top menutop menutop menu

सरयू नदी में बाढ़, देवरिया में खतरे के निशान के पार, गोरखपुर और बस्‍ती में खतरे के करीब Gorakhpur News

गोरखपुर, जेएनएन। सरयू नदी में बाढ़ आ गई है। देवरिया जनपद में सरयू और राप्ती नदी के जलस्तर में वृद्धि जारी है। सरयू नदी खतरे के निशान को पार कर गई है। वहीं गोरखपुर और बस्‍ती जिले में सरयू नदी खतरे के निशान के करीब पहुंच गई है। बाढ़ तैयारियों में लगे अधिकारियों ने विभाग को सतर्क रहने का निर्देश दिया है।

देवरिया जिले में सरयू नदी खतरे के निशान से आठ सेंटीमीटर ऊपर प्रवाहित हो रही। जिससे बाढ़ का खतरा बढ़ गया है। तटवर्ती गांव के लोगों में दहशत है। उधर भदिला प्रथम गांव बाढ़ के पानी से घिर गया है।

बरहज के थानाघाट पर बने गेज के अनुसार बुधवार को सरयू नदी 66.58 मीटर पर प्रवाहित हो रही है। नदी खतरे के निशान 66.50 मीटर से आठ सेंटीमीटर मीटर ऊपर प्रवाहित हो रही है। सरयू नदी के जलस्तर में 18 सेंटीमीटर की वृद्धि हुई है। दो दिनों में जलस्तर में औसतन 20 सेंटीमीटर की वृद्धि हो रही है। इसको लेकर लोगों में बाढ़ का भय है। राजपुर, कटइलवा गांव के सामने नदी उफना गई है। थानाघाट पर सरयू की सीढ़ियां डूब गई हैं। राप्ती नदी का जलस्तर बढ़ रहा है। भदिला प्रथम गांव बाढ़ के पानी से घिर गया है। यहां प्रशासन लोगों के आवागमन के लिए नाव नहीं लगया है। तहसीलदार वंशराज ने बताया कि नदी का जलस्तर बढ़ रहा है। प्रशासन मुस्तैद है। बाढ़ चौकियों की निगरानी तेज हो गयी है।

गोरखपुर में लगातार बढ़ रही सरयू नदी

गोरखपुर में सरयू नदी का बढ़ता जलस्तर दक्षिणांचल के इलाकों में खतरे का सबब बनता जा रहा है। अगले 24 घंटे में सरयू का जल स्तर खतरे के निशान को पार कर जाएगा। इसको लेकर केंद्रीय जल आयोग सिंचाई विभाग ने हाई अलर्ट जारी कर दिया है। इस बीच एसडीएम खजनी सुरेश राय व एसडीएम गोला राजेंद्र बहादुर ने बाढ़ चौकियों का निरीक्षण कर सतर्क रहने का निर्देश दिया है। नदी के जलस्तर में लगातार वृद्धि हो रही है। ऐसे में 24 घंटे में नदी के खतरे के निशान को पार करने की आशंका है। सोमवार को सरयू का जलस्तर 92.02 सेमी था।

केंद्रीय जल आयोग के राप्ती नदी के जल स्तर में 15 सेमी की कमी दर्ज की गई है। रोहिन का पानी भी 21 सेमी कम हुआ है, लेकिन सरयू का जलस्तर बढऩे के कारण राप्ती व रोहिन नदी का जलस्तर भी दो दिनों में बढऩे की उम्मीद है। एसडीएम खजनी ने सिंचाई विभाग के बाढ़ खंड-दो के अधिशासी अभियंता रूपेश खरे के साथ छितहरी थुनी तटबंध के पास गोपालपुर व डुमरैला का निरीक्षण किया। उन्होंने तटबंधों पर आवश्यक सामग्रियों के भंडारण का निर्देश दिया। एडीएम वित्त व प्रभारी आपदा राजेश सिंह ने बताया कि सभी बाढ़ चौकियों को अलर्ट कर दिया गया है। ङ्क्षसचाई, राजस्व विभाग व पुलिस को लगातार तटबंधों पर पेट्रोलिंग के निर्देश दिए गए हैं। कटान स्थलों को चिह्नित कर तटबंधों पर चल रहे कार्यों को पूरा करने को भी कहा गया है।

विधायक ने कटान से बचाव का दिया निर्देश

खजनी के भाजपा विधायक संत प्रसाद ने शाहपुर- खडग़पुर घाघरा तटबंध का निरीक्षण किया। इस दौरान सिंचाई विभाग के अधिकारियों को बाढ़ व कटान से बचाव के लिए निर्देश दिए। विधायक ने बसही, समहुतापुर, बेईली खुर्द, कटया के कटान स्थल पर हो रहे कार्य को देखा। कटया के सामने बंधे पर पीचिंग कार्य पूर्ण नहीं होने पर नाराजगी व्यक्त की। उन्होंने सिंचाई विभाग के एक्सईएन रुपेश खरे व एसडीएम खजनी सुरेश राय को बंधे की सुरक्षा हर हाल में करने के लिए कहा। इस दौरान अनेक लोग उपस्थित थे।

बस्‍ती में अलर्ट

लगातार बारिश के चलते बस्‍ती जिले में सरयू नदी का जल स्तर खतरे के निशान के करीब पहुंच गया है । ऐसे ही बारिश होती रही तो सरयू  शाम  तक लाल निशान पार कर जाएगी। केंद्रीय जल आयोग अयोध्या ने बुधवार की सुबह 10 बजे सरयू नदी का जलस्तर 92. 72 मी रिकॉर्ड दर्ज किया ।  जो कि खतरे के निशान 92.73 से 1सेंटीमीटर नीचे है। जबकि अपस्ट्रीम में एल्गिन ब्रिज पर नदी खतरे के निसान से ऊपर बह रही है और अब भी जलस्तर में लगातार वृद्धि हो रही है। बढ़ते जलस्तर के चलते तटबन्ध विहीन गावं भरथापुर,बाघानाला,कल्याण पुर,पड़ाव,चांदपुर संदलपुर गावों में कटान शुरु हो गयी है।  जिसके चलते उपजाऊ भूमि नदी मे समाने लगी है। खतरे को देखते हुए कल्याणपुर में तहसील प्रसाशन ने कल देर शाम नदी के तट स्थित एक घर को खाली करा दिया है । एडीएम रमेश चंद्र ने  कल्याण पुर का निरीक्षण किया । खतरे को देखते हुए अलर्ट घोषित कर दिया है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.