मुख्यमंत्री हेल्पलाइन पर तेजी से होगा समस्याओं का निपटारा

गोरखपुर: जनता की समस्याओं का तेजी से निस्तारण करने के लिए सरकार मुख्यमंत्री हेल्पलाइन की एक

JagranSun, 17 Dec 2017 01:33 AM (IST)
मुख्यमंत्री हेल्पलाइन पर तेजी से होगा समस्याओं का निपटारा

गोरखपुर: जनता की समस्याओं का तेजी से निस्तारण करने के लिए सरकार मुख्यमंत्री हेल्पलाइन की एक नई व्यवस्था जल्द ही शुरू करने जा रही है। इसके तहत टोल फ्री नंबर 1076 पर दर्ज शिकायतों का निपटारा संबंधित अधिकारी 15 दिन के भीतर करेंगे। यह हेल्प लाइन आइजीआरएस पोर्टल से जुड़ी होगी। नई हेल्प लाइन नंबर को जनवरी 2018 में शुरू कर दिया जाएगा। शासन स्तर पर इसका प्रशिक्षण शुरू हो चुका है।

----

फोन कर दर्ज करा सकेंगे शिकायत

जिलाधिकारी राजीव रौतेला ने अधिकारियों को नई व्यवस्था को लेकर तैयारी करने का निर्देश दिया है। अपर जिलाधिकारी प्रशासन प्रभुनाथ ने बताया कि मुख्यमंत्री हेल्पलाइन में कोई भी व्यक्ति अपनी समस्या या शिकायत टोल फ्री नंबर 1076 पर फोन से दर्ज कराएगा। काल सेंटर के आपरेटर द्वारा इस शिकायतकर्ता के नंबर एवं समस्या को सीधे संबंधित अधिकारी को निस्तारण के लिए एसएमएस किया जाएगा। संबंधित अधिकारी को 15 दिन के अंदर इसे निस्तारित करना होगा।

-----

37 विभाग के मंडल, जिला एवं ब्लाक अधिकारियों को भेजी जाएगी शिकायत

- मुख्यमंत्री हेल्पलाइन पर प्राप्त होने वाली शिकायत या समस्या को जिले के 37 विभाग के मंडल, जिला एवं ब्लाक स्तरीय अधिकारी को निस्तारण के लिए भेजा जाएगा। वर्तमान में आईजीआरएस पोर्टल से सीधे जिलाधिकारी पोर्टल पर शिकायतें आती हैं। इसे कुछ जिला स्तरीय अधिकारियों को उनके पोर्टल पर आनलाइन भेजा जाता है, फिर वहां से संबंधित विभाग या अधिकारी को शिकायत भेजी जाती है। इस प्रक्रिया में समय अधिक लग जाता है और शिकायत निस्तारण के लिए कम समय मिलता है।

एडीएम प्रशासन ने बताया कि मुख्यमंत्री हेल्पलाइन की शिकायत लेवल एक के अधिकारी को सीधे भेजी जाएगी। इसमें बीडीओ, तहसीलदार, सहायक विकास अधिकारी, बीइओ, सीडीपीओ, प्रभारी चिकित्साधिकारी (सीएचसी/पीएचसी), थानाध्यक्ष, अधिशासी अधिकारी नगर पंचायत/ नगर पालिका को रखा गया है। यदि लेवल एक पर समस्या का निस्तारण नहीं हो पाता है तो उसे विभाग के जिला स्तरीय अधिकारी को निस्तारण के लिए भेजा जाएगा। उन्हें एक सप्ताह में इसका निस्तारण कराना होगा। यदि वे भी इसका निस्तारण नहीं कर पाते हैं तो विभाग के मंडलीय अधिकारी को निस्तारण के लिए भेजा जाएगा। मंडलीय अधिकारी को तीन दिन में इसका निस्तारण करना होगा।

----

अधिकारियों को दिया जाएगा प्रशिक्षण

अपर जिलाधिकारी प्रशासन ने बताया कि लेवल एक के सभी अधिकारियों को नया लॉग इन व पासवर्ड दिया जाएगा। उन्हें इसे संचालित करने का शीघ्र ही प्रशिक्षण दिया जाएगा। निस्तारित शिकायतों के निस्तारण की गुणवत्ता का शत-प्रतिशत सत्यापन भी कराना होगा। उन्होंने लेवल एक के नए जुड़ने वाले अधिकारी का नाम, पदनाम, मोबाइल नंबर तीन दिन में उपलब्ध कराने का विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिया है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.