दिल्ली जाने वाली ट्रेनों में टिकट चेकिंग स्टाफ को लेकर घमासान, अब इस तरह से होगी ट‍िकटों की जांच

गोरखपुर नरकटियागंज सीवान छपरा और वाराणसी रूट की ट्रेनों के डायग्राम को लेकर पिछले माह से ही टिकट चेकिंग स्टाफ और वाराणसी मंडल प्रशासन के बीच रस्साकसी चल रही है। रेलवे ने दिल्ली जाने वाली ट्रेनों में वाराणसी की जगह लखनऊ के स्टाफ के चलने का फरमान जारी क‍िया है।

Pradeep SrivastavaTue, 28 Sep 2021 08:05 AM (IST)
द‍िल्‍ली जाने वाली ट्रेनों में चेक‍िंंग स्‍टाफ को लेकर इस समय एनईआर में घमासान चल रहा है। - प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर

गोरखपुर, जागरण संवाददाता। पूर्वोत्तर रेलवे वाराणसी मंडल के नए ट्रेन लिंक डायग्राम (ट्रेनों में टिकट चेकिंग स्टाफ का कार्य निर्धारण) को लेकर घमासान मचा हुआ है। गोरखपुर, नरकटियागंज, सीवान, छपरा और वाराणसी रूट की ट्रेनों के डायग्राम को लेकर पिछले माह से ही टिकट चेकिंग स्टाफ और वाराणसी मंडल प्रशासन के बीच रस्साकसी चल रही है। पिछले सप्ताह रेलवे प्रशासन ने गोरखपुर से होकर दिल्ली जाने वाली ट्रेनों में वाराणसी की जगह लखनऊ मंडल के स्टाफ के चलने का फरमान जारी कर धरना-प्रदर्शन को हवा दे दी है। इंडियन रेलवे टिकट चेकिंग स्टाफ आर्गनाइजेशन (आइआरटीसीएसओ) ने नए फरमान का विरोध किया है। एनई रेलवे मजदूर यूनियन (नरमू) ने प्रमुख मुख्य वाणिज्य प्रबंधक (पीसीसीएम) को पत्र लिखकर आदेश को यथाशीघ्र वापस लेने की मांग की है।

आइआरटीसीएसओ ने जताया विरोध, नरमू ने पीसीसीएम को पत्र लिखकर दी आंदोलन की चेतावनी

नई व्यवस्था के तहत एक अक्टूबर से 02565-02566 बिहार संपर्क क्रांति तथा 02569-02570 क्लोन एक्सप्रेस में वाराणसी मंडल (गोरखपुर पूर्व) की जगह अब लखनऊ मंडल के टिकट चेकिंग स्टाफ चलेंगे। आइआरटीसीएसओ के जोनल अध्यक्ष शिव शंकर प्रसाद इस व्यवस्था पर आपत्ति जताते हैं। कहते हैं, इस व्यवस्था से मंडल की कमाई प्रभावित होगी। साथ ही इन ट्रेनों में चलने वाले गोरखपुर पूर्व के टीटीई की ड्यूटी भी प्रभावित होगी। नरमू के महामंत्री ने केएल गुप्त कहते हैं कि, रेलवे प्रशासन के नए आदेश से टिकट चेकिंग स्टाफ में रोष है। इन ट्रेनों में गोरखपुर पूर्व के स्टाफ छपरा से ऐशबाग तक चलते हैं, अब उन्हें गोरखपुर में ही उतर जाना पड़ेगा। उन्होंने कहा है कि मान्यता प्राप्त यूनियन से बिना सलाह लिए इस व्यवस्था को लागू किया गया है। आदेश वापस नहीं हुआ तो यूनियन बड़े आंदोलन को बाध्य होगी। पूर्वोत्तर रेलवे कर्मचारी संघ (पीआरकेएस) के महामंत्री विनोद कुमार का कहना है कि रेलवे प्रशासन नए डायग्राम बनाकर टिकट चेकिंग स्टाफ का उत्पीड़न कर रहा है। वहीं रेलवे प्रशासन का कहना है कि नए डायग्राम से स्टाफ को सहूलियत मिलेगी।

14 को अनमैंड चली गोरखपुर-पाटलीपुत्र एक्सप्रेस

गोरखपुर पूर्व के टिकट चेकिंग स्टाफ पिछले माह से ही नए डायग्राम का विरोध कर रहे हैं। उनका आरोप है कि टीटीई को लगातार दो से चार रात तक ड्यूटी करनी पड़ रही। आइआरटीसीएसओ के जोनल अध्यक्ष का कहना है कि टीटीई का अधिक समय मुख्यालय से बाहर ही बीत रहा है। ऐसे में रेस्ट (विश्राम) प्रभावित हो रहा है। नए डायग्राम में खामी के चलते 14 सितंबर को गोरखपुर-पाटलीपुत्र एक्सप्रेस बिना टिकट चेकिंग स्टाफ (अनमैंड) के ही रवाना हो गई। संबंधित टीटीई पर ही दोष मढ़ा जा रहा है। मामला कर्मचारी संगठनों तक पहुंच गया है। जांच भी शुरू हो गई है। रिपोर्ट के बाद ही स्थिति भी स्पष्ट हो जाएगी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.