Indian Railway: अब बदले मार्ग से चलेंगी NER की यह ट्रेनें, यहां देखें पूरा चार्ट

पूर्वोत्‍तर रेलवे की कई ट्रेनों का रूट बदल गया है। - प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर

निर्माण कार्य के चलते विभिन्न तिथियों में पूर्वोत्‍तर रेलवे की दर्जन भर ट्रेनों का संचालन प्रभावित रहेगा। मुख्य जनसंपर्क अधिकारी पंकज कुमार सिंह के अनुसार कुछ ट्रेनें मार्ग बदलकर चलेंगी। कई पूर्वोत्तर रेलवे रूट पर नियंत्रित की जाएंगी।

Pradeep SrivastavaSun, 07 Mar 2021 08:30 AM (IST)

गोरखपुर, जेएनएन। लखनऊ मंडल के डोमिनगढ-जगतबेला और चुरेब-मुंडेरवा रेल मार्ग स्थित क्रासिंग पर अंडर पास का निर्माण हो रहा है। इसके चलते विभिन्न तिथियों में दर्जन भर ट्रेनों का संचालन प्रभावित रहेगा। मुख्य जनसंपर्क अधिकारी पंकज कुमार सिंह के अनुसार कुछ ट्रेनें मार्ग बदलकर चलेंगी। कई पूर्वोत्तर रेलवे रूट पर नियंत्रित की जाएंगी। 

बढऩी के रास्ते चलने वाली ट्रेनें 

नौ मार्च को 09037 बांद्रा टॢमनस- बरौनी गोण्डा-बढऩी- गोरखपुर के रास्ते। 

10 व 17 मार्च को 03020 काठगोदाम-हावड़ा गोण्डा-बढऩी- गोरखपुर के रास्ते। 

10 एवं 17 मार्च को 05118 मथुरा -छपरा गोण्डा-बढऩी-गोरखपुर के रास्ते। 

11 एवं 18 मार्च को 02569 दरभंगा-नई दिल्ली गोरखपुर-बढऩी- गोण्डा के रास्ते। 

11 मार्च को एनईआर में नियंत्रित होने वाली ट्रेनें 

02512 त्रिवेन्द्रम कोचूवेली-गोरखपुर : 50 मिनट

05212 अमृतसर-दरभंगा : 55 मिनट 

02563 सहरसा-नई दिल्ली : 55 मिनट 

05273 रक्सौल-आनन्द विहार टर्मिनल 55 मिनट 

02565 दरभंगा-नई दिल्ली : 15 मिनट 

18 मार्च को एनईआर में नियंत्रित होने वाली ट्रेनें 

02512 त्रिवेन्द्रम कोचूवेली- गोरखपुर 110 मिनट 

05212 अमृतसर- दरभंगा 90 मिनट 

02563 सहरसा- नई दिल्ली 20 मिनट - 02542 लोकमान्य तिलक टर्मिनल-गोरखपुर 50 मिनट

आज दो बजे खुल जाएंगे जनरल टिकट काउंटर

पूर्वोत्तर रेलवे के मुख्यालय गोरखपुर में रविवार से जनरल टिकटों की बिक्री शुरू हो जाएगी। अपराह्न दो बजे से टिकट काउंटर खुल जाएंगे। शुरुआत में मुख्य द्वार पर स्थित टिकट घर के तीन तथा उत्तरी द्वार पर स्थित एक काउंटर खोले जाएंगे। उत्तरी द्वार स्थित काउंटर सिर्फ दिन में ही खोला जाएगा। 

काउंटर से बिक्री के अलावा मोबाइल यूटीएस एप से भी जनरल टिकटों की बुकिंग होगी। यात्री स्टेशन के बाहर एप से तथा अंदर क्यूआर कोड से टिकट बुक कर सकते हैं। टिकट घर के अलावा प्रमुख स्थलों पर क्यूआर कोड चस्पा कर दिए गए हैं। ऐसे में बिना लाइन लगाए ही टिकट बुक हो जाएंगे।

आटोमेटिक टिकट वेंडिंग मशीन (एटीवीएम) और स्टेशन से बाहर प्राइवेट जनरल टिकट बुकिंग सेवक (जेटीबीएस) से टिकटों की बुकिंग पर रोक जारी रहेगी। पैसेंजर ट्रेनों में चलने वाले यात्रियों को एक्सप्रेस का किराया देना होगा। दो से चार गुना तक किराया बढ़ जाएगा। 

नहीं मिलेगी किराए में कोई रियायत 

स्पेशल एक्सप्रेस की तरह पैसेंजर ट्रेनों में भी यात्रियों को कोई रियायत नहीं मिलेगी। वरिष्ठ नागरिकों के किराए में कोई छूट नहीं मिलेगी। उन्हें भी पूरा किराया देना होगा। मासिक सीजन टिकट (एमएसटी) भी अभी नहीं बनेगा। बच्चों के टिकट पहले की भांति ही जारी किए जाएंगे। 

प्लेटफार्म टिकट पर अभी निर्णय नहीं

जनरल काउंटरों से प्लेटफार्म टिकट की बिक्री को लेकर अभी कोई निर्णय नहीं लिया गया है। हालांकि मंथन चल रहा है। यात्रियों की भीड़ को देखने के बाद ही इसपर निर्णय लिया जाएगा। टिकट का दाम भी बढ़ सकता है। स्टेशनों पर भीड़ को नियंत्रित करने के लिए रेलवे बोर्ड ने टिकट का दाम बढ़ाने के लिए दिशा-निर्देश भी जारी कर दिया है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.