बस्‍ती में कोरोना संक्रमण से छह लोगों की मौत, 182 लोग मिले पाजिटिव

बस्‍ती में कोविड की जांच करता स्वास्थ्यकर्मी। जागरण

बस्‍ती जिले में कोरोना वायरस का कहर बरकरार है। कोरोना के 182 नए मरीज मिले। वहीं 223 लोग कोरोना से स्वस्थ भी हुएजो राहत देने वाली खबर है। 2062 लोगों की रिपोर्ट जारी की गई जिसमें 1880 निगेटिव जबकि 182 लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई है।

Rahul SrivastavaSun, 09 May 2021 04:10 PM (IST)

गोरखपुर, जेएनएन : बस्‍ती जिले में कोरोना वायरस का कहर बरकरार है। कोरोना के 182 नए मरीज मिले। वहीं 223 लोग कोरोना से स्वस्थ भी हुए,जो राहत देने वाली खबर है। 2062 लोगों की रिपोर्ट जारी की गई, जिसमें 1880 निगेटिव जबकि 182 लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई है। इसी के साथ कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 9875 पहुंच गई है। साथ ही कोरोना संक्रमण के चलते छह लोगों की मौत हो गई है। वहीं कोरोना संक्रमितों की रिकवरी दर बढ़ने से लोगों ने राहत की सांस ली है।

8196 लोग हो चुके हैं स्‍वस्‍थ

सीएमओ डा. अनूप कुमार के अनुसार सक्रिय मरीजों की कुल संख्या अब 1480 पहुंच गई है। इसमें 1081 सक्रिय मरीज बस्ती जिले के शामिल हैं। सीएमओ ने बताया कि अब तक 8196 लोग कोरोना से स्वस्थ हो चुके हैं। अभी भी 3845 लोगों की रिपोर्ट प्रतीक्षारत है। बताया कि जो संक्रमित मिले हैं और उनमें लक्षण दिख रहा था, उन्हें ओपेक चिकित्सालय कैली के एल-टू अस्पताल में भर्ती कराया गया है। शेष अन्य मरीजों को आश्रय स्थल डूडा बस्ती में भेजा गया है। कुछ मरीजों की सहमति और चिकित्सकों के परामर्श पर उन्हें होम आइसोलेट में रखा गया है। जो संक्रमित मिले हैं, उसमें कई लोग विभागीय कर्मचारी भी शामिल हैं। इसके अलावा अन्य मरीज शहर के विभिन्न मोहल्ले व विभिन्न ब्लाकों के अलग-अलग गांव के रहने वाले हैं। कोरोना संक्रमण के चलते मरने वालों की संख्या अब बढ़कर 199 हो गई है।

मरने वाले छह लोग बस्‍ती जिले के निवासी

मेडिकल कालेज के सीएमएस डा. जीएम शुक्ल के अनुसार जिन छह लोगों की मौत हुई है, उसमें सभी बस्ती जिले के हैं। ये सभी मेडिकल कालेज के एल-टू अस्पताल में भर्ती थे। सीएमएस ने बताया कि शव को परिजनों को सुपुर्द कर दिया गया है। वहीं सीएमओ ने बताया कि कोरोना जांच के लिए अब तक चार लाख 45 हजार 143 सैंपल लिए जा चुके हैं। इसमें चार लाख 41 हजार 298 की रिपोर्ट प्राप्त हुई है, जिसमें चार लाख 31 हजार 423 निगेटिव मिले हैं। कोरोना जांच के लिए विभिन्न स्वास्थ्य टीमों की ओर से शहर और गांव में 2090 सैंपल लिए गए।

आक्सीजन की कमी दूर करने का प्रयास जारी

जिले में आक्सीजन उत्पादन की कोई इकाई न होने के चलते दूसरे जिलों पर आक्सीजन की निर्भरता बनी हुई है। संतकबीरनगर और गोरखपुर व आंबेडकरनगर जिले के टांडा से आक्सीजन की आपूर्ति हो रही है। 350 बेड वाले ओपेक चिकित्सालय कैली में आक्सीजन यूनिट नहीं है तो यही हाल जिला अस्पताल में है। आक्सीजन की कमी दूर करने का लगातार प्रयास जारी है। ओपेक चिकित्सालय कैली में खपत के अनुसार सिलेंडर की आपूर्ति नहीं हो पा रही है। 250 सिलेंडर भरे हुए है लेकिन खपत के अनुसार कम है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.