20 मुकदमें दर्ज हैं।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.