भारत-नेपाल के सीमावर्ती क्षेत्रों में डंप हो रहा तस्करी का सामान

तस्‍करी के अपराध का प्रतीकात्‍मक फाइल फोटो।
Publish Date:Fri, 23 Oct 2020 05:28 PM (IST) Author: Satish Shukla

गोरखपुर, जेएनएन। नेपाल से तस्करी कर विदेशी मटर, छुहारा, कास्मेटिक सामान,काली मिर्च व नेपाली शराब सीमावर्ती इलाकों सहित नौतनवा कस्बे में डंप किया जा रहा है। जिसको कैरियरों के माध्यम से रातों रात दूरदराज बाजारों व क्षेत्रों में पहुंचाकर तस्‍कर अच्छी खासी कमाई कर रहे हैं, लेकिन इसकी भनक प्रशासन को नहीं है।

कोरोना के चलते हुए लॉकडाउन से 24 मार्च से भारत-नेपाल की सीमा सील है। लेकिन नौतनवा- सोनौली थाना क्षेत्र में तस्कर बाइक से भारत-नेपाल की पकडंडियों से विभिन्न स्थानों में स्थित गोदामों में तस्करी का सामान रखते चले आ रहे हैं। इसके बाद मौका देखकर स्थानीय दुकानों सहित ग्रामीण इलाकों में आसानी से पहुंचाते हैं।

भारत के इन सीमावर्ती गांवों में डंप करते हैं तस्करी का सामान

महराजगंज जनपद के नौतनवा तहसील क्षेत्र में सोनौली, श्यामकाट, रेहरा, भगवानपुर, खनुआ, सुंडी, शेख फरेंदा, केवटलिया, कैथवलिया उर्फ बरगदही, हरदीडाली, मुर्दहिया घाट, आराजी सरकार उर्फ बैरिहवा, कुरवा,चंडीथान, मुडि़ला,तिलहवा, चकरार, असोगवा, कनरी, ङ्क्षझगटी, पिपरा,राजाबारी, पडिय़ाताल, मरजादपुर, शिवतरी, शिवपुरी, बैरिया घाट, संपतिहा आदि गांवों में नेपाल से तस्करी कर सामानों को डंप किया जाता है। महराजगंज जनपद के पुलिस अधीक्षक प्रदीप गुप्‍त का कहना है कि तस्करी पर पूरी तरह से अंकुश लगाया जाए। तस्करी के माल डंप करने वाले स्थानों को चिन्हित कर छापेमारी की कार्रवाई की जाएगी। इसमें जिसकी भी संलिप्तता होगी, उसे बख्शा नहीं जाएगा। 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.