गोरखपुर में रेस्टोरेंट कर्मी किशोरी को अगवा कर सामूहिक दुष्कर्म Gorakhpur News

गोरखपुर, जेएनएन। रेस्टोरेंट में काम करने वाली किशोरी को अगवा कर दो सहकर्मियों ने कौवाबाग कॉलोनी में दुष्कर्म किया। एसएसपी के निर्देश पर शाहपुर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर आरोपितों को पकड़ लिया है। पीड़ित जिला अस्पताल में भर्ती है।

किराए के मकान में मां-बाप के साथ रहती है किशोरी

महराजगंज जिले के श्यामदेउरवा क्षेत्र की रहने वाली 15 वर्षीय किशोरी गोरखनाथ इलाके में मां-बाप के साथ किराये पर रहती है। कोतवाली क्षेत्र में स्थित एक रेस्टोरेंट में वह नौकरी कर रही थी। बुधवार देर रात घर छोड़ने के बहाने दो सहकर्मियों ने अपनी स्कूटी पर बैठा लिया। शाहपुर के कौआबाग रेलवे कालोनी में सुनसान स्थान पर ले गए। आरोप है कि जबरन शराब पिलाने के बाद आरोपितों ने उससे दुष्कर्म किया। वारदात के बाद मुंह बंद रखने की धमकी दी और उसे कमरे पर छोड़ने के लिए निकले। लेकिन रास्ते में पुलिस ने उन्हें पकड़ लिया।

पुलिस ने नहीं की मदद

जानकारी मिलने पर पहुंचे रेस्टोरेंट मालिक ने उन्हें छुड़ाया और किशोरी को घर पहुंचाया। पीड़ित ने अगले दिन परिजनों को घटना की जानकारी दी। इसके बाद वे कोतवाली थाने पहुंचे। आरोप है कि पुलिस ने मदद नहीं की। मामला शाहपुर इलाके का बताकर वहां भेज दिया। जब वे शाहपुर पहुंचे तो वहां बाल दिवस का कार्यक्रम चल रहा था। उनको अगले दिन बुलाया गया। शुक्रवार को परिजन एसएसपी से मिले तब जाकर केस दर्ज हुआ। एसपी सिटी डॉ. कौश्तुभ ने बताया कि किशोरी का चिकित्सकीय परीक्षण के लिए भेजा गया है।

तहरीर और बयान में है अंतर

तहरीर में किशोरी से सामूहिक दुष्कर्म होने की बात लिखी गई है। लेकिन पुलिस को दिया गया बयान तहरीर से अलग है। इसकी वजह से पुलिस ने आरोपितों को गिरफ्तार नहीं किया है। मेडिकल रिपोर्ट व कोर्ट में होने वाले बयान का इंतजार किया जा रहा है।

सिपाहियों ने थानेदार व चौकी प्रभारी को बताए बिना छोड़ दिया

कौवाबाग कॉलोनी से निकलने के बाद आरोपित युवक बदहवास हाल में किशोरी को स्कूटी पर बीच में बैठाकर घर छोडऩे ले जा रहे थे। गश्त रहे सिपाहियों ने रास्ते में उन्हें पकड़ लिया। जानकारी होने पर पहुंचे रेस्टोरेंट मालिक ने पुलिसकर्मियों को मैनेज कर तीनों को छुड़ाया और किशोरी को घर पहुंचाया। जिसकी जानकारी थानेदार व चौकी प्रभारी को नहीं हुई।

...तो घटना के दिन ही पकड़े जाते आरोपी

कौवाबाग चौकी के सिपाही रात में कॉलोनी में गश्त कर रहे थे। स्कूटी पर बीच में किशोरी को बैठाकर ले जा रहे युवकों को देख उन्होंने रोक लिया। बदहवास किशोरी को देख मामला उन्हें समझ में आ गया। जिसके बाद तीनों को चौकी पर बैठा लिया। युवकों ने इसकी जानकारी रेस्टोरेंट मालिक को दी। रात में वह चौकी पर पहुंचे। पुलिसकर्मियों से बातचीत कर तीनों को छुड़ाया। जिसकी जानकारी थानेदार व चौकी प्रभारी को भी नहीं हुई। थानाध्यक्ष शाहपुर अरुण पंवार ने बताया कि बुधवार की रात में हुई घटना की जानकारी उनको नहीं है। सीओ गोरखनाथ प्रवीण सिंह ने बताया कि मामले की जांच चल रही है। दोषियों पर कार्रवाई होगी।

1952 से 2019 तक इन राज्यों के विधानसभा चुनाव की हर जानकारी के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.