मुंबई से पूर्वांचल आने वाले कामगारों की राह आसान करेगा रेलवे, पांच स्‍पेशल ट्रेनों को हरी झंडी

रेलवे बोर्ड ने पूर्वांचल के विभिन्‍न शहरों के लिए पांच स्‍पेशल ट्रेनों को मंजूरी दी है। - प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर

रेलवे बोर्ड ने मुंबई से गोरखपुर के अलावा पूर्वोत्तर रेलवे के विभिन्न स्टेशनों के लिए और पांच जोड़ी स्पेशल एक्सप्रेस ट्रेनें चलाने की हरी झंडी दे दी है। इन ट्रेनों में वातानुकूलित द्वितीय व तृतीय श्रेणी का 01 शयनयान श्रेणी के 17 साधारण द्वितीय श्रेणी के 04 कोच लगाए जाएंगे।

Pradeep SrivastavaTue, 20 Apr 2021 11:19 PM (IST)

गोरखपुर, जेएनएन। कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बीच महाराष्ट्र से पूर्वांचल आने वाले यात्रियों की भीड़ को देखते हुए रेलवे बोर्ड ने मुंबई से गोरखपुर के अलावा पूर्वोत्तर रेलवे के विभिन्न स्टेशनों के लिए और पांच जोड़ी स्पेशल एक्सप्रेस ट्रेन को चलाने की हरी झंडी दे दी है। बांद्रा टर्मिनस से गोरखपुर के लिए एक जोड़ी स्पेशल ट्रेन चलेगी। 09073 नंबर की ट्रेन 21 अप्रैल को शाम 7.25 बजे से रवाना होकर कानपुर के रास्ते तीसरे दिन सुबह 06.05 बजे गोरखपुर पहुंचेगी। 09074 नंबर की ट्रेन 23 अप्रैल को गोरखपुर से शाम 04.10 बजे रवाना होगी।

इस ट्रेन में वातानुकूलित द्वितीय सह तृतीय श्रेणी का 01, शयनयान श्रेणी के 17, साधारण द्वितीय श्रेणी के 04 कोच लगाए जाएंगे। इसके अलावा कुछ एक ट्रेन मुंबई से रक्सौल तथा एक ट्रेन अमृतसर से कटिहार के बीच भी चलाई जाएगी। गोरखपुर के रास्ते विभिन्न स्टेशनों के लिए चलाई जाएंगी। मुख्य जनसंपर्क अधिकारी पंकज कुमार सिंह के अनुसार सिर्फ आरक्षित कोच लगेंगे। कंफर्म टिकट पर ही यात्रा की अनुमति होगी। कोविड-19 प्रोटोकाल का पालन अनिवार्य होगा।

गोरखपुर के रास्ते चलने वाली ट्रेनें

01321 एलटीटी-रक्सौल 21 अप्रैल को रात 09.15 बजे रवाना होकर गोरखपुर के रास्ते तीसरे दिन रात 11.45 बजे रक्सौल पहुंचेगी।

05734 अमृतसर-कटिहार त्रैसाप्ताहिक स्पेशल 03 मई से प्रत्येक गुरुवार, शनिवार एवं सोमवार को

अगली सूचना तक सुबह 08.25 बजे रवाना होगी। यह ट्रेन अंबालाा कैंट, दिल्ली जंक्शन, कानपुर सेंट्रल, लखनऊ, गोरखपुर होते हुए दूसरे दिन रात 10.10 बजे कटिहार पहुंचेगी।

ट्रेनों में बढ़ा संक्रमण का खतरा, वेटिंग वाले भी कर रहे यात्रा

कोरोना के तेजी के साथ बढ़ते संक्रमण व कल- कारखाने बंद होने के चलते मुंबई और दिल्ली से पूर्वांचल और बिहार के प्रवासियों का पलायन और तेज हो गया है। कामगार घर जाने के लिए परेशान हैं। लेकिन उन्हें कंफर्म टिकट नहीं मिल रहा है। बुकिंग शुरू होते ही स्पेशल ट्रेनें फुल हो जा रही हैं। ऐसे में लोग वेटिंग टिकट लेकर जान जोखिम में डालकर यात्रा कर रहे हैं।

मुंबई से आने वाली ट्रेनों की शयनयान श्रेणी में 200 तथा दिल्ली से आने वाली ट्रेनों में 300 से ऊपर वेटिंग चल रहा है। यह सभी यात्री वेटिंग टिकट पर ही कोचों में सवार हो जा रहे। न स्टेशन पर कोई रोकने वाला है और न ट्रेन में पूछने वाला। ऐसे में संक्रमण का खतरा और बढ़ता जा रहा है। जबकि, रेलवे बोर्ड ने सभी श्रेणियों में सिर्फ कंफर्म टिकट पर ही ट्रेनों में यात्रा की अनुमति दी है। लेकिन दिल्ली और मुंबई से आने वाली ट्रेनों में रेलवे के नियम तार-तार हो रहे हैं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.