तो टीके से वंचित लाखों की जिंदगी पड़ सकती है खतरे में

संतकबीरनगर जिले में 20 लाख लोगों को टीका लगना है। अभी तक सिर्फ 72 हजार लोगों का ही टीकाकरण हो सका है। टीका की उपलब्‍धता न होने की वजह से यह सारी दिक्‍कत आ रही है। जिसके चलतेे लोग परेशान हैं।

Navneet Prakash TripathiSun, 15 Aug 2021 01:10 PM (IST)
संतकबीरनगर में कोरोना संक्रमण की जांच करते स्‍वास्‍थ्‍यकर्मी। जागरण

गोरखपुर, जागरण संवाददाता। संतकबीरनगर जिले में टीके की उपलब्धता की स्थिति आगे भी यही रही तो इस जनपद के लाखों लोगों की जिंदगी खतरे में पड़ सकती है। हालांकि स्वास्थ्य महकमे के अधिकारी शत-प्रतिशत लोगों को टीका लगाने की कार्य योजना बनाने का दावा कर रहे हैं, लेकिन मांग के अनुरूप टीका न मिलने की वजह से गांवों में नियमित रूप से शिविर लग नहीं पा रहा है। स्वास्थ्य महकमे की मंशा पूरी नहीं हो पा रही है।

20 लाख लोगों में सिर्फ 72 हजार को ही लग पाया है टीका

जनपद की कुल आबादी करीब 20 लाख है। जिले में शुक्रवार तक तीन लाख 72 हजार 662 लोगों को कोरोनारोधी टीका लग पाया है। स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों पर गौर करने पर पाएंगे कि इस जिले में लक्ष्य 7421 के सापेक्ष 6719 (90.54 फीसद) स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को कोरोना के टीके लगे हैं। वहीं लक्ष्य 6608 की जगह 5939(89.88 फीसद) फ्रंटलाइन वर्कर्स को कोरोना के टीके लगे हैं। जबकि 45 वर्ष से 60 साल के बीच के 2 लाख 79 हजार 239 लोगों को कोरोना टीका लगाने का लक्ष्य रखा गया था। इसके सापेक्ष एक लाख 67 हजार 634 (60.03 फीसद) लोगों को यह टीका लगा है। इसके अलावा 18 वर्ष से 44 साल के एक लाख 46 हजार 135 लोगों को कोरोना टीका लगाने का लक्ष्य रखा गया था। लक्ष्य की तुलना में एक लाख 62 हजार 897 (111.47 फीसद) लोगों को यह टीका लगा है।

लक्ष्‍य की तुलना में 78 फीसद कम है टीकाकरण

इस प्रकार इन चार श्रेणी के 4 लाख 39 हजार 403 लोगों को कोरोना टीका लगाने का लक्ष्य रखा गया था। लक्ष्य की तुलना में 3 लाख 43 हजार 189(78.10 फीसद) लोगों को यह टीका लगा है। हाल के दिनों में केरल, महाराष्ट्र सहित कई राज्यों में कोरोना के मामले एक बार फिर बढने लगा है। इसके अलग-अलग वैरिएंट सामने आ रहे हैं। जिससे चिंता बढनी लाजिमी है।

मांग के बाद भी उपलब्‍ध नहीं हो पा रहा टीका

यदि प्रतिदिन 50 हजार टीके मिले तो सरकारी अस्पतालों के अलावा गांवों में शिविर लगाकर शेष लोगों को जल्द टीका लगाया जा सकता है। इसके लिए मांग निरंतर की जा रही है लेकिन टीका मांग के अनुरूप नहीं मिल पा रहा है। यदि यही स्थिति आगे भी रही तो लाखों लोगों टीका लगाने से वंचित हो जाएंगे। टीका के अभाव में लाखों लोगों की जिंदगी खतरे में पड़ सकती है।

किसी-किसी दिन प्रभावित हो रहा टीकाकरण अभियान

जिला प्रतिरिक्षण अधिकारी डा: एस रहमान का कहना है कि इस समय जिले में वैक्सीन की कमी नहीं है। हालांकि किसी-किसी दिन समस्या आ जाती है, जिसके चलते टीकाकरण प्रभावित होता है। पहले की तुलना में अब लोग टीका के प्रति जागरूक हुए हैं, जिसके चलते समस्या आ रही है। केंद्रों पर भारी भीड़ आ जाने से वैक्सीन कम पड़ जा रही है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.